• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • On The Complaint Of The Sarpanch, The SDM Said, The Chart Is Telling That 158 People In Your Village Have Got The Vaccine, You Must Have Been Out Of The Village

MP में वैक्सीनेशन के नाम धांधली:ग्रामीणों को पास की फैक्ट्री स्टाफ को लगाया टीका, सरपंच ने SDM से शिकायत की तो पता चला कि रिकॉर्ड में 158 लोगों को लगी है वैक्सीन

जबलपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जबलपुर में वैक्सीनेशन में भी धांधली की बात सामने आई है। 28 जुलाई को जिला मुख्यालय से 50 किलोमीटर दूर पिपरिया ग्राम पंचायत में वैक्सीनेशन होना था। गांव वाले सुबह से दोपहर तक स्कूल में डोज लगने का इंतजार करते रहे। इस बीच गांव वाले अधिकारियों को फोन भी करते रहे लेकिन किसी ने फोन नहीं उठाया। इसकी जानकारी के बाद सरपंच ने शाम को एसडीएम से बात की, तो जवाब मिला कि चार्ट बता रहा है कि तुम्हारे गांव में 158 लोगों काे वैक्सीन लग चुकी है, तुम ही नहीं रहे होगे।

वहीं, ग्रामीणों ने ANM को कॉल किया तो पता चला कि उनके हिस्से की 158 डोज 18 किलोमीटर दूर जिलेटिन फैक्ट्री के कर्मियों को लगा दी गई है। ग्रामीणों ने सीएम हेल्पलाइन में मामले की शिकायत दर्ज कराई है।

कनवास के ग्रामीणों ने बताया कि सरपंच को 27 जुलाई की रात ही वैक्सीनेशन के बारे में सूचना आ गई थी। ग्राम कोटवार दुर्गेश प्रधान ने डुगडुगी पीट कर ग्रामीणों को वैक्सीनेशन की जानकारी भी रात में दे दी। गांव के माध्यमिक शाला में वैक्सीनेशन की तैयारी की गई थी। सुबह स्कूल के शिक्षक अशोक सिंह ठाकुर और महिला शिक्षक रानी उपाध्याय भी पहुंच गईं। यहां कनवास सहित ग्राम पंचायत के टिकरी, रईयाखेड़ा व खपरा गांव के लाेगों को भी वैक्सीन लगना था। गांव के लिए कुल 300 डोज आवंटित हुए थे। इसमें 100 डोज सेकेंड डोज के लगने थे। वहीं 200 फर्स्ट डोज लगने थे।

कोटवार दुर्गेश, सागर यादव, सरपंच गजेंद्र सिंह ठाकुर व शिक्षक अशोक सिंह ठाकुर।
कोटवार दुर्गेश, सागर यादव, सरपंच गजेंद्र सिंह ठाकुर व शिक्षक अशोक सिंह ठाकुर।

दोपहर में आया फोन, वैक्सीन की कमी से वैक्सीनेशन टालना पड़ा
गांव के सरपंच गजेंद्र सिंह ठाकुर के मुताबिक दोपहर में कॉल आया कि वैक्सीन की कमी के चलते आज वैक्सीन नहीं लगेगी। पंचायत के चारों गांवों में मजदूर वर्ग वाले परिवार अधिक हैं। अभी रोपा का समय चल रहा है। सुबह से ग्रामीण इस उम्मीद में काम पर नहीं गए थे कि वैक्सीनेशन होना है।

कारण जानने के लिए ग्रामीणों ने CVMO शहपुरा डॉ. राकेश खरे और BMO डॉ. जोया खान को कॉल किया, लेकिन किसी ने रिसीव नहीं किया। ANM नीलम साहू से ग्रामीणों की बात हुई तो उन्होंने बताया कि अधिकारियों ने उनकी ड्यूटी 18 किमी दूर भेड़ाघाट स्थित जिलेटिन फैक्ट्री में लगाई है।

बिना वैक्सीन लगे कनवास गांव के सामने 158 डोज लगाने का ब्यौरा सूची में दर्शाया।
बिना वैक्सीन लगे कनवास गांव के सामने 158 डोज लगाने का ब्यौरा सूची में दर्शाया।

शाम को SDM से बात हुई तो जवाब मिला गांव में लगी है वैक्सीन
सरपंच गजेंद्र सिंह ठाकुर के मुताबिक शाम को जब हमने SDM अनुराग तिवारी से बात की तो उन्होंने कहा कि आप झूठ बोल रहे हैं। मेरे सामने चार्ट पड़ा है। आपके गांव में 158 लोगों को वैक्सीन लगी है। आप ही गांव से बाहर रहे हाेंगे। सरपंच ने ANM से हुई बात का हवाला दिया तो उन्होंने कहा कि ये गंभीर है, मामले की जांच कराएंगे। ग्रामीणों का आरोप है कि जिलेटिन फैक्ट्री प्रबंधन के प्रभाव में आकर CVMO और BMO ने आखिरी समय में कनवास गांव की वैक्सीन फैक्ट्री के लोगों को लगवा दी।

ग्रामीणों ने कहा- दोपहर तक वैक्सीन लगाने का करते रहे इंतजार।
ग्रामीणों ने कहा- दोपहर तक वैक्सीन लगाने का करते रहे इंतजार।

ग्रामीणों ने CM हेल्पलाइन में की शिकायत
ग्रामीणों ने इस मामले की शिकायत CM हेल्पलाइन 181 पर की। वहां से बताया गया कि आपकी कॉल रिकॉर्ड की जा रही है। झूठ बोलने पर आप के खिलाफ भी FIR दर्ज हो जाएगी। उनकी कॉल जबलपुर में भी ट्रांसफर कर बात कराई गई। ग्रामीणों ने स्थानीय विधायक संजय यादव से भी मामले की शिकायत की।

गांव के नाम पर आवंटन के चलते फीड करना पड़ा कनवास
ग्रामीणों के सोशल ग्रुप में 28 जुलाई की शाम को हेल्थ विभाग द्वारा जारी सूची आई। इसमें भी कनवास में 158 लोगों को वैक्सीन लगाने का जिक्र था। ग्रामीणों ने शाम को फिर ANM नीलम साहू से बात की। बताया कि जब गांव में वैक्सीन लगी ही नहीं तो पोर्टल पर गांव का नाम कैसे चढ़ा दिया गया। ANM ने बताया कि वैक्सीन गांव के नाम पर ही आवंटित हुई थी। पोर्टल में एक बार जो स्थान दर्ज हो जाता है, उसे बदला नहीं जा सकता है। इस कारण कनवास नाम सूची में शो कर रहा है।

शिकायत के बाद 31 जुलाई को गांव में लगा सेकेंड डोज के लिए कैम्प।
शिकायत के बाद 31 जुलाई को गांव में लगा सेकेंड डोज के लिए कैम्प।

ग्रामीणों की शिकायत पर लगा कैंप
ग्रामीणों की शिकायत के बाद गांव में 31 जुलाई को वैक्सीनेशन का कैंप लगाया गया है। पर इस बार सिर्फ 100 लोगों को सेकेंड डोज की वैक्सीन लगाई जा रही है। पहले डोज वालों को अभी इंतजार करना पड़ेगा। SDM अनुराग तिवारी ने कहा कि ग्रामीणों की शिकायत की जांच जारी रहेगी। प्रकरण में BMO और CVMO से जवाब मांगा गया है। जिला टीकाकरण अधिकारी शत्रुघन दाहिया ने भी प्रकरण में दोनों अधिकारियाें से सेंटर बदलने के बारे में जवाब मांगा है।

खबरें और भी हैं...