• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • From Today Classes Will Be Held In Colleges With 50% Students, Second And Third Year Students Will Start Studies

कॉलेजों का पहला दिन फीका:RDU में स्टाफ नदारत, तो महाकोशल कॉलेज में छात्र ही नहीं पहुंचे, 6.30 घंटे तय है टाइमिंग

जबलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कॉलेजों में पहला दिन रहा फीका। - Dainik Bhaskar
कॉलेजों में पहला दिन रहा फीका।

छह महीने बाद रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय (RDU) सहित कॉलेज आज 15 सितंबर को खुले, लेकिन उपस्थिति नाम मात्र की रही। आरडीयू में स्टाफ ही नहीं पहुंचा। विवि में छात्र कल्याण अधिष्ठाता से लेकर सहायक कुलसचिव के चेम्बर खाली रहे। महाकोशल कॉलेज में भी गिना-चुना स्टाफ पहुंचा लेकिन छात्र नहीं पहुंचे।

रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के साइंस विभाग में सिर्फ 4 पहुंचे थे। जबकि 36 ने प्रवेश लिया है। इसके अलावा आरडीयू के किसी भी डिपार्टमेंट में छात्र नहीं पहुंचे। आरडीयू में कुलसचिव के सिवाय कोई मौजूद नहीं था। कुलपति बाहर थे, छात्र अधिष्ठाता और सहायक कुलसचिव के ऑफिस आने की कोई जानकारी नहीं थी। कुलसचिव ब्रजेश सिंह ने बताया कि कोरोना गाइड लाइन के तहत कॉलेज और विवि में ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों कक्षाएं संचालित की जा रही हैं।

नवयुग कॉलेज में सैनिटाइज और थर्मल स्क्रीनिंग बाद मिला प्रवेश।
नवयुग कॉलेज में सैनिटाइज और थर्मल स्क्रीनिंग बाद मिला प्रवेश।

आरडीयू सहित कॉलेजों में इस तरह पहुंचे छात्र

  • क्लास सुबह 10.30 से शाम 5 बजे तक लगेंगे
  • छात्र पैरेंटस से अनुमति पत्र लेकर पहुंचे। मोबाइल में अपलोड वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र देखकर प्रवेश मिला।
  • महाकोशल के प्राचार्य कक्ष में ताला नजर आया।
  • नवयुग कॉलेज में बीकाम तृतीय वर्ष के 6 छात्र पहुंचे थे।
  • नवयुग कॉलेज में छात्रों को थर्मल स्क्रीन से जांच के बाद प्रवेश मिला।
  • रादुविवि में थर्मल स्क्रीन मशीन और सैनिटाइजर नजर नहीं आया।
  • आरडीयू से संबंद्ध कटनी-मंडला और डिंडोरी में कुल 161 कॉलेज है जिसमें 1 लाख छात्र अध्यनरत है।
  • जबलपुर जिले में 80 कॉलेजों में 55 हजार छात्र हैं।
आरडीयू में साइंस विभाग में छात्राएं पहुंची।
आरडीयू में साइंस विभाग में छात्राएं पहुंची।

उच्च शिक्षा विभाग की ओर से ये निर्देश जारी

  • कॉलेज/छात्रावास में विद्यार्थियों और स्थानीय स्टाफ को छोड़कर बाहरी लोगों का को प्रवेश नहीं मिलेगा।
  • विद्यार्थियों को घोषणा पत्र और माता-पिता या अभिभावकों की लिखित सहमति के आधार पर ही विद्यार्थियों को कॉलेज/छात्रावास में प्रवेश मिलेगा।
  • कॉलेज/छात्रावास परिसर में प्रवेश से पहले सोशल डिस्टेंसिंग सैनिटाइजेशन और सभी विद्यार्थियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी।
  • शैक्षणिक और गैर शैक्षणिक स्टाफ की शत-प्रतिशत उपस्थिति होगी।
  • विद्यार्थियों को कोविड-19 वैक्सीन के पहले डोज का प्रमाण पत्र जमा करना अनिवार्य होगा। इसके बाद ही कक्षाओं में बैठने की मंजूरी मिलेगी।
  • कॉलेज की लाइब्रेरी भी खोली जाएगी। कुल क्षमता के 50% ही छात्र वहां मौजूद रह सकेंगे।
  • रादुविवि और कॉलेज छात्रावास चरणबद्ध तरीके से खुलेंगे। पहले पीजी फाइनल और यूजी फाइनल के छात्रों के लिए छात्रावास खुलेंगे।
  • छात्रावास की डाइनिंग हॉल, रसोई, स्नानागार, शौचालय की स्वच्छता की सतत निगरानी होगी।

खबरें और भी हैं...