आदेश मिलते ही किया रिलीव:नगर निगम उपायुक्त अंजू सिंह का भोपाल तबादला

जबलपुर3 महीने पहले
उपायुक्त अंजू सिंह का भोपाल तबादला

जबलपुर नगर निगम की उपायुक्त अंजू सिंह ठाकुर का अचानक भोपाल तबादला कर दिया गया। भोपाल से तबादला आदेश मिलते ही निगमायुक्त ने आनन-फानन में दोपहर में ही उपायुक्त को रिलीव कर दिया। नगरीय विकास एवं आवास विभाग के उप सचिव हर्षल पंचोली की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि नगरीय निकाय चुनाव को ध्यान में रखते हुए ननि जबलपुर की उपायुक्त अंजू सिंह ठाकुर को तत्काल प्रभाव से आगामी आदेश तक संचालनालय नगरीय प्रशासन एवं विकास भोपाल में संलग्न किया जाता है। वहीं निगमायुक्त ने उपायुक्त का कार्यभार सहायक आयुक्त अंकिता जैन को सौंप दिया है।

उपायुक्त पर लगाए गए थे आरोप

भाजपा के पूर्व जिला संयोजक व्यापार प्रकोष्ठ व सदस्य नगर विक्रय समिति शशिकांत सोनी ने प्रमुख सचिव मध्यप्रदेश शासन को सात जून 2022 को उपायुक्त अंजू सिंह के खिलाफ शिकायत भेजी थी। इसमें आरोप लगाए गए थे कि उपायुक्त अंजू सिंह जबलपुर निगम में पिछले 13 वर्षों से पदस्थ है। जबकि नियमानुसार तीन वर्ष में तबादला किए जाना चाहिए। इसके अलावा उपायुक्त, पर स्व सहायता समूहों को लाभ पहुंचाने, योजनाओं में गफलत करने के भी आरोप लगाए गए थे। वहीं उपायुक्त ने भी इन आरोपों खारिज करते हुए उल्टा उन पर दबाव बनाकर काम करने का आरोप लगाया था। उपायुक्त का कहना था कि : नगर निगम के पोर्टल का काम इन्हीं के दौरान कराया जा रहा है। योजनाओं से जुड़े हितग्राहियों का डेटा इन्होंने पोर्टल से उड़ा दिया। इसकी शिकायत शासन से की गई है।