राहत / अब प्रदेश में कहीं भी जाओ नहीं लगेगा ई-पास

X

  • इंदौर, भोपाल और उज्जैन से आने की लेनी होगी परमीशन
  • प्रदेश के बाहर से आने और जाने के लिए बनवाना होगा पास

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

जबलपुर. लॉकडाउन के दो महीने बीतने के बाद अब आने-जाने में ई-पास की जो बंदिश थी उसे भी हटा दिया गया है। प्रदेश में जो भी लोग फँसे हैं उन्हें परेशान नहीं होना पड़ेगा, सरकार ने इसमें राहत दी है। पहले ग्रीन जाेन से ग्रीन जोन वाले जिले में जाने की परमीशन दी गई थी इसके बाद नए आदेश जारी किए गए जिसमें बिना अनुमति के पूरे प्रदेश में कहीं भी जाने की बात कही गई। सिर्फ इंदौर, भोपाल और उज्जैन से आने के लिए जरूर ई-पास बनवाना होगा। इसके साथ ही यह तय किया गया है कि जिले की सीमाओं में अभी भी जाँच होगी और वहाँ हर किसी को अपनी पूरी जानकारी देनी होगी। यह जरूर है कि प्रदेश के बाहर से आने और जाने के लिए अभी भी अनुमति लेनी होगी। 
30 हजार से ज्यादा के बने ई-पास
जबलपुर में हर दिन 5 सौ से 1 हजार आवेदन पहुँचते थे, शनिवार तक आवेदनों की संख्या भी 40 हजार 803 के पार पहुँच गई थी, इनमें से 30 हजार से ज्यादा के ई-पास बनाए गए। वहीं शुरूआती दौर में कुछ आवेदन ऐसे हुए थे जिन्हें जरूरत भी नहीं थे उनके पास रिजेक्ट किए गए हैं लेकिन अब उन्हें भी आने-जाने की अनुमति होगी।
14 जगह से रखी जाएगी निगरानी ई-पास की भले ही अब जरूरत नहीं होगी लेकिन जिले में प्रवेश के लिए और बाहर जाने के लिए जो 14 चैक पोस्ट बनाए गए हैं वहाँ आने-जाने वालों की जाँच होगी।  
जबलपुर से आने और जाने के लिए अब ई-पास नहीं बनवाना होगा, सिर्फ 3 जगह से आने के लिए अनुमति लेनी होगी इसके अलावा प्रदेश के बाहर से आने और जाने वालों को जरूर परमीशन लेनी होगी। इसके अलावा जो गाइडलाइन बनी है उसका पालन करना होगा। 
ललित ग्वालवंशी, कंट्रोल रूम प्रभारी कलेक्ट्रेट  

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना