पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Furniture Showroom, Diagnostic Center, Closed Talkies, Travel And Vehicle Accessories Such Terror That Even The Traffic Police Failed, Public Commotion

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

व्यापारी सिविक सेंस भूले:फर्नीचर शोरूम, डायग्नोस्टिक सेंटर, बंद टॉकीज, ट्रैवल एवं वाहन एसेसरीज वालों का ऐसा आतंक कि ट्रैफिक पुलिस भी हो रही नाकाम, जनता हलाकान

जबलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कमाई के चक्कर में व्यापारी सिविक सेंस को भूले - Dainik Bhaskar
कमाई के चक्कर में व्यापारी सिविक सेंस को भूले
  • पूरे सिविक सेंटर क्षेत्र के ट्रैफिक का हो चुका कबाड़ा
  • सड़क के बीच डिवाइडर बनाना जरूरी, कमाई के चक्कर में व्यापारी सिविक सेंस को भूले

सिविक सेंटर के ट्रैफिक का पूरी तरह कबाड़ा हो चुका है। यहाँ से चार पहिया तो छोड़ो दो पहिया निकालने में भी राहगीरों का सिर चकरा जाता है। प्रशासन ने यहाँ मौजूद मल्टीलेवल पार्किंग के आसपास के 500 मीटर के दायरे को नो पार्किंग जोन घोषित किया है, उसके बावजूद सड़कों पर फर्नीचर शो रूम, डायग्नोस्टिक सेंटर, गोदाम, ट्रैवल एजेंसी, वाहन एसेसरीज वालों ने कब्जा जमा रखा है, उनके यहाँ आने वालों के वाहन सुबह से लेकर रात तक मार्ग के यातायात को बाधित करते हैं, इधर ट्रैफिक पुलिस खुद के बचाव के लिए रोजाना सिविक सेंटर में कार्रवाई का दावा करती है जिसका कोई असर यहाँ दूर-दूर तक नजर नहीं आता है।

बेशर्मी की सारी हदें पार कर चुका खंडेलवाल फर्नीचर

यहाँ जहांगीराबाद के सामने मार्ग की शुरूआत से ही सड़क का माहौल खराब करने वाले और पूरी तरह बेशर्मी की सारी हदें पार कर चुके खंडेलवाल फर्नीचर की यदि बात करें तो कॉर्नर वाली दुकान का फायदा उठाते हुए संचालक ने तीन पत्ती और सिविक सेंटर जाने वाली दोनों तरफ दुकान के बाहर की सड़क के कुछ हिस्से पर फर्नीचर सजा रखे हैं।

यहाँ प्लास्टिक की कुर्सियाँ, टेबल, सोफे आदि रखे रहते हैं। सड़क के बाकी के हिस्से में खरीददारों के वाहन, माल की लोडिंग के लिए खड़े ऑटो दिखाई देते हैं, जिससे बेजा जाम के हालात सड़क पर बनते हैं। यहाँ ट्रैफिक पुलिस भी सख्ती बरतने से डरती है।

समाधान- फर्नीचर वाले को नगर निगम खुला समर्थन देना बंद करे और सड़क पर बाहर तक फैले-पसरे फर्नीचर को अपने कब्जे में ले। ट्रैफिक पुलिस वाहन जब्त करे। इससे सारी मनमानियाँ खत्म हो जाएँगी।

हाईटेक सीटी स्कैन सेंटर के बाहर 24 घंटे खड़ी रहती हैं एम्बुलेंस और मरीजों के परिजनों के वाहन

यहाँ मार्ग से थोड़ा आगे बढ़ने पर हाईटेक सीटी स्कैन सेंटर है, जिसके बाहर की सड़क पर वाहनों का फँसना तय माना जाता है। वजह सेंटर के सामने वाली लेयर पर सबसे पहले कर्मचारियों के वाहन खड़े रहते हैं, फिर 24 घंटे सड़क का अधिकांश हिस्सा कब्जाकर एक एम्बुलेंस खड़ी रहती है, फिर मरीजों के वाहन। इस तरह यहाँ सेंटर के सामने का ट्रैफिक पूरी तरह से चरमराया हुआ है। वैसे भी यह चार मार्गों का टर्निंग प्वाॅइंट है, जहाँ सड़क पर जगह न मिलने के कारण वाहनों की रोजाना आपस में टक्कर व लड़ाई-झगड़ा होना आम हो चला है।

समाधान- किसी भी सीटी स्कैन सेंटर को वहाँ होना चाहिए, जहाँ पार्किंग के समुचित इंतजाम हों, एम्बुलेंस को बाहर निकलने पर्याप्त सर्विस रोड मिले। मरीजों के वाहन आसानी से खड़े हो सकें। मतलब सेंटर को क्षेत्र से बाहर करने की आवश्यकता है।

कोरियर सर्विस के बाहर बसों का कब्जा

यहीं प्रभु-वंदना मार्केट में बाहर की एक दुकान में लालू कोरियर सर्विस है। यहाँ 6 बजे के बाद और कभी-कभी दिन में भी कुछ बसें नजर आती हैं। जो कोरियर कैरी करने का काम करती हैं। अब विचारणीय प्रश्न यह है कि जब शहर के भीतर बसों का प्रवेश प्रतिबंधित है तो यहाँ बीचों-बीच खड़ी बस ट्रैफिक पुलिस के आला अधिकारियों को नजर क्यों नहीं आती है।

समाधान- क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय को यहाँ आने वाली बसों के परमिट कैंसल करने चाहिए। बसें जब्त करनी चाहिए।

बंद प्रभु-वंदना टॉकीज में गोदाम ज्वलनशील पदार्थों की भरमार

कभी सिविक सेंटर की शान कहलाने वाली अब बंद हो चुकी प्रभु-वंदना टॉकीज, गोदाम में तब्दील हो गई है। जहाँ कॉस्मेटिक सामग्रियाँ जैसे की नेलपॉलिश रिमूवर, परफ्यूम, कोरोना में सबसे अधिक डिमांड वाले सेनिटाइजर आदि की यहाँ भरमार है। ये सारे ज्वलनशील पदार्थ एक चिंगारी से पूरे सिविक सेंटर क्षेत्र को खाक करने की क्षमता रखते हैं। यदि किसी दिन कोई बड़ी दुर्घटना घटी तो फायर ब्रिगेड का वाहन भी गोदाम के भीतर प्रवेश नहीं कर पाएगा।

समाधान- शासन के निर्देश हैं कि गाेदामें शहर के भीतर नहीं होनी चाहिए, इसलिए जिला प्रशासन को सख्ती के साथ इस तरह की गोदामों को बंद करने की कार्रवाई करनी चाहिए।

बीच सड़क तक वाहनों में लगाई जा रही एसेसरीज

सिविक सेंटर के जाम में तड़का लगाने का काम यहाँ मौजूद वाहन एसेसरीज वाले भी कर रहे हैं। जो बीच सड़क लोगों के वाहन खड़े करा उसमें नंबर प्लेट, काँच में फिल्म, वैरायटी साउंड वाले हॉर्न व अन्य सामग्रियाँ फिट करते हैं। यहाँ आने वाले सड़क के आधे हिस्से पर कब्जा किए रहते हैं। सूत्र बताते हैं कि इन्हें ट्रैफिक कर्मचारियों का खुला समर्थन प्राप्त है।

इस तरह की कार्य योजना से मिलेगी राहत

  • जिस तरह बड़ी ओमती से घंटाघर मार्ग पर लगने डिवाइडर बनाकर जाम को कंट्रोल किया गया है, ठीक उसी तरह यहाँ भी खंडेलवाल फर्नीचर से हाईटेक सेंटर के आगे टर्निंग प्वाॅइंट तक व आगे दवा बाजार से सिविक सेंटर चाैपाटी के सामने तक डिवाइडर बना देना चाहिए।
  • ट्रैफिक पुलिस को चाहिए कि वो व्यापारियों से डरना छोड़कर रोजाना मार्ग पर खड़े वाहनों को क्रेन से उठाने की कार्रवाई करे।
  • नगर निगम सिर्फ जूते-चप्पल वालों के सामान जब्त करती है, उसने कभी भी खंडेलवाल फर्नीचर का सामान उठाने या फिर जाम लगाने वाले डायग्नोस्टिक सेंटर पर जुर्माना नहीं किया।
  • जिला प्रशासन को सख्ती के साथ ट्रैफिक पुलिस व आरटीओ काे निर्देशित कर मार्ग को जाम मुक्त करने प्रयास करना चाहिए।

जाम से जूझ रहे सिविक सेंटर में रोजाना वाहन उठाने की कार्रवाई की जा रही है। आगे भी पूरी प्लानिंग के तहत मार्ग को जाम मुक्त करने रणनीति बनाई जा रही है।

-बीपी सलोकी, डीएसपी ट्रैफिक

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें