जबलपुर में 95 केंद्रों पर धान की खरीद शुरू:पहले दिन 2200 किसानों को भेजा गया SMS, 4.80 मिट्रिक टन धान खरीदी का लक्ष्य

जबलपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जबपुर में 95 केंद्रों पर धान की खरीदी शुरू। - Dainik Bhaskar
जबपुर में 95 केंद्रों पर धान की खरीदी शुरू।

जबलपुर जिले में किसानों से समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी शुरू हो चुकी। जिले में कुल 95 केंद्रों पर खरीदी होगी। पहले दिन 2200 किसानों को एसएमएस भेजा गया था। धान खरीदी के लिए पर्याप्त मात्रा में बारदानें उपलब्ध कराए गए हैं। इस बार कुल 4.80 मिट्रिक टन धान खरीदी का है लक्ष्य रखा गया है। जिले में धान खरीदी के बीच अमानक धान का खेल भी शुरू हो गया है।

कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के मुताबिक जिले में कुल 95 केंद्र स्थापित किए गए हैं। खरीदी केंद्रों पर किसानों के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं की गई है। प्रभारी जिला आपूर्ति नियंत्रक सुधीर दुबे के मुताबिक राज्य शासन से किसानों से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी का कार्य 29 नवम्बर से प्रारंभ हो गया है। पहले दिन करीब 2 हजार 200 किसानों को एसएमएस भी भेजे गये थे। पर पहले दिन किसी भी केन्द्र पर किसान उपज लेकर नहीं पहुंचे थे।

धान उपार्जन के लिये समितियों को पर्याप्त मात्रा में बारदानें उपलब्ध कराए थे। बारदानें की लगभग 18 हजार गठानें उपलब्ध कराई गई है। इसमें लगभग 4 लाख मिट्रिक टन धान की खरीदी हो सकती है। इस बार किसानों से 4 लाख 80 हजार मिट्रिक टन धान खरीदी का लक्ष्य रखा गया है।

अमानक धान की सूचना पर प्रशासन की दबिश।
अमानक धान की सूचना पर प्रशासन की दबिश।

उधर, चार हजार क्विंटल अमानक धान जब्त

धानी खरीदी के बीच जिले में प्रशासन की टीम ने चार हजार क्विंटल अमानक धान जब्त किए हैं। किसानों की आड़ लेकर कुछ व्यापारी और बिचौलियों की कोशिशों को नायब तहसीलदार पाटन सुरभि जैन की अगुवाई में टीम ने विफल कर दिया। पाटन में शहपुरा मार्ग स्थित धान मिल मृदंग इंडस्ट्री और शारदा वेयर हाउस का आकस्मिक निरीक्षण करने पर धान के स्टॉक की जांच की गई। मृदंग इंडस्ट्री में शासकीय धान की मिलिंग की जा रही थी।

किसान के खेत में चार हजार क्विंटल अमानक धान जब्त

इसी तरह शारदा वेयर हाउस में मीनू जैन की 200 बोरी पतली धान रखी पाई गई। यहां मोटे धान का भंडारण नहीं मिला। निरीक्षण के दौरान ही ग्राम कैमोरी में किसान सुखचैन साहू के खेत में लगभग चार हजार क्विंटल अमानक धान को जब्त किया गया। भूस्वामी की सुपुर्दगी में इसे रखा गया है। कार्रवाई में सहकारिता निरीक्षक विवेक जैन, मंडी सचिव सुनील पांडे सहित अन्य अधिकारी और कर्मचारी शामिल थे।