पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मकान मालिक से धोखाधड़ी:जिस बिल्डिंग को किराए पर लेकर खोला मेडाज अस्पताल, फर्जीवाड़ा कर उसे ही बेच दिया, 5 पर FIR दर्ज

जबलपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
इसी भवन को आरोपियों ने फर्जीवाड़ा कर बेच डाला। - Dainik Bhaskar
इसी भवन को आरोपियों ने फर्जीवाड़ा कर बेच डाला।
  • एसपी से पीड़ित भवन मालिक ने की थी शिकायत, देर रात अधारताल थाने में केस दर्ज

किराए के भवन में चल रहे मेडाज अस्पताल के संचालकों ने फर्जीवाड़ा कर बिल्डिंग ही बेचने का अनुबंध कर कब्जा जमा लिया है। पीड़ित भवन मालिक ने मामले में एसपी से शिकायत की। इसके बाद बुधवार देर रात पांच लोगों के खिलाफ अधारताल थाने में फर्जीवाड़ा व दस्तावेजों की कूट रचना का केस दर्ज किया गया।

2008 में दिया था किराए पर
धनी की कुटिया निवासी शिवराज सिंह कुछ दिन पहले एसपी से शिकायत की थी। बताया गया, उसकी धनी की कुटिया में 3500 वर्गफीट में तीन मंजिला कमर्शियल बिल्डिंग है। जमीन की कीमत करीब ढाई करोड़ रुपए है। वर्ष 1995 से 2008 तक उसने होटल व बार खोला, पर घाटे के चलते बंद करना पड़ा। उक्त भवन को डॉक्टर विवेक गुप्ता ने 1.40 लाख रुपए में बिल्डिंग को किराए पर लेकर मेडाज नाम से अस्पताल शुरू किया। कुछ महीनों तक उसे किराया देता रहा। इसके बाद किराया देना बंद कर दिया।

उसका भवन ही बेच डाला
शिवराज सिंह के मुताबिक पैसे मांगने पर वह कुछ दिनों तक बहाने करता रहा। इसके बाद विवाद करने लगा। बोला कि यह सम्पत्ति उसने गोरखपुर के सताउर्र रहमान अली को अनुबंध कर दे दी है। छानबीन की, तो पता चला कि विवेक गुप्ता ने सताउर्र रहमान को पार्टनर बनाकर उसकी पत्नी शहनाज अली को उक्त भवन बेचने का अनुबंध कर लिया। वर्तमान में उक्त अस्पताल सताउर्र रहमान ही संचालित कर रहा है। डॉक्टर विवेक गुप्ता वर्तमान में विदेश में रह रहा है।

निगम में जमा करते रहे टैक्स
आरोपी निगम में भवन का 60 हजार हजार रुपए के लगभग संपत्ति टैक्स हर वर्ष शिवराज सिंह के नाम पर ही जमा करते रहे। फिर शहनाज अली ने इस भवन को अविनाश लाल को बेचने का अनुबंध कर लिया है। पर इस बीच भवन मालिक खाली कराने के लिए हाथ-पांव मारने लगा। दबाव बनाने के लिए अब रहमान अली तीन-चार साथियों के साथ अक्सर शिवराज सिंह को धमकाता रहता है। वह उस पर भवन बेचने का दबाव डाल रहा है। आरोपी अताउर्र रहमान पेशे से अधिवक्ता है। उसका भाई महबूब अली गोरखपुर थाने का हिस्ट्रीशीटर और भतीजा लकी अली शातिर अपराधी है।

5 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज
एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा के निर्देश पर मामले में अधारताल थाने में सताउर्र रहमान अली, शहनाज अली, डॉक्टर विवेक गुप्ता, अविनाश लाल और संजीव सिंह उर्फ बाबी के खिलाफ धारा 420, 467, 468, 471,120 बी भादवि का प्रकरण दर्ज कर जांच में लिया है। टीआई अधारताल शैलेष मिश्रा के मुताबिक दस्तावेजों में शिवराज सिंह के नाम पर ही भवन का मालिकाना हक है, लेकिन इसे अनुबंध के आधार पर कई तीन लोगों को बेचने की बात सामने आई है। सभी आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद आगे और खुलासा होगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई लाभदायक यात्रा संपन्न हो सकती है। अत्यधिक व्यस्तता के कारण घर पर तो समय व्यतीत नहीं कर पाएंगे, परंतु अपने बहुत से महत्वपूर्ण काम निपटाने में सफल होंगे। कोई भूमि संबंधी लाभ भी होने के य...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser