• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • 1.18 Lakh Children Have To Be Vaccinated, Notice Issued To 29 School Principals For Getting Less Number Of Children

जबलपुर में दो दिन में 65% बच्चों का वैक्सीनेशन:1.18 लाख बच्चों को लगनी है वैक्सीन, बच्चों की संख्या कम मिलने पर 29 स्कूल प्राचार्यों को जारी हुआ नोटिस

जबलपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जबलपुर में दो दिन में बच्चों ने 65 प्रतिशत वैक्सीन लगवाई। - Dainik Bhaskar
जबलपुर में दो दिन में बच्चों ने 65 प्रतिशत वैक्सीन लगवाई।

कोविड की तीसरी लहर के खतरे के बीच जबलपुर में 15 से 18 वर्ष के बच्चों ने गजब का उत्साह दिखाया है। अभिभावकों ने भी बच्चों को वैक्सीन लगवाने में आगे आए। दो दिन में जिले में 76 हजार से अधिक बच्चों को वैक्सीन लग चुकी है। जिले में 1 लाख 18 हजार बच्चों को वैक्सीन लगनी है। इधर, कलेक्टर ने 29 स्कूल प्राचार्यों को नोटिस जारी किया है। इन स्कूलों में नाममात्र के बच्चे ही वैक्सीनेशन के लिए पहुंचे थे।

जिले में तीन जनवरी को बच्चों का वैक्सीनेशन अभियान शुरू हुआ। पहले दिन 31 हजार 86 बच्चों ने वैक्सीन लगवाई। इसमें जबलपुर में सबसे अधिक 11 हजार से अधिक वैक्सीनेशन हुआ। चार जनवरी को नियमित टीकाकरण की वजह से बच्चों का वैक्सीनेशन नहीं हुआ। पांच जनवरी को जिले में 308 सेशन आयोजित किया गया था। शाम तक 45 हजार 367 बच्चों को वैक्सीन लगी। ये कुल टार्गेट का 65% है।

शहर में बच्चों में वैक्सीनेशन का गजब का उत्साह दिख रहा है।
शहर में बच्चों में वैक्सीनेशन का गजब का उत्साह दिख रहा है।
जिले में दो दिन इस तरह बच्चों का वैक्सीनेशन हुआ
ब्लॉक3 जनवरी5 जनवरीकुल वैक्सीनेशन
शहपुरा297627275703
मझौली410930647173
पनागर199728244821
कुंडम197128334804
पाटन315521525307
सिहोरा270238466548
बरगी/बरेला270427805484
जबलपुर114722514136613

इधर, 29 स्कूलों के प्राचार्यों को नोटिस जारी किया

टीकाकरण अभियान में अभिभावकों को जागरुक नहीं कर पाने के चलते कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के निर्देश पर स्कूल शिक्षा विभाग ने 29 स्कूल प्राचार्यों को नोटिस जारी किया है। 15 से 18 वर्ष के बच्चों का वैक्सीनेशन के लिए स्कूलों को ही सेंटर बनाया गया है। एक सप्ताह पहले ही इसकी तैयारी शुरू कर दी गई थी। सभी स्कूल प्राचार्यों को अभिभावकों के साथ मीटिंग कर बच्चों को वैक्सीनेशन के लिए बुलाने की तैयारी करनी थी। पर इन स्कूलों में 50 प्रतिशत भी बच्चें नहीं पहुंचे।

सबसे खराब वैक्सीनेशन वाले स्कूल

  • हाईस्कूल बेलखाड़ू में 687 बच्चों में 22 ही पहुंचे।
  • हायर सेकेंडरी चरगवां में 538 बच्चों में 74 ही पहुंचे।
  • हायर सेकेंडरी भीटा में 345 बच्चों में 95 ही पहुंचे।
  • उत्कृष्ठ कुंडम कॉलेज में 480 बच्चों में 3 ही पहुंचे।
  • हाईस्कूल बरमान में 221 बच्चों में 13 ही पहुंचे।
  • हायर सेकेंडरी कुबरहट में 287 बच्चों में 96 ही पहुंचे।
  • हायर सेकेंडरी झिरिया में 243 बच्चाें में 48 ही पहुंचे।

इन स्कूल प्राचार्यों को जारी हुआ नोटिस

शास. हाई स्कूल घंसौर बरगी, हाईस्कूल पिंडरई, हाईस्कूल कालादेही, हाईस्कूल मोहास, बाॅयज सुकरी, डगडगा हिनौता, हाईस्कूल पिपरिया, उत्कृष्ट कॉलेज कुंडम, शास. सेकेंडरी स्कूल झिरिया, जमगांव, उमावि इमलईराजा, उमावि बढ़ियाखेड़ा, हाईस्कूल धनवाही, तिलसानी, पड़वार, सहजनी, कुंडा, बेलखाडू, सकरा, उमावि चरगवां, भीटाफुलर, हाईस्कूल मनकेड़ी, बरमान नयानगर, सुंदरादेही, हाईस्कूल नीची, हाईस्कूल कोहला और मगरमुंहा।

जबलपुुर में 160 सेंटर्स पर लग रही वैक्सीन।
जबलपुुर में 160 सेंटर्स पर लग रही वैक्सीन।

160 सेंटर्स पर वैक्सीनेशन

गुरुवार को जिले में 160 सेंटर्स पर वैक्सीनेशन हो रहा है। 25 हजार डोज लगाने का लक्ष्य है। 60 सेंटर्स शहर में और 100 सेंटर्स ग्रामीण क्षेत्रों में बनाए गए हैं। जिला वैक्सीनेशन अधिकारी एसएस दाहिया के मुताबिक वैक्सीन की कम मात्रा के चलते सेंटर्स की संख्या घटानी पड़ी। बुधवार को वैक्सीन आनी थी, लेकिन फ्लाइट कैंसिल होने की वजह से नहीं आ पाई। आज 1 लाख 54 हजार को-वैक्सीन की डोज मिलने की उम्मीद है।