पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रिपोर्ट में देरी:कोरोना की जाँच के बाद रिपोर्ट का लंबा इंतजार, मैसेज न मिलने पर भटक रहे लोग

जबलपुर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • असुविधा - पूरे शहर के लिए विक्टोरिया ही एक मात्र जगह जहाँ कोविड रिपोर्ट मिलती है, लेकिन वहाँ भी मौके पर नहीं मिलते जिम्मेदार, कंट्रोल-रूम से फोन आने में भी लग जाते हैं 4-5 दिन।

कोरोना के लक्षण आने पर कोई व्यक्ति अगर सैंपल देकर आ भी जाए तो रिपोर्ट आने में 4 से 5 दिनों का वक्त लग रहा है। उस पर भी रिपोर्ट की जानकारी मैसेज के माध्यम से दी जाती है अथवा कंट्रोल-रूम से फोन करके बताया जाता है। गौर करने वाली बात यह है कि सैंपल पॉजिटिव होने की ही जानकारी दी जाती है, निगेटिव होने पर किसी तरह मैसेज या फोन नहीं किया जाता।

ऐसे मंे जाँच कराने वाला व्यक्ति कई दिनों तक इसी कन्फ्यूजन मंे रहता है कि रिपोर्ट पॉजिटिव है या निगेटिव। सबसे ज्यादा समस्या ऐसे लोगों के सामने आती है कि जो किसी संस्थान में कार्य कर रहे हैं और ज्वाइन करने के लिए उन्हें निगेटिव रिपोर्ट दिखानी होती है।

कोरोना की रिपोर्ट प्राप्त करने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिला अस्पताल मंे एक काउंटर इसके लिए बनाया तो गया है, लेकिन वहाँ भी लोगांे को असुविधा का सामना करना पड़ता है। लोगांे का कहना है कि रिपोर्ट की जानकारी के लिए इस तरह के और काउंटर्स बनाने चाहिए।

इसलिए जाँच रिपोर्ट आने में लगता है वक्त

जबलपुर जिले में कोरोना मरीजों की सैंपल्स की जाँच आईसीएमआर, मेडिकल कॉलेज की वायरोलॉजी लैब और पुणे की एक लैब में हो रही है, जो सैंपल पुणे भेजे जा रहे हैं, उनकी रिपोर्ट आने में लंबा वक्त लग जाता है। सूत्रों के अनुसार मेडिकल कॉलेज की वायराेलॉजी लैब में संभाग के विभिन्न जिलों से सैंपल्स आते हैं। लैब की कैपेसिटी 1200 से 1300 सैंपल्स प्रतिदिन जाँच की है।

विक्टोरिया में 51 नंबर कमरे से मिलती है रिपोर्ट

जिला अस्पताल में कोरोना जाँच की रिपोर्ट 51 नंबर कमरे से प्राप्त की जा सकती है, लेकिन रिपोर्ट लेने पहुँचे कई लोगों का कहना है कि काउंटर दिन में सीमित समय ही खुला रहता है, जिसके चलते भीड़ भी बनी रहती है। ऐसे में इस तरह के और भी काउंटर होने चाहिए।

कहाँ होने चाहिए सुधार

  • सैंपलिंग के बाद जल्द से जल्द रिपोर्ट मिले, ताकि संक्रमित होने पर इलाज जल्द शुरू हो।
  • जाँच रिपोर्ट आते ही व्यक्ति काे जल्द से जल्द फोन किया जाए, अगर संक्रमित है और नहीं भी है तब भी।
  • जाँच रिपोर्ट की हार्ड कॉपी प्राप्त करने के लिए कुछ नए काउंटर्स भी बनाए जाएँ।

सुधार के लिए निर्देशित करेंगे

विक्टोरिया हॉस्पिटल के 51 नंबर कमरे से कोरोना की जाँच रिपोर्ट प्राप्त की जा सकती है। अगर वहाँ रिपोर्ट देने में लापरवाही हो रही है तो सुधार के लिए सिविल सर्जन को निर्देशित किया जाएगा।
डॉ. संजय मिश्रा, प्रभारी सीएमएचओ

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

    और पढ़ें