सूदखोर पर प्रशासन की सख्ती शुरू:जबलपुर में सूदखोर ने शासकीय जमीन पर कब्जा कर बना लिया था होटल, कर दिया गया जमींदोज

जबलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सूदखोर का शासकीय जमीन में निर्मित होटल तोड़ा गया। - Dainik Bhaskar
सूदखोर का शासकीय जमीन में निर्मित होटल तोड़ा गया।

जबलपुर जिले में सूदखोरों के आंतक को कुचलने की शुरूआत पुलिस-प्रशासन ने कर दी है। मंगलवार 14 दिसंबर को पनागर में सूदखोर द्वारा शासकीय भूमि पर कब्जा कर बनाया गया होटल जमींदोज कर दिया गया। वहीं बेलबाग में एक सूदखोर के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई।

पनागर पुलिस के अनुसार बस स्टैंड में सूदखोर पप्पू राय 25 लाख रुपए कीमती शासकीय जमीन पर कब्जा कर 10 लाख रुपए की लागत से होटल बना लिया था। आरोपी सहित आठ लोगों के खिलाफ बीते 02 दिसंबर को पनागर निवासी मनोज कुमार रहेजा ने सूदखोरी का प्रकरण दर्ज कराया था। तब से पप्पू राय फरार चल रहा है। उसकी तलाश में कई जगह दबिश दी जा चुकी है।

150 वर्गफीट जमीन पर कब्जा कर बना लिया था होटल

पनागर टीआई आरके सोनी के मुताबिक आरोपी पप्पू राय ने बस स्टैंड पनागर में 150 वर्गफीट शासकीय जमीन पर कब्जा कर 10 लाख रुपए लागत से होटल का निर्माण कर लिया था। इसकी जानकारी होने पर कलेक्टर कर्मवीर शर्मा और एसपी सिद्धार्थ बहुुगुणा के निर्देश पर मंगलवार 14 दिसंबर को नगर पालिका पनागर के सहयोग से तोड़ने की कार्रवाई हुई।

भारी पुलिस बल रही तैनात

विवाद होने की आशंका को देखते हुए कार्रवाई के दौरान एसडीएम जबलपुर पीके सेनगुप्ता, तहसीलदार नीता कोरी, नायब तहसीलदार सारिका रावत, थाना प्रभारी पनागर आर.के. सोनी, सीएमओ पनागर शैलेन्द्र कुमार ओझा सहित नगर पालिका पनागर की टीम मौजूद थी।

उधर, बेलबाग में सूदखोर पर एफआईआर

बेलबाग थाने में मंगलवार को पंचमुखी हनुमान मंदिर के पास रहने वाली शशि पाठक ने शिकायत दर्ज कराई कि सात महीने पहले पति मनोज पाठक ने छोटी ओमती निवासी आदिल रज्जा से दो लाख रुपए उधार लिए थे। हर माह वह 30 हजार रुपए वापस करता रहा। अब तक 2.10 लाख रुपए वापस कर चुके हैं। पर आदिल रज्जा 5 प्रतिशत ब्याज मांग कर परेशान कर रहा है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है।