• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • In Jabalpur, The District President Of The Social Media Department Made A Sharp Remark On Social Media About Kamal Nath, The Senior Leader Of His Own Party, The Party Removed Him From The Post.

कांग्रेस की हार पर रार:जबलपुर में सोशल मीडिया विभाग के जिलाध्यक्ष ने कमलनाथ को लेकर की टिप्पणी, पद से हटाया

जबलपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कांग्रेस की एमपी में हार के बाद कार्यकर्ताओं के निशाने पर आए पूर्व सीएम। - Dainik Bhaskar
कांग्रेस की एमपी में हार के बाद कार्यकर्ताओं के निशाने पर आए पूर्व सीएम।

मध्यप्रदेश में कांग्रेस की करारी हार पर रार मचा है। शुरुआत जबलपुर से हुई। दो नवंबर को रिजल्ट का रुझान आने के बाद ही पार्टी के वरिष्ठ नेता कमलनाथ अपनी पार्टी के पदाधिकारी के निशाने पर आ गए। जबलपुर में मीडिया विभाग के जिलाध्यक्ष ने सोशल मीडिया पर उनकी पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ संवाद और व्यवहार पर कटाक्ष करते हुए पोस्ट किए। पोस्ट के वायरल होते ही हंगामा मच गया।

जबलपुर के रहने वाले अशरफ मंसूरी कांग्रेस के सोशल मीडिया के जबलपुर शहर के जिलाध्यक्ष हैं। दो नवंबर को उन्होंने सोशल एकाउंट पर पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व सीएम कमलनाथ को इस हार के लिए जवाबदार ठहराते हुए पोस्ट किया कि कार्यकर्ताओं को चलो-चलो कहने वाले को जनता ने चलता कर दिया। इसी तरह कुछ और टिप्पणी कर पार्टी की हार पर अपना आक्रोश व्यक्त किया था। ये पोस्ट वायरल होते ही कांग्रेस में हंगामा मच गया। इसके बाद अशरफ मंसूरी ने अपनी पोस्ट हटा दिया।

अशरफ मंसूरी को पद से हटाया गया।
अशरफ मंसूरी को पद से हटाया गया।

पार्टी ने पद से हटाया

मप्र कांग्रेस कमेटी के आईटी एवं सोशल मीडिया विभाग के अध्यक्ष अभय तिवारी ने अशरफ मंसूरी को अनुशासनहीनता और पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण पद से मुक्त करने का आदेश जारी किया। बताते चले कि एमपी में हुए तीन विधानसभा और खंडवा लोकसभा चुनाव में कांग्रेस सिर्फ रैगांव को ही जीत पाई, वो भी बीएसपी के मैदान में न होने का फायदा मिला।

खबरें और भी हैं...