पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • In The Interrogation Of SIT, Mokha's Son Told The Names Of Two Youths, Till Date The Secret Has Not Been Revealed

नकली रेमडेसिविर मामला:एसआईटी की पूछताछ में मोखा के बेटे ने बताए दो युवकों के नाम, आज तक नहीं खुला राज

जबलपुर18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • महँगे दाम पर ब्लैक में भी बेचे गए थे इंजेक्शन

नकली रेमडेसिविर मामले में आरोपी बनाए गए सिटी अस्पताल के संचालक मोखा व उसके बेटे के बयानोें में कई खुलासे हुए हैं। उसमें हरकरण द्वारा अपने किसी साथी को 20 हजार में 4 इंजेक्शन बेचने की बात सामने आई है। एसआईटी की पूछताछ में इस बात का खुलासा हुआ है कि हरकरण से इंजेक्शन लेने के बाद उसके साथी ने 4 इंजेक्शन महँगे दाम पर बेच दिए थे। इन बयानों की वास्तविकता का पता लगाने पुलिस हरकरण के दोस्तों बॉबी मनचंदा व संजू खत्री से जल्द पूछताछ किए जाने की बात कह रह रही है। हालांकि नाम सामने आने के बाद उनसे अब तक पूछताछ नहीं हो पाना भी कई सवाल खड़े कर रहा है। इधर, मोखा की रिमांड अवधि पूरी होने पर आज सोमवार को उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा।

सूत्रों के अनुसार नकली रेमडेसिविर मामले की जाँच के दौरान सिटी अस्पताल के कोटे में मिले असली रेमडेसिविर को भी बेचने की बात सामने आई है। जाँच टीम से जुड़े सूत्रों की मानें तो मोखा व हरकरण से एक साथ हुई पूछताछ में इस बात का खुलासा हुआ था कि जब रेमडेसिविर के इंजेक्शनों के लिए शहर में मारा-मारी जैसी स्थिति थी, उस समय बॉबी व संजू ने हरकरण से चार इंजेक्शन लेकर उन्हें महँगे दामों पर बेचा। इस बयान को जाँच में लिया गया है और मोखा के बाद अब एसआईटी हरकरण के दोस्तों का नंबर लगाने वाली है और जाँच में जो दो नाम सामने आये हैं उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है।

पूरी हुई मोखा की रिमांड अवधि, नहीं मिला मोबाइल; एसआईटी ने पूछताछ के लिए सरबजीत सिंह मोखा को पहले तीन और दो दिन की रिमांड पर लिया गया था। साेमवार को इसकी अवधि पूरी हो रही है। आज उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा। हालांकि मोखा का मोबाइल फोन अभी तक बरामद नहीं हो सका है। सूत्रों का कहना है कि मामले के कई राज मोखा के मोबाइल में दफन हैं। उसने कहाँ-कहाँ व किससे बात की और नकली इंजेक्शन किस तरह बुलवाए इसकी जानकारी उसके मोबाइल की कॉल डिटेल व मैसेज बॉक्स से मिल सकती है, लेकिन यह मोबाइल ही अब तक पुलिस के हाथ नहीं लग पाया है। पुलिस का कहना है कि वह प्रयास कर रही है।

जाँच के लिए भेजे गए अन्य के सेल फोन; इस मामले में मोखा की पत्नी जसमीत, मैनेजर सोनिया, बेटे हरकरण, अस्पताल कर्मी देवेश चौरसिया, राकेश शर्मा, इंदौर के प्रखर कोहली व हरकरण के दोस्त दिव्यांक आदि के आधा दर्जन से अधिक मोबाइल जब्त किए गये हैं। इन मोबाइलों को जाँच के लिए स्टेट साइबर सेल भोपाल को जाँच के लिए भेजा गया है। साइबर सेल द्वारा जब्त किए गये मोबाइलांे के डाटा को रिकवर किया रहा है।

ट्रैवल्स संचालक से पूछताछ; सूत्रों के अनुसार नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की खेप इंदौर से जबलपुर पहुँचाने वाले अम्बे ट्रैवल्स के संचालक विजय छजनानी से भी एसआईटी ने पूछताछ की। पूछताछ में संचालक द्वारा कहा गया कि उनकी एजेंसी में जो पैकेट दिया गया था उसे जबलपुर पहुँचाना था उस पैकेट को उन्होंने जबलपुर भेज दिया था। उसमें क्या था इसकी जानकारी उन्हेें नहीं थी।

विधायक ने लिखा ईओडब्ल्यू को पत्र

नकली रेमडेसिविर मामले के आरोपी सरबजीत मोखा की जाँच के लिए नरसिंहपुर विधायक जालम सिंह पटैल ने ईओडब्ल्यू को एक पत्र लिखा है। इस पत्र में मोखा की सम्पत्ति की जाँच करने व उसके धंधों में अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े साझेदारों की सम्पत्ति को सिटी अस्पताल सहित अन्य जगहों पर निवेश किए जाने का आरोप लगाते हुए जाँच की माँग की है।

खबरें और भी हैं...