• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • MP High Court Constituted A Committee Of Two Retired Judges, The Committee Will Decide In The Case Of 68 Candidates In Two Weeks, The Main Examination Is To Be Held On August 13 And 14

सिविल जज-2019 परीक्षा मामला:MP हाईकोर्ट ने दो रिटायर्ड जजेस की कमेटी बनाई, दो सप्ताह में 68 परीक्षार्थियों के मामले में निर्णय लेगी कमेटी, 13 व 14 अगस्त को होनी है मुख्य परीक्षा

जबलपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिविल जज-2019 परीक्षा मामले में हाईकोर्ट ने 68 छात्रों को बड़ी राहत दी है। - Dainik Bhaskar
सिविल जज-2019 परीक्षा मामले में हाईकोर्ट ने 68 छात्रों को बड़ी राहत दी है।

सिविल जज-2019 परीक्षा में 11 सवालों को लेकर 68 आवेदकों के मामले में हाईकोर्ट ने बड़ा निर्णय दिया है। हाईकोर्ट ने दो रिटायर्ड जजों की कमेटी बनाई है। कमेटी को दो सप्ताह के अंदर 16 याचिकाओं में उठाए गए 11 समान सहित कुल 20 प्रश्नों के उत्तर को लेकर किए गए चैलेंज पर निर्णय लेना है। इसके बाद यदि ये आवेदक तय मेरिट लिस्ट में आते हैं तो उन्हें भी 13 और 14 अगस्त काे आयोजित मुख्य परीक्षा में शामिल होने का अवसर मिलेगा।

मध्य प्रदेश सिविल जज परीक्षा-2019 की परीक्षा 20 मार्च 2021 को हुई थी। परिणाम 24 मई 2021 को आया था। प्रारंभिक परीक्षा की अपलोड उत्तर कुंजी में 5 के उत्तर गलत थे, तो 6 सही जवाबों को डिलीट कर दिया गया था। 150 अंकों की इस परीक्षा मेरिट लिस्ट में 68 आवेदक नहीं आ सके। मेरिट लिस्ट में न आने वाले अंकित तिवारी सहित अन्य (68 छात्र) ने हाईकोर्ट में इस त्रुटिपूर्ण परिणाम को चुनौती दी। इस मामले के साथ कुल 16 और रिट याचिकाएं लगी थी। सभी याचिकाओं की एक साथ हाईकोर्ट में सुनवाई चल रही थी। अधिवक्ता प्रशांत मनचंदा ने तर्कपूर्ण और पूर्व के रेफरेंस देते 68 छात्रों का पक्ष रखा।

हाईकोर्ट के डिवीजन बेंच ने छात्रों को दी राहत

हाईकोर्ट जस्टिस प्रकाश श्रीवास्तव और जस्टिस विजय धगट की डिवीजन बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए 14 जुलाई को छात्रों को बड़ी राहत दी। डिवीजन बेंच ने सिविल जज की परीक्षा कराने वाली समिति की त्रुटि को मानते हुए हाईकोर्ट के दो रिटायर्ड जस्टिस के.के. त्रिवेदी और सी.वी. सिरपुरकरी की एक कमेटी बनाई है। दोनों पूर्व जजों को दो सप्ताह में मुख्य परीक्षा के मेरिट लिस्ट से वंचित रह गए 68 छात्रों के मामले में निर्णय लेने को कहा है।

68 छात्रों में भी चयनित आवेदक मुख्य परीक्षा में हो सकेंगे शामिल

कमेटी के निर्णय और पुनर्मूल्यांकन के बाद 68 छात्रों में जो भी लिस्ट में आएगा, उसे भी मुख्य परीक्षा में शामिल होने का मौका मिलेगा। हाईकोर्ट ने कमेटी को दो सप्ताह में अपना प्रस्ताव पेश करने का निर्देश दिया है। इस प्रस्ताव के प्राप्त होने के एक सप्ताह के अंदर परीक्षा समिति को उचित निर्णय लेते हुए मुख्य परीक्षा के लिए प्रपत्र जमा करने की अंतिम तिथि भी बढ़ाने का निर्देश दिया है। चयन सूची 24 मई 2020 की अधिसूचना के अनुसार ही प्रकाशित होगी। पर इन 68 उम्मीदवारों में भी उपरोक्त प्रक्रिया के बाद चयनित आवेदकों को सिविल जज वर्ग- II की भर्ती के लिए मुख्य लिखित परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जाएगी।
13 और 14 अगस्त को दो शिफ्ट में होनी है मुख्य परीक्षा

हाईकोर्ट की ओर से जारी नोटिफिकेशन के अनुसार, एमपी सिविल जज क्लास II (एंट्री लेवल परीक्षा 2019) (फेज II) का आयोजन 13 और 14 अगस्त 2021 को दो शिफ्ट में होगा। प्रारंभिक परीक्षा में सफल हुए अभ्यर्थी मुख्य परीक्षा के लिए अपने एडमिट कार्ड मध्य प्रदेश हाईकोर्ट की वेबसाइट mphc.gov.in से डाउनलोड कर सकते हैं। कोविड को देखते हुए इस बार जबलपुर के अलावा इंदौर, ग्वालियर और भोपाल में भी परीक्षाएं होंगी।

खबरें और भी हैं...