• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Complaint Filed By Hindu Seva Parishad At Omti Police Station, Accused Of Hurting Religious Sentiments

‘तांडव‘ के मेकर्स पर जबलपुर में FIR:हिंदू सेवा परिषद ने डायरेक्टर अली अब्बास समेत अन्य कलाकारों के खिलाफ कराई रिपोर्ट दर्ज

जबलपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ओमती थाने में हिन्दू सेवा परिषद के नगर अध्यक्ष और कार्यकर्ताओं ने वेब सीरीज तांडव के मेकर्स के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई - Dainik Bhaskar
ओमती थाने में हिन्दू सेवा परिषद के नगर अध्यक्ष और कार्यकर्ताओं ने वेब सीरीज तांडव के मेकर्स के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई
  • हिन्दू सेवा परिषद की ओर से डायरेक्टर, राइटर, कलाकारों को बनाया गया है आरोपी
  • वेबसीरीज में निम्नस्तर के भाषा का प्रयोग, पहले एपिसोड के 17वें मिनट का दृश्य आपत्तिजनक

वेब सीरीज "ताडंव' में हिन्दू धर्म के अपमान को लेकर देश भर में चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच मंगलवार को जबलपुर में FIR दर्ज कराई गई। हिन्दू सेवा परिषद की ओर से वेब सीरीज मेकर्स के खिलाफ शिकायत में धार्मिक भावनाएं आहत करने का आरोप लगाया गया है। वेब सीरीज के पहले एपिसोड के 17वें मिनट के दृष्य पर घोर आपत्ति दर्ज कराई गई है। ओमती पुलिस ने इस मामले में "ताडंव' वेब सीरीज के मेकर्स और कलाकारों के खिलाफ धारा 153ए, 295 ए, 505 (2) भादवि का प्रकरण दर्ज किया है। इससे पहले यूपी की लखनऊ के हजरतगंज थाने में भी तांडव वेबसीरीज के मेकर्स के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो चुकी है।

ओमती थाने में हिन्दू सेवा परिषद की ओर से तांडव को लेकर इस तरह की शिकायत दर्ज कराई गई है
ओमती थाने में हिन्दू सेवा परिषद की ओर से तांडव को लेकर इस तरह की शिकायत दर्ज कराई गई है

हिन्दू सेवा परिषद के महानगर अध्यक्ष ने दर्ज कराई FIR
जानकारी के अनुसार हिन्दू सेवा परिषद के महानगर अध्यक्ष धीरज ज्ञानचंदानी और कार्यकर्ताओं ने सोमवार को ओमती थाने में एक ओटीटी प्लेटफार्म पर प्रदर्शित वेब सीरीज "ताडंव' के कई दृश्यों, संवाद पर आपत्ति दर्ज कराते हुए FIR दर्ज करने को लेकर शिकायत दी थी। इस मामले को पुलिस ने जांच में लिया था। मंगलवार को ओमती थाने में इस प्रकरण में "ताडंव' वेब सीरीज के डायरेक्टर अली अब्बास, राइटर गौरव सोलंकी, कलाकारों के खिलाफ FIR दर्ज की गई।

ओमती थाने में तांडव वेब सीरीज के मेकर्स के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है, दर्ज धाराओं में तीन वर्ष की सजा और जुर्माने का प्रावधान है
ओमती थाने में तांडव वेब सीरीज के मेकर्स के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है, दर्ज धाराओं में तीन वर्ष की सजा और जुर्माने का प्रावधान है

इन धाराओं में दर्ज हुई FIR

  • 153 ए-तीन वर्ष कारावास और जुर्माना। दो वर्गों में विद्वेष फैलाना। राष्ट्रीय एकता पर प्रतिकूल प्रभाव और दो वर्गों के बीच नफरत फैलाना।
  • 295 ए-तीन साल की सजा और जुर्माना। किसी वर्ग के धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाला कृत्य।
  • 505 (2)-तीन साल की सजा। विभिन्न वर्गों में घृणा उत्पन्न करने वाला कृत्य करना।
एफआईआर में तांडव के मेकर्स के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज कराई गई है
एफआईआर में तांडव के मेकर्स के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज कराई गई है

आपत्तिजनक कपड़ों में हिन्दू देवताओं को दिखाया गया
FIR दर्ज कराने वाले धीरज ज्ञानचंदानी के मुताबिक सीरीज के पहले एपिसोड में 17वें मिनट में पात्रों को अनुचित तरीके से कपड़े पहने और हिन्दू देवी-देवताओं का प्रतिनिधित्व करते हुए दिखाया गया है। उनकी भाषा का स्तर काफी निम्न है। इस तरह का कृत्य जहां लोगों की धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाली है। वहीं दो वर्गों में नफरत फैलाते हुए देश की एकता-अखंडता को खंडित करने वाला कृत्य है। शिकायत करने वालों में परिषद के प्रदेश अध्यक्ष अतुल जेसवानी, सौरभ जैन, गौरव साहू, पारस पहलवान सहित अन्य लोग शामिल थे।

एमपी के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ताडंव मेकर्स के खिलाफ मंगलवार दोपहर में एफआईआर दर्ज कराने की बात कही थी, जबलपुर में शाम को दर्ज हो गई
एमपी के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ताडंव मेकर्स के खिलाफ मंगलवार दोपहर में एफआईआर दर्ज कराने की बात कही थी, जबलपुर में शाम को दर्ज हो गई

गृहमंत्री ने FIR दर्ज कराने की कही थी बात
प्रदेश सरकार के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मंगलवार को ही दोपहर में कहा था कि, ‘OTT पर जारी तांडव में जिस प्रकार से हिंदू धर्म की भावनाओं के साथ खिलवाड़ करने की कोशिश की गई है। हम इसकी निंदा करते हैं। उन्होंने प्रदेश में FIR दर्ज कराने की बात कही थी। इससे पहले सोमवार को शिवराज सरकार में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने भी केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को पत्र लिखकर तांडव वेब सीरीज को बेन करने की मांग कर चुके हैं। एमपी से पहले यूपी में तांडव वेब सीरीज के निर्माताओं के खिलाफ केस दर्ज किया जा चुका है।