लॉकडाउन 4.0 / परमीशन होम डिलीवरी की खोलकर बैठ गए दुकान, सड़कों पर निकल रही भीड़, कई जगह तो ट्रैफिक जाम के हालात

Permit home delivery shops open, crowds on the streets, traffic jams at many places
X
Permit home delivery shops open, crowds on the streets, traffic jams at many places

  • नियमों को तोड़कर कर रहे व्यापार, लोग करें लाॅकडाउन का पालन

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:57 AM IST

जबलपुर. लॉकडाउन के चौथे चरण में रियायत देते हुए शासन-प्रशासन ने अतिआवश्यक सामग्री की दुकानें खोलने और कई दुकानों से सामानों की होम डिलीवरी की परमीशन दी है, लेकिन लोगों ने होटल और  कारों के शो-रूम तक खोल लिये। यही नहीं इन दुकानों में नियमों को तोड़कर व्यापार भी किया जा रहा है। बाजार नहीं खुले हैं इसके बावजूद सड़कों पर भीड़ निकल रही है। रोड के किनारे फल, सब्जी और अन्य सामग्रियों के ठेले वालों का कब्जा है तो बाकी सड़क पर कार वाले जाम लगा रहे हैं। अधिकारियों का कहना है कि लोग लॉकडाउन का पालन करें, अभी जो भी परमीशन दी जा रही है वह होम डिलीवरी के लिये है, लेकिन अगर कोई इसका गलत फायदा उठा रहा तो अब टीम जाँच करेगी। 
डेयरी की परमीशन बेचने लगे लस्सी| प्रशासन ने अति आवश्यक सेवा में दूध डेयरी को परमीशन दी है इसी का फायदा उठाकर तीन पत्ती (जहाँगीराबाद) के पास इच्छाधारी लस्सी की दुकान खुल गई है। पता चला है कि लस्सी वाले ने डेयरी के नाम पर परमीशन ली थी, बोर्ड में भी बाकायदा दूध, दही, घी बेचने की बात लिखी गई है, लेकिन वास्तव में वह लस्सी बेच रहा है। अधिकारियों का कहना है कि खुले में खान-पान की कोई भी सामग्री नहीं बेची जा सकती है। अगर किसी ने डेयरी के नाम पर परमीशन ली है और माल कुछ और बेच रहा है तो उसके खिलाफ कार्यवाही की जायेगी।
कंटेनमेंट क्षेत्र में 15 कैमरों से निगरानी
कोरोना वायरस के कारण शहर में कई जगह कंटेनमेंट क्षेत्र बनाये गये हैं ऐसे में इंटरनेट सेवाओं के कारण ही हर सूचना इस क्षेत्र तक पहुँच रही है। बीएसएनएल ने कंटेनमेंट एरिया में ब्राड बैण्ड कनेक्शन दिये हैं जिससे पुलिस विभाग के 15 से ज्यादा कैमरे कनेक्ट हैं। इन कैमरों से लगातार निगरानी रखी जा रही है। इसी तरह आवेदन वाट्सएप में मिलने पर लगभग ढाई सौ लोगों के प्लान परिवर्तित कर हाई स्पीड ब्राड बैण्ड सेवा उपलब्ध कराई गई है, ताकि लोगों को किसी तरह की परेशानी न हो। 
जरूरत के अनुसार ही अनुमति
हार्डवेयर, बिल्डिंग मटेरियल, वाहनों के पार्ट्स , बर्तन, मोबाइल, कम्प्यूटर से जुड़ी सामग्री की होम डिलीवरी करने कुछ पास दिये गये हैं। जिला रेड जोन में है इसलिये सैलून, बीड़ी, सिगरेट, गुटखा, शराब जैसी कई सामग्री की दुकानें अभी नहीं खोली जानी हैं। गाइड लाइन जो तय है उसके अनुसार ही परमीशन दी जा रही है, अगर कोई फिर भी नियम तोड़कर काम कर रहा है तो कार्यवाही की जायेगी। 
-भरत यादव, कलेक्टर

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना