पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • 3500 Rupees Were Demanded In Lieu Of Offering Father's Land In The Name Of Son, Red Handed Team Caught

जबलपुर लोकायुक्त ने पटवारी को दबोचा:पिता की जमीन बेटे के नाम पर चढ़ाने के एवज में मांगे थे 3500 रुपए, रंगेहाथों टीम ने दबोचा

नरसिंहपुर/जबलपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लोकायुक्त टीम के बीच में टोपी पहने आरोपी पटवारी विकास वेदी। - Dainik Bhaskar
लोकायुक्त टीम के बीच में टोपी पहने आरोपी पटवारी विकास वेदी।

जबलपुर लोकायुक्त ने नरसिंहपुर में एक पटवारी को 3500 रुपए रिश्वत लेते रंगेहाथों बुधवार 14 जुलाई को दबोचा। पटवारी ने ये रकम पिता की जमीन बेटे के नाम पर चढ़ाने के एवज में लिए थे। दो दिन पहले पीड़ित ने लोकायुक्त में इसकी शिकायत की थी। बातचीत ट्रैपिंग के बाद टीम ने आरोपी का रंगेहाथों दबोचने का प्लान तैयार किया था।

लोकायुक्त डीएसपी जेपी वर्मा के मुताबिक नरसिंहपुर जिले के ग्राम खापा निवासी राजेश मोदी (41) ने हल्का पटवारी नंबर 30 बेलखेड़ा तहसील विकास वेदी के खिलाफ रिश्वत मांगने की शिकायत की थी। राजेश मोदी के पिता का निधन हो चुका है। पिता के नाम की जमीन बेटे के नाम पर चढ़ाने के एवज में पटवारी ने पांच हजार रुपए की डिमांड की थी। बाद में 3500 रुपए में सौदा तय हुआ था।

टीम ने गांधी चौक में बिछाया रंगेहाथों दबोचने का प्लान

एसपी लोकायुक्त अनिल विश्वकर्मा के निर्देश पर डीएसपी जेपी वर्मा की अगुवाई में टीआई कमल सिंह उईके, रंजीत सिंह व नरेश बेहरा सहित आरक्षक अमित मंडल, पंकज तिवारी व राकेश विश्वकर्मा की टीम ने पटवारी को रंगेहाथों दबोचने का प्लान तैयार किया। पटवारी विकास वेदी ने राजेश मोदी को रिश्वत की रकम के साथ बुधवार 14 जुलाई को गांधी चौक नरसिंहपुर में बुलाया था। जैसे ही राजेश मोदी ने पटवारी विकास वेदी को पैसे दिए, टीम ने उसे दबोच लिए।

लोकायुक्त ने राजेश मोदी को दिए थे रसायन वाले सात नोट

लोकायुक्त टीम ने पीड़ित राजेश मोदी को 500-500 रुपए के सात नोट विशेष रसायन वाले दिए थे। उक्त पैसे लेकर पटवारी ने जेब में रख लिए। टीम ने पटवारी का पैंट भी जब्त कर लिया। उसके हाथ धुलवाए तो पानी का कलर लाल हो गया। उसके भी सैंपल पुलिस ने जब्त किए। वहीं पहले से नोट किए गए सीरियल नंबर वाले ही नोट पटवारी के पास से जब्त किए। पटवारी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम का प्रकरण दर्ज कर लोकायुक्त ने मौके पर ही जमानत दे दी।

खबरें और भी हैं...