पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गोहलपुर पुलिस ने दो आरोपियों को दबोचा:अस्पताल कर्मी 25-25 हजार में बेच रहे थे रेमडेसिविर इंजेक्शन, 5 मोबाइल, दो बाइक जब्त की

जबलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गोहलपुर थाना क्षेत्र में चंडालभाटा स्थित न्यू लाइफ अस्पताल के कर्मचारियांे द्वारा रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी की जा रही थी। सूचना मिलने पर पुलिस टीम ने घेराबंदी कर अस्पताल के मैनेजर शहनवाज खान व कंपाउंडर विवेक सिंह के कब्जे से दो इंजेक्शन बरामद किए हैं। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वे 25-25 हजार रुपये में इंजेक्शन का सौदा कर रहे थे। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके पास से 5 मोबाइल व दो बाइकें जब्त की हैं।

इस संबंध मंे सीएसपी अखिलेश गौर ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि चंडालभाटा अस्पताल के कर्मचारी रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी कर रहे हैं। सूचना की तस्दीक करते हुए छापामारी कर न्यू लाइफ अस्पताल के मैनेजर शहनवाज खान उम्र 30 वर्ष निवासी पनागर व कंपाउंडर विवेक सिंह चौधरी उम्र 27 वर्ष निवासी सीएमएस कंपाउंड को पकड़कर उनसे पूछताछ करते हुए उनके कब्जे से दो इंजेक्शन बरामद किए।

दोनों आरोपी मिलकर रेमडेसिविर इंजेक्शन को महँगे दामों पर बेचने की फिराक में थे। आरोपियों से इंजेक्शन बरामद होने पर गोहलपुर थाने में धारा 188, 269, 270 एवं 53,57आपदा प्रबंधन अधिनियम एवं 3-7 आवश्यक वस्तु अधिनियम व ड्रग कंट्रोल एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

स्वास्तिक अस्पताल करता था काम

गोहलपुर टीआई आर के गौतम ने बताया कि जाँच में पता चला कि पकड़ा गया मैनेजर शहनवाज खान पूर्व में माढ़ोताल क्षेत्र स्थित स्वास्तिक अस्पताल में काम करता था और विगत 15 अप्रैल को पुलिस ने स्वास्तिक अस्पताल में मेल नर्स रामलखन पटेल, उसके साथी एमआर विवेक असाठी व अतुल शर्मा को भी रेमडेसिविर की कालाबाजारी करते हुए पकड़ा था। इस बात की जानकारी लगने पर पुलिस द्वारा जाँच का दायरा बढ़ाते हुए उक्त प्रकरण की डायरी मँगाई गयी है वहीं शहनवाज के पास जब्त किए गये मोबाइल की डिटेल खँगाली जा रही है।

रेमडेसिविर की कालाबाजारी के मामले में पकड़े गये आरोपियों की कुंडली खँगाली जा रही है। दोनों आरोपियों के खिलाफ एनएसए की कार्रवाई करने के लिए प्रतिवेदन तैयार करने निर्देशित किया गया है।
सिद्धार्थ बहुगुणा, एसपी

खबरें और भी हैं...