जमीन के फर्जीवाड़े में मास्टरी:एक ही प्लाट को कई लोगों को बेचा, दो लोगों से 34 लाख रुपए ठग चुका है आरोपी

जबलपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी राजेंद्र तिवारी को माढ़ोताल पुलिस ने दबोचा। - Dainik Bhaskar
आरोपी राजेंद्र तिवारी को माढ़ोताल पुलिस ने दबोचा।

जबलपुर में एक आरोपी को जमीन फर्जीवाड़े में मास्टरी हासिल है। आरोपी ने एक ही प्लाट कई लोगों को बेच डाले। आरोपी ने दो लोगों से 34 लाख रुपए ऐंठ चुका है। यहीं नहीं आरोपी ने ऐसे प्लाट का भी अनुबंध कर डाला, जो हकीकत में है ही नहीं। माढ़ोताल पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

माढ़ोताल टीआई रीना पांडे के मुताबिक बिलपुरा कॉलोनी वीएफजे रांझी निवासी रंजीत चौधरी ने कृपाल चौक निवासी राजेंद्र तिवारी के खिलाफ जमीन फर्जीवाड़ा का मामला दर्ज कराया था। रंजीत ने शिकायत में बताया था कि राजेंद्र तिवारी ने उससे एक मुख्तयारनामा दिखाया। ये मुख्तयारनाता उसके साथ प्रयागराज यूपी निवासी सुरेश चंद्र टंडन ने 6 दिसंबर 2019 में किया था।

माढ़ोताल में पीड़ित ने दर्ज कराई थी धोखाधड़ी का मामला।
माढ़ोताल में पीड़ित ने दर्ज कराई थी धोखाधड़ी का मामला।

जमीन के फर्जी दस्तावेज दिखाकर ठगी

राजेंद्र ने दावा किया कि माढ़ोताल स्थित 30 हजार वर्गफीट जमीन उसे बेचने को कहा है। उसने जमीन से संबंधित दस्तावेज भी दिखाए। उक्त जमीन से उसने 2300 वर्गफीट (पं. दीनदयाल उपाध्याय वार्ड से आई.टी.आई. के पीछे के क्षेत्र का) कॉर्नर की जमीन खरीदने का अनुबंध 12 लाख रुपए में किया गया। पांच बार में उसने पूरी रकम दे दी। उनके बीच 14 अगस्त 2020 को 1 हजार रुपए के स्टाम्प ड्यूटी देकर विक्रय अनुबंध भी हुआ था।

अनुबंध के बावजूद रजिस्ट्री करने नहीं पहुंचा

20 अगस्त 2020 को रजिस्टर्ड विक्रय पत्र निष्पादित करने का अनुबंध व वचन दिया था। उक्त तारीख को उसने राजेंद्र तिवारी से रजिस्ट्री करने के लिए कहा तो वह टालमटोल करने लगा। संदेह पर उसने प्लाट के बारे में पता किया। मालुम चला कि उक्त संपत्ति उसने 15 मार्च 2004 को ही रमेश चौरसिया व उसकी पत्नी मीरा चौरसिया को बेच चुका है। यहीं नहीं आरोपी ने उसकी ही तरह लक्ष्मी देवी व उर्मिल नायक को भी 22 लाख रुपए में बेचने का अनुबंध कर पैसे ऐंठ चुका है।

राजस्व रिकॉर्ड में जो जमीन नहीं, उसका भी अनुबंध कर लिया

खसरा क्रमांक 195/2 ख और 196/2 राजस्व अभिलेख में ही दर्ज नही है। माढ़ोताल पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी और फर्जी तरीके से दस्तावेज तैयार कर एक ही संपत्ति कई लोगों को बेचने का प्रकरण दर्ज किया। पुलिस ने आरोपी को उसके कृपाल चौक स्थित घर से गिरफ्तार करतते हुए फर्जीवाड़ा के लिए तैयार कई अहम दस्तावेज भी जब्त किए हैं।

खबरें और भी हैं...