पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • In Jabalpur, It Rained Heavily Amidst Strong Winds Late At Night, 20.8 Mm Of Rain Recorded In 24 Hours

प्री-मानसून में हुई झमाझम बारिश:जबलपुर में देर रात तेज हवाओं के बीच जमकर बरसे बदरा, 24 घंटे में 20.8 मिमी बारिश रिकॉर्ड

जबलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्री मानसून में जबलपुर में पिछले 24 घंटे में झमाझम बारिश हुई। पिछले तीन दिनों से बादल छाए हुए हैं। गुरुवार को सुबह 11 बजे बादल छाने से शाम होने जैसा अहसास हो रहा था। बुधवार रात में 34 किमी प्रति घंटे दक्षिण-पूर्व हवाएं चलीं। इस दौरान तेज आवाज के बीच आकाशीय बिजली कड़कती रही। मौसम विभाग के मुताबिक जबलपुर में पिछले 24 घंटे में 20.8 मिमी बारिश हुई।

जबलपुर में मंगलवार की दोपहर बाद से बारिश शुरू हुई है। पिछले तीन दिन से बादल छाए हुए हैं। बुधवार रात से गुरुवार सुबह 8 बजे तक बारिश होती रही। बारिश से पहले तेज हवाओं के बीच आसमान में बिजली कड़कती रही। मौसम विभाग के मुताबिक, दक्षिण-पश्चिम मानसून महाराष्ट्र और दक्षिणी गुजरात के कई स्थानों तक आ पहुंचा है। इसके अगले दो-तीन दिनों में महाराष्ट्र, गुजरात, छत्तीसगढ़ के साथ मध्य प्रदेश के भी कुछ हिस्सों में प्रभावशाली होने का अनुमान है।

9 जून की रात बारिश से पहले तेज हवाओं के साथ बिजली कड़कती रही।
9 जून की रात बारिश से पहले तेज हवाओं के साथ बिजली कड़कती रही।

12 जून तक होगी बारिश

मौसम कार्यालय जबलपुर में प्रभारी अधिकारी जान जैकब के मुताबिक वर्तमान में पूर्व मध्य और उत्तरी अरब सागर क्षेत्र में चक्रवातीय परिसंचरण सक्रिय है। पूर्वोत्तर बंगाल की खाड़ी में भी यह सक्रिय है। इसके प्रभाव से 11 जून को उत्तरी बंगाल की खाड़ी में निम्न दाब क्षेत्र (लो प्रेशर) विकसित होने की संभावना बनी हुई है। इसकी वजह से 12 जून तक जबलपुर सहित मध्य प्रदेश में बारिश की संभावना बनी रहेगी।

शहडोल, मंडला, डिंडौरी में सबसे अधिक बारिश

पूर्वी मध्य प्रदेश के 16 जिलों में पिछले 10 दिनों में सबसे अधिक बारिश 81 मिमी शहडोल में हुई है। इसके बाद मंडला में 69, डिंडौरी में 66, उमरिया में 62 तो अनूपपुर में 56 मिमी हुई है। सबसे कम बारिश प्रदेश की ऊर्जा राजधानी कहे जाने वाली सिंगरौली में एक मिमी हुई है। जबलपुर में 48, कटनी में 39, नरसिंहपुर में 28, सिवनी में 40, बालाघाट में 32, छिंदवाड़ा में 51, रीवा में 21, सीधी में 14, सतना में 21, पन्ना में 29 मिमी बारिश हुई है।

सामान्य से ज्यादा बारिश की संभावना

जबलपुर में इस बार मानसून मेहरबान रहेगा। यहां सामान्य से अधिक बारिश होने की संभावना जताई जा रही है। मौसम विभाग के प्रभारी अधिकारी जैकब के मुताबिक प्रदेश में इस बार जून में ही 15% से ज्यादा बारिश हो सकती है। इसे प्री-ऑनसेट मानसून कह सकते हैं। 18 जून के आसपास मानसून सक्रिय हो सकता है।

लगातार देरी से आ रहा था मानसून

मौसम विभाग के अनुसार 2008 से लेकर पिछले साल 2020 तक मानसून सिर्फ दो बार समय पर आया, जबकि शेष वर्षों में यह 20 जून के बाद ही सक्रिय हुआ। 2012, 13 और 14 में यह जुलाई में आया। 2008 और 2020 को छोड़ दिया जाए, तो सिर्फ 2010 में ही 20 जून से पहले 17 जून को मध्यप्रदेश में प्रवेश किया था। मध्यप्रदेश में 15 जून के आसपास मानसून का प्रवेश होता रहा है।

खबरें और भी हैं...