• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Extra Marital Affair Murder Case; Wife Killed By Husband Over Love With Her Brother in law In Jabalpur

छोटे भाई से इश्क पर पत्नी की हत्या:जबलपुर में जहर देकर 5 दिन कैद रखा, सांसें टूटने लगीं तो अस्पताल ले गया

जबलपुर4 महीने पहले

देवर पर रेप की FIR के बाद भाभी ने सुसाइड नहीं किया था, उसे मारा गया था। पुलिस जांच में पता चला है कि पति ने उसकी हत्या की। जहर देने के बाद 5 दिन तक वह उसके मरने का इंतजार करता रहा। 6वें दिन जब हालत ज्यादा बिगड़ गई तो अस्पताल लेकर पहुंच गया। 3 दिन तक चले इलाज के बाद महिला की मौत हो गई। पुलिस जांच में यह भी पता चला है कि पति ने पत्नी को छोटे भाई के साथ गलत हालत में देख लिया था। पुलिस ने जब महिला के मायके वालों से पूछताछ की तो देवर-भाभी के अफेयर की बात सामने आई। इसके पूरे मामले का खुलासा हुआ। पुलिस ने आरोपी का साथ देने पर उसके पिता को भी आरोपी बनाया है।पूरा मामला जानने के लिए यहां क्लिक करें

मामला बेलबाग थाना इलाके के भानतलैया चौधरी मोहल्ले का है। 28 साल की महिला को 18 मई को प्राइवेट हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था। महिला ने बयान में कहा था देवर ने उसके साथ रेप किया। इसके बाद पुलिस ने आरोपी देवर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। 20 मई की सुबह महिला की मौत हो गई।

पुलिस जांच में कहानी कुछ और निकली
बेलबाग टीआई प्रियंका केवट के मुताबिक पुलिस जांच में पता चला कि कुछ रोज पहले महिला की ननद की सगाई थी। सगाई वाले दिन वह घर लौटी, उसी दिन पति ने उसे देवर के साथ गलत हालत में देख लिया था। देवर को रेप केस में जेल भिजवाने के बाद भी पति को पत्नी की बातों पर एतबार नहीं था। वह उस पर शक करने लगा।

बेलबाग टीआई ने मामले की तह तक जाकर पड़ताल की।
बेलबाग टीआई ने मामले की तह तक जाकर पड़ताल की।

पिता के साथ रची पत्नी की हत्या की साजिश
आरोपी ने पिता के साथ मिलकर पत्नी की हत्या की साजिश रची। दोनों उसके साथ मारपीट करने लगे। 13 मई को आरोपी, पत्नी को घुमाने बरगी डैम ले गया। वहां गन्ने के जूस में जहर मिलाकर पिला दिया। 5 दिन तक पत्नी को बंद कमरे में रखा। इलाज नहीं कराया। जब यह सुनिश्चित कर लिया कि अब पत्नी नहीं बचेगी तो अस्पताल लेकर पहुंच गया।

पुलिस को बताया- मानसिक तनाव में थी
बाप-बेटे ने घटना को सुसाइड साबित करने का पूरा प्रयास किया। पुलिस को कहा कि छोटे भाई के रेप करने से वह मानसिक तनाव में आ गई थी। शर्मिंदगी में उसने जहर खाकर जान दे दी। पिता-पुत्र की इस साजिश से परदा पीड़िता के पेरेंट्स ने उठाया। परिवार के करीबी लोगों ने भी देवर-भाभी के अफेयर की बात बताई। पुलिस ने इस एंगल से जांच की तो सबकुछ साफ हो गया।