• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Entering Two Houses, Three Miscreants Committed The Crime With Knives And Sticks, Injuring Two Women And A Five year old Child

नाली विवाद में 5 साल के बच्चे पर चाकू चलाया:तीन आरोपियों ने दो घरों में घुसकर किया हमला, BJP के बूथ अध्यक्ष की मौत, दो महिला गंभीर

जबलपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मासूम प्रतीक को भी हत्यारों ने चाकू से गोद डाला। मेडिकल में इलाजरत। - Dainik Bhaskar
मासूम प्रतीक को भी हत्यारों ने चाकू से गोद डाला। मेडिकल में इलाजरत।

साईं नगर रामपुर में नाली विवाद में सोमवार की देर रात 24 साल के युवक की चाकू से गोद कर हत्या कर दी गई। 3 की संख्या में पहुंचे आरोपियों ने घर में घुस कर वारदात को अंजाम दिया। बीच-बचाव करने पहुंची युवक की पत्नी को भी घायल कर दिया। इसके बाद आरोपी थोड़ी दूरी पर रहने वाले उसके रिश्तेदार के घर पहुंचे। वहां भी 22 साल की महिला और उसके 5 साल के बेटे पर चाकू से हमला कर उन्हें घायल कर दिया। इस दौरान महिला का पति बचाने दौड़ा तो आरोपियों ने लाठी से उसकी भी पिटाई कर दी और भाग निकले। तीनों घायलों को मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी है।

रामपुर साईंनगर निवासी पुष्पराज उर्फ विजय कुशवाहा (24) BJP का बूथ अध्यक्ष था और ठेकेदारी करता है। 18 मई को नाली के पानी बहने को लेकर उसका पड़ोसी विनय कुशवाहा से विवाद हुआ था। तब पुष्पराज और उसके पक्ष के तीन अन्य लोगों ने विनय कुशवाहा के परिवार के साथ मारपीट कर दी थी। इस मामले में गोरखपुर पुलिस ने मारपीट व प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की थी।

विजय उर्फ पुष्पराज कुशवाहा (24) मृत हालत में। इनसेट में जीवित अवस्था की फोटो।
विजय उर्फ पुष्पराज कुशवाहा (24) मृत हालत में। इनसेट में जीवित अवस्था की फोटो।

इसी रंजिश में हत्या की वारदात को दिया अंजाम
मारपीट की रंजिश को लेकर बदला लेने की नीयत से विनय कुशवाहा ने साला गुप्तेश्वर निवासी राजा कुशवाहा और जीजा रवि कुशवाहा के साथ सोमवार रात पौने 11 बजे पुष्पराज के घर में घुस गया। तीनों चाकू व लाठी-डंडे से लैस थे। तीनों ने पुष्पराज को चाकू से गोद डाला। बचाने पहुंची पत्नी नीलम (22) पर भी चाकू से वार कर घायल कर दिया। इसके बाद तीनों आरोपी थोड़ी दूरी पर रहने वाले पुष्पराज के जीजा गोलू कुशवाहा के घर पहुंचे। तीनों ने घर में घुसकर गोलू को लाठी-डंडे से तो पत्नी रूचि उर्फ ज्योति कुशवाहा (22) और बेटे प्रतीक (5) पर चाकू से वार कर घायल कर दिया।

चाकू लहराते हुए फरार हाे गए तीनों आरोपी
बदमाशों ने दो घरों में घुसकर लगभग 20 मिनट तक खूनी खेल खेला। चीख-पुकार सुनकर आस-पास के लोग बीच-बचाव को पहुंचे तो आरोपी चाकू लहराते हुए मौके से फरार हो गए। गोलू ने डायल-100 पर सूचना दी। डायल-100 के वाहन से ही नीलम, रूचि और मासूम प्रतीक को मेडिकल पहुंचाया। वहीं पुष्पराज को परिजन बाइक से लेकर मेडिकल पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने पुष्पराज को मृत घोषित कर दिया। वहीं अन्य को भर्ती कर लिय गया है। नीलम व रूचि का रात में ही ऑपरेशन हुआ। हालांकि दोनों की हालत गंभीर बनी हुई है। जबकि प्रतीक की हालत खतरे से बाहर है।

घटनास्थल की जांच करती पुलिस।
घटनास्थल की जांच करती पुलिस।

एक घंटे बाद पुलिस को लगी खबर
रात 12 बजे के लगभग गोरखपुर पुलिस को वारदात की जानकारी लगी। हत्या की खबर मिलते ही CSP गोरखपुर आलोक शर्मा, ASP साउथ गोपाल खांडेल, TI सारिका पांडे और FSL की टीम पहुंची थी। दोनों घरों में FSL की टीम ने साक्ष्य एकत्र किए। मामले में रवि कुशवाहा की शिकायत पर हत्या का प्रकरण दर्ज कर लिया है।

क्या है पूरा विवाद

आरोपी विनय और पुष्पराज पड़ोसी हैं। सभी की घर से निकलने वाली नाली का पानी घर के आगे कॉमन नाली में गिरता है। पीड़ित पक्ष की ओर से आरोप लगाया गया था कि आरोपी पक्ष की ओर से नाली में कूड़ा वगैरह डाल दिया जाता है जिससे नाली का पानी ओवर फ्लो होकर उसके घर में घुस जाता है। इस बात को लेकर 18 मई को मारपीट हुई थी। तब विनय ने पुष्पराज सहित चार के खिलाफ हत्या का प्रकरण दर्ज कराया था।

मेडिकल कॉलेज में वारदात की जानकारी देता काली टीशर्ट में गोलू कुशवाहा।
मेडिकल कॉलेज में वारदात की जानकारी देता काली टीशर्ट में गोलू कुशवाहा।

दो साल पहले ही हुई थी पुष्पराज की शादी

पुष्पराज राजनीतिक और सामाजिक रूप से काफी सक्रिय रहता था। दो साल पहले उसकी नीलम से शादी हुई थी। अभी उनकी कोई औलाद भी नहीं है। नीलम को भी आरोपियों ने 16 चाकू के वार किए हैं। पुष्पराज मूलत: सतना अमरपाटन जगदीशपुर का रहने वाला था। पांच साल से वह साईंं नगर में नजूल की भूमि पर मकान बनाकर रहने लगा था। उसके साथ बड़ा भाई व पिता भी रहते थे, लेकिन वे दोनों गांव गए हुए थे।

नाली विवाद में जबलपुर में हो चुकी है 9 लोगों की हत्या
जबलपुर में नाली विवाद में खूनी खेल का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले 12 अक्टूबर 2009 में गढ़ा के सैनिक सोसायटी में नाली विवाद को लेकर रोज-रोज के विवाद से गुस्साए सुनील सेन ने कुल्हाड़ी से 7 लोगों की हत्या कर दी थी। हत्या के बाद वह कुल्हाड़ी लेकर ही घटनास्थल पर बैठा रहा था। इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था। बीते 17 मार्च 2021 को हनुमानताल में नाली में कचरा फेंकने के विवाद में सईद नाम के युवक की हत्या कर दी गई थी।

खबरें और भी हैं...