• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Jabalpur Women's Police Station Arrested From Bus Stand, Reward Of Five Thousand Rupees, Anticipatory Bail Was Also Rejected By Supreme Court

ABVP का रेपिस्ट पूर्व पदाधिकारी गिरफ्तार:टीआई का दावा- जबलपुर पुलिस ने बस स्टैंड से दबोचा, हकीकत- वकीलों की फौज के साथ महिला थाने पहुंचकर किया सरेंडर

जबलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रेपिस्ट शुभांग गोटिया ठसक के साथ थाने में समर्पण करने पहुंचा। गिरफ्तारी पर था 5 हजार का इनाम। - Dainik Bhaskar
रेपिस्ट शुभांग गोटिया ठसक के साथ थाने में समर्पण करने पहुंचा। गिरफ्तारी पर था 5 हजार का इनाम।

छात्रा की मांग में सिंदूर भरकर 3 साल तक शोषण करने वाले अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के पूर्व महानगर मंत्री शुभांग गोटिया को पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। वह तीन महीने से फरार था। उस पर 5 हजार रुपए का इनाम भी घोषित था। दावा है कि शुभांग को तीन पत्ती स्थित पुरानी बस स्टैंड के पास से महिला थाना पुलिस ने दबोच लिया, जबकि हकीकत ये है कि उसने वकीलों की फौज के साथ महिला थाने पहुंच कर सरेंडर किया है। आरोपी की अग्रिम जमानत याचिका सुप्रीम कोर्ट तक से खारिज हो चुकी थी।

महिला थाना प्रभारी शबाना परवेज का दावा है कि उन्होंने आरोपी को बस स्टैंड के पास से गिरफ्तार किया है। आरोपी ने पूछताछ में स्वीकार किया कि उसने जबलपुर सहित नागपुर में फरारी काटी है। महिला थाना पुलिस उसे कोर्ट में पेश कर पूछताछ के लिए रिमांड पर ले सकती है।

वकीलों के साथ खुद ही शुभांग गोटिया पहुंचा महिला थाने।
वकीलों के साथ खुद ही शुभांग गोटिया पहुंचा महिला थाने।

पुलिस के दावे से उलट, कहानी ये कि वह खुद ही थाने पहुंचा

टीआई के दावे से उलट सच्चाई ये है कि शुभांग गोटिया आठ-10 वकीलों को लेकर महिला थाने पहुंचा था। उसने खुद ही सरेंडर किया। इसके बाद महिला थाना प्रभारी ने उसे गिरफ्तार किया। अब वकीलों की निगरानी में उसका मुलाहिजा और कोर्ट पेशी का दबाव बनाया जा रहा है। थाने की पूरी कार्रवाई के दौरान वकीलों की मौजूदगी बनी रही।

शुभांग गोटियां जबलपुर व नागपुर में छुपा रहा।
शुभांग गोटियां जबलपुर व नागपुर में छुपा रहा।

21 मई को दर्ज हुआ था मामला

महिला थाने में 21 जून को पिता के साथ पहुंची जबलपुर निवासी 23 वर्षीय छात्रा ने शुभांग के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कराया था। 2018 में कैंट स्थित कॉलेज में पढ़ाई के दौरान उसकी मुलाकात एबीवीपी की मेंबरशिप के दौरान आरोपी से हुई थी। राइट टाउन निवासी शुभांग गोटिया (25) उस समय अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का महानगर मंत्री था।

छात्रा की मांग में सिंदूर भरकर करता रहा शोषण

उसने छात्र को प्यार के झांसे में फंसाया और फिर एक दिन उसकी मांग में सिंदूर भरते हुए बोला कि अब वे पति-पत्नी हैं। इसके बाद तीन साल तक उसका शारीरिक शोषण करता रहा। इसी साल जनवरी में वह शादी से मुकर गया, बोला- वो तो शादी का ढोंग किया था। युवती की शिकायत पर दर्ज रेप के प्रकरण के बाद से ही आरोपी फरार चल रहा था। उसकी गिरफ्तारी पर 5 हजार रुपए का इनाम घोषित हुआ था। उसकी अग्रिम जमानत सुप्रीम कोर्ट तक से खारिज हो चुकी थी।

शुभांग गोटिया को SC से भी लगा झटका:प्रधान न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली तीन जजों की बेंच में लगा था मामला, अग्रिम जमानत की अर्जी खारिज

खबरें और भी हैं...