• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Out Of 114 Active Cases, 57% In Only Three Big Cities, Including Sanskardhani, The Crisis Deepens In Bhopal Indore

MP में सबसे अधिक जबलपुर में कोविड के मरीज:114 एक्टिव केस में 57% सिर्फ तीन बड़े शहरों में, संस्कारधानी सहित भोपाल-इंदौर में गहराया संकट

जबलपुरएक महीने पहले
प्रदेश में सबसे अधिक कोविड के एक्टिव केस जबलपुर में 22% है।

मध्यप्रदेश में कोरोना की चाल एक बार फिर मार्च के पैटर्न पर दिख रही है। जबलपुर में दो महीने बाद कोविड के एक साथ 7 केस सामने आए। 4 सितंबर को भी 6 केस सामने आए। गंभीर बात ये है कि इन मरीजों में सिर्फ एक की ट्रैवल हिस्ट्री मिली है। अन्य सभी ऐसे निकले हैं, जो अधिक समय तक ज्यादा लोगों के संपर्क में आते रहे हैं। प्रदेश में सबसे अधिक कोविड के एक्टिव केस जबलपुर में 22% है। इसके बाद भोपाल में 18% तो इंदौर में 16% एक्टिव केस है। वैक्सीनेशन के बाद भी संक्रमित मिले सभी मरीजों का जीनोम सिक्वेसिंग के लिए सैंपल मेडिकल कॉलेज के माध्यम से भोपाल भेजा जा रहा है।

जबलपुर जिले में पिछले पांच दिनों में कोरोना के 20 मामले सामने आ चुके हैं। राहत की बात ये है कि सभी मरीजों की हालत नियंत्रण में है। कुल 26 एक्टिव केस में सिर्फ 6 अस्पताल में भर्ती हैं। अन्य सभी घर में ही रहकर इलाज करा रहे हैं। कोविड के बढ़ते मामलों के बीच CMHO ने कांट्रैक्ट ट्रेसिंग बढ़ा दी है। अब हर एक्टिव मरीज के संपर्क में आने वाले 50-50 लोगों के सैंपल जांच के लिए लिए जा रहे हैं।

MP में इस तरह हैं एक्टिव केस

  • प्रदेश में कुल जिले- 51
  • प्रदेश में कुल एक्टिव केस- 114
  • जबलपुर में एक्टिव केस- 26
  • भोपाल में एक्टिव केस- 21
  • इंदौर में एक्टिव केस- 18
  • ग्वालियर में एक्टिव केस- 3

जबलपुर में 7 संक्रमितों की ये मिली हिस्ट्री
जबलपुर में 3 सितंबर को कुल 7 नए संक्रमित मिले थे। CMHO डॉक्टर रत्नेश कुरारिया के मुताबिक इन मरीजों की हिस्ट्री खंगाली गई तो 6 वैक्सीनेटेड मिले। इसमें 5 संक्रमित दोनों डोज लगवा चुके हैं। इन मरीजों के लिए राहत की बात ये है कि सभी में सामान्य लक्षण हैं। डबल डोज लगवाने के बाद संक्रमित हुए 5 मरीजों के ब्लड सैंपल जीनोम सिक्वेसिंग के लिए मेडिकल कॉलेज के माध्यम से भोपाल भिजवाया जा रहा है। रोज 5500 से 6000 के बीच सैंपल की जांच कराई जा रही है।

सभी सातों मरीजों में एक की ट्रैवल हिस्ट्री

  • एक संक्रमित की ट्रैवल एजेंसी हैं। वहां दिनभर विभिन्न तरह के लोग वाहन बुकिंग के लिए आते रहते हैं।
  • एक संक्रमित सीनियर सिटीजन हैं। 10 दिन पहले दूसरी बीमारी के चलते निजी अस्पताल में भर्ती हुए थे।
  • एक संक्रमित पारिवारिक रिश्तेदारी में जगदलपुर गए थे। लौटने के बाद संक्रमित हुए हैं।
  • एक संक्रमित प्राइवेट यूनानी डॉक्टर हैं। दिनभर मरीजों के बीच बैठते हैं।
  • एक संक्रमित बीमा एजेंट है। बीमा के लिए घर-घर और विभिन्न लोगों से मिलते रहते हैं।
  • एक महिला संक्रमित डिलिवरी के लिए मिलिट्री अस्पताल में भर्ती हुई थी। वहां से निकली तो इस बीमारी की चपेट में आ गईं।
  • एक संक्रमित कुछ करता नहीं है, लेकिन वह मार्केट में घूमता रहता है। वहीं से संक्रमित होने की आशंका है।

CM ने जबलपुर कोविड मामले की समीक्षा की
प्रदेश में कोविड के एक्टिव केस को देखते हुए सीएम शिवराज सिंह ने शनिवार को वीडियो कॉफ्रेंसिंग से समीक्षा की। उन्होंने वैकसीनेशन से वंचित लोगों को सितंबर तक हर हाल में पहला डोज लगवाने का निर्देश दिया। वहीं 17 सितंबर को पीएम के जन्मदिवस पर वैक्सीनेशन महाभियान चलाने के निर्देश दिए।

सीएम ने भोपाल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से कोविड के बढ़ते मामलों पर चिंता जताई।
सीएम ने भोपाल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से कोविड के बढ़ते मामलों पर चिंता जताई।

सीएम ने जबलपुर कलेक्टर कर्मवीर शर्मा को निर्देश दिए कि संक्रमितों की रोज कांट्रेक्ट ट्रेसिंग कराएं। संवाद कर देख लें कि अपने यहां सभी ऑक्सीजन संयंत्र ऑपरेशन हालत में हैं कि नहीं। सीएम ने कोविड गाइडलाइन का पालन कराने के लिए जन जागरूकता अभियान चलाने के निर्देश दिए।

MP में बढ़ते संक्रमण पर CM का अलर्ट:शिवराज बोले- इसे खतरे की घंटी मान कर सावधान रहें; प्रभारी मंत्री और अफसर स्थिति पर रखें नजर

खबरें और भी हैं...