• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Ware House Fire Due To Short circuit In Jabalpur, 17 Tanks Of Water Were Used To Extinguish The Fire

वेयरहाउस में आग से लाखों का सामान स्वाहा:जबलपुर में शार्ट-सर्किट से वेयर हाउस में लगी आग, 17 टैंक पानी लगा आग बुझाने में

जबलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वेयर हाउस में शार्ट-सर्किट से लगी आग, लाखों का नुकसान। - Dainik Bhaskar
वेयर हाउस में शार्ट-सर्किट से लगी आग, लाखों का नुकसान।

जबलपुर में पाटन रोड पर जैन वेयरहाउस में मंगलवार सुबह शार्ट-सर्किट से भीषण आग लग गई। हादसे में वेयर हाउस में रखा लाखों रुपए का सामान राख हाे गया। वेयर हाउस से उठते धुएं के गुबार देख आसपास के लोग सहम गए। फायर ब्रिगेड को 17 टैंकर पानी की मदद से चार घंटे इस आग को बुझाने में लगा।

माढ़ोताल पुलिस के मुताबिक करमेता स्थित पानी टंकी के पास स्थित पराग जैन के वेयर हाउस को पुणे की इलास्टिक रन कंपनी ने किराए पर लिया है। वेयरहाउस में कंपनी किराने से संबंधी खाद्य सामग्री का स्टोर करती है। सोमवार रात नौ बजे वेयर हाउस के कर्मचारी लॉक कर निकले थे। मंगलवार 07 दिसंबर की सुबह वेयर हाउस में आग लग गई। लोगों को इसकी जानकारी वेयर हाउस से निकल रहे धुएं से हुई। पड़ोसियों की सूचना पर वेयर हाउस किराए पर लेने वाली कंपनी के अधिकारी-कर्मचारी और फायर ब्रिगेड की टीम पहुंची।

17 टैंकर पानी की मदद से बुझाई जा सकी आग।
17 टैंकर पानी की मदद से बुझाई जा सकी आग।

चार घंटे लगे आग बुझाने में

वेयर हाउस में आग पूरी तरह से फैल चुकी थी। नगर निगम के फायर ब्रिगेड को आग बुझाने में चार घंटे लगे। एक-एक कर 17 टैंकर पानी बुलाने पड़े। हादसे के चलते मौके पर बड़ी संख्या में तमाशबीनों की भीड़ जमा हो गई थी। पुलिस को कई बार भीड़ को खदेड़ना पड़ा। सुबह 11 बजे आग पूरी तरह से बुझाई जा सकी। हादसे में वेयर हाउस में रखा लगभग 50 लाख से अधिक की सामग्री के नुकसान का दावा किया जा रहा है।

आग बुझाते नगर निगम के फायर ब्रिगेड के कर्मी।
आग बुझाते नगर निगम के फायर ब्रिगेड के कर्मी।

किराना दुकानाें में यहां से सेल होती थी सामग्री

वेयर हाउस के कार्यरत गार्ड देवराज ने बताया कि इलास्टिक रन कंपनी पुणे की है। जिसके एरिया सेल्स मैनेजर अतुल पाल और प्रदेश मैनेजर विनय सक्सेना को सूचना दी गई है। गार्ड के मुताबिक वेयरहाउस से माल लोड होकर किराना दुकानों में सेल किया जाता है। यहां शक्कर, तेल, घी, पॉपक्रोन, आटा आदि लाखों रुपए कीमत के स्टोर किए जाते हैं। अग्निहादसे में सबकुछ जलकर राख हो गया। हादसे के पीछे शार्ट-सर्किट वजह बताई जा रही है।

हादसे में चॉकलेट व बिस्किट के पैकेट खाक हो गए।
हादसे में चॉकलेट व बिस्किट के पैकेट खाक हो गए।