• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Police Had Reached Razzaq's House To Nab The Hidden Nephew, 5 Rifles, 03 Guns, 01 01 Pistol And Pistol, 10 Cartridges And 15 Bucks Were Found, Both Arrested

जबलपुर में मिली विदेशी राइफल:गैंगस्टर अब्दुल रज्जाक के घर छिपे भतीजे को दबोचने पहुंची थी पुलिस; 5 राइफल,10 कारतूस और 15 चाकू मिले, रासुका भी लगाई

जबलपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कुख्यात अब्दुल रज्जाक के घर से विदेशी राइफल सहित हथियारों का जखीरा मिला। - Dainik Bhaskar
कुख्यात अब्दुल रज्जाक के घर से विदेशी राइफल सहित हथियारों का जखीरा मिला।

जबलपुर के विजय नगर में दर्ज मारपीट और जानलेवा हमला मामले के आरोपी की तलाश में गैंगस्टर अब्दुल रज्जाक के पहुंची पुलिस ने एक विदेशी सहित 5 राइफल, 10 कारतूस और 15 चाकू बरामद किया है। आरोपी शहबाज गैंगस्टर का भतीजा है। शहबाज की गिरफ्तारी के लिए पुलिस अब्दुल रज्जाक के घर शुक्रवार सुबह 5 बजे पहुंची और उसे दबोच लिया। पुलिस ने जब घर की सर्चिंग की, तो ये हथियार बरामद किए गए। मामले में पुलिस ने अब्दुल रज्जाक को भी गिरफ्तार कर लिया है। उसके खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम (NSA) की कार्रवाई भी की गई है।

SP सिद्धार्थ बहुगुणा ने बताया कि बड़ी ओमती नया मोहल्ला निवासी अब्दुल रज्जाक के खिलाफ 10 आपराधिक प्रकरण और 12 प्रतिबंधात्मक कार्रवाई पहले हो चुकी है। 2012 में आरोपी के खिलाफ NSA की कार्रवाई हुई है। आरोपी पर हत्या, बलवा, हत्या के प्रयास, अपहरण, धमकी देना, आर्म्स एक्ट के कई प्रकरण दर्ज हैं। आरोपी के भतीजे शहबाज और अब्दुल रज्जाक और अन्य के खिलाफ विजय नगर थाने में हत्या के प्रयास, जानलेवा हमले की साजिश रचने, धमकी, तोड़फोड़ व बलवा का प्रकरण 26 अगस्त की रात में दर्ज हुआ था।

अब्दुल रज्जाक और उसका भतीजा शहबाज।
अब्दुल रज्जाक और उसका भतीजा शहबाज।

विजय नगर में ये हुआ था पूरा विवाद
सरस्वती कॉलोनी परिजात बिल्डिंग के पीछे रहने वाले अभ्युदय चौबे ने 26 अगस्त की रात में विजय नगर थाने पहुंच कर FIR दर्ज कराई कि वह सेटअप बाक्स ऑपरेटर है। अपनी कार एमपी 20 सीएफ 1911 को जगपाल सिंह के गैरेज में ठीक के लिए दिया था। 26 अगस्त की रात लगभग 09.30 बजे वह दोस्त बाबी जैन के साथ गैरेज पर पहुंचा था। यहां पता चला कि कार ठीक नहीं हुई है।

बदमाश रज्जाक के समर्थकों का कोर्ट में हंगामा:जबलपुर में आक्रोशित वकीलों ने असलहे से लैस समर्थकों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, पुलिस पर मूकदर्शक बनने का आरोप

शहबाज और उसके 10-15 दोस्तों ने मारपीट कर कार को क्षतिग्रस्त कर दिया था।
शहबाज और उसके 10-15 दोस्तों ने मारपीट कर कार को क्षतिग्रस्त कर दिया था।

पीड़ित बोला- मैं किसी रज्जाक पहलवान को नहीं जानता, इसी बात पर कर दी पिटाई
कारण पूछने पर जगपाल ने बताया कि ये BMW कार नया मोहल्ले के रज्जाक पहलवान की है। किसी ने इसका कांच तोड़ दिया है। पहले उसे सुधारना है। इस पर जगपाल से उसकी बहस हो गई थी। तभी रज्जाक का भतीजा शहबाज 10-15 युवकों के साथ बाइक से पहुंचा। सभी बेसबाल से लैस थे। रज्जाक पहलवान ने भेजा है, कहते हुए सभी ने उसके साथ मारपीट की और उसकी कार में तोड़फोड़ कर डाली। इस दौरान जगपाल ने आरोपियों के चंगुल से बचाकर अपनी कार में जगपाल को थाने पहुंचाया।

सुबह पांच बजे पहुंची थी गिरफ्तार करने पुलिस।
सुबह पांच बजे पहुंची थी गिरफ्तार करने पुलिस।

सुबह पांच बजे चाचा-भतीजे को गिरफ्तार करने पहुंची थी पुलिस
इसी प्रकरण में पुलिस ने अब्दुल रज्जाक (61) और उसके भतीजे शहबाज (28) को उसके घर से 27 अगस्त की सुबह पांच बजे गिरफ्तार किया। आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए एएसपी गोपाल खांडेल, एसपी सिटी रोहित काशवानी, सीएसपी गढ़ा तुषार सिंह, सीएसपी ओमती आरडी भारद्वाज, ओमती, विजय नगर, केंट, भेड़ाघाट, बरगी, खमरिया, सिविल लाइंस, बेलबाग व कोतवाली थाने के टीआई, आरआई सौरव तिवारी की अगुवाई में पुलिस बल पहुंचा था।

अब्दुल रज्जाक के घर से जब्त चाकू।
अब्दुल रज्जाक के घर से जब्त चाकू।

आरोपी के घर से मिला हथियारों का जखीरा
पुलिस ने आरोपी अब्दुल रज्जाक के घर की तलाशी ली तो घर के अंदर एक 12 बोर की पंप एक्सन गन, एक 12 बोर की दोनाली बंदूक, एक 315 बोर की रायफल, एक स्पोर्टिंग 315 बोर, एक 0.22 बोर की इटली की बनी राइफल, विभिन्न बोर की 10 कारतूस और 15 बकानुमा चाकू जब्त किए। राइफल व बंदूकों के बारे में आरोपी कोई लाइसेंस नहीं दिखा पाया। सभी हथियारों को जब्त करते हुए ओमती थाने में अलग से आर्म्स एक्ट का प्रकरण दर्ज किया गया।

इटली मेड विदेशी रायफल भी आरोपी रज्जाक के घर से जब्त।
इटली मेड विदेशी रायफल भी आरोपी रज्जाक के घर से जब्त।

कुख्यात अपराधी है रज्जाक
एसपी बहुगुणा के मुताबिक, हिस्ट्रीशीटर बदमाश अब्दुल रज्जाक वर्ष 1991 से लेकर लगातार मारपीट, अवैध वसूली, बलवा कर मारपीट करना, हत्या जैसे वारदात को अंजाम दिया है। उसके खिलाफ आर्म्स एक्ट, वन्य प्राणी अधिनियम जैसे मामलों में भी केस दर्ज हैं। आरोपी अब्दुल गिरोह बनाकर गम्भीर घटनाओं को अंजाम देता है।

एसपी ने बताया कि अब्दुल क्षेत्र में व्यक्तिगत हितों के संरक्षण के दहशत का वातावरण निर्मित करने लगा था। अपराध से अर्जित पैसों का उपयोग कर प्रतिस्पर्धा रखने वाले विरोधियों को धन और बाहुबल से समाप्त कर गैंग का सरगना बन बैठा था। आरोपी पर 12 प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की जा चुकी है। 2012 में एनएसए भी हो चुकी है, पर आदतों में सुधार नहीं हुआ।

एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा मामले का खुलासा करते हुए।
एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा मामले का खुलासा करते हुए।

आरोपी की दहशत से पीड़ित नहीं दे पाया बयान
आरोपी की दहशत का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि जुलाई 2020 में न्यू आनंद नगर हनुमानताल निवासी मोह. शब्बीर ने अब्दुल रज्जाक की आपराधिक गतिविधियों और अनैतिक कार्य से बनायी गयी सम्पत्ति के बारे मे लिखित शिकायत की थी। आरोपी रज्जाक, उसके बेटे सरताज ने शिकायतकर्ता पर बयान बदलने का दबाव बनाया था। अक्टूबर 2020 में शब्बीर ने फिर से शिकायत की तो पिता-पुत्र ने ऐसा धमकाया कि वह आज तक अपना बयान नहीं दर्ज करा पाया।

रज्जाक की गिरफ्तारी के बाद उसके समर्थक कई बार कानून हाथ में लेने की कोशिश की, जिसे देखते हुए पुलिस बल लगाया गया।
रज्जाक की गिरफ्तारी के बाद उसके समर्थक कई बार कानून हाथ में लेने की कोशिश की, जिसे देखते हुए पुलिस बल लगाया गया।

तीन महीने के लिए एनएसए में निरूद्ध
रज्जाक की दहशत और खौफ के चलते क्षेत्र के लोग डरते हैं। आरोपी पर 14 मार्च 2012 को एनएसए की कार्रवाई हुई थी। बावजूद उसकी आदतों में कोई सुधार नहीं हुआ। उसके कृत्य और आपराधिक वारदात को देखते हुए एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा के प्रतिवेदन पर जिला दंडाधिकारी कर्मवीर शर्मा ने तीन महीने के लिए एनएसए में निरूद्ध करने का आदेश जारी करते हुए वारंट जारी किया है। रज्जाक को एनएसए में भी गिरफ्तार किया गया।

भू-माफिया अभियान में भी हो चुकी है कार्रवाई
भू-माफिया अभियान के दौरान जबलपुर पुलिस ने प्रशासन एवं नगर निगम की संयुक्त टीम ने 11 सितंबर 2020 को हिस्ट्रीशीटर अब्दुल रज्जाक की लगभग 3 करोड़ की लागत से अवैध रूप से निर्मित दरबार वेज रेस्टोरेंट को तोड़ा था। 29 नवंबर 2020 को करमचंद चौक स्थित दर्जी शोरूम के 50 लाख रुपए की लागत से निर्मित से चौथे मंजिल को तोड़ा गया था। 28 नवंबर 2020 को बरेला के गौरैयाघाट में रज्जाक द्वारा कब्जाई गई चार करोड़ कीमत की 1.54 हेक्टेयर शासकीय भूमि को मुक्त कराया गया था।

हिस्ट्रीशीटर अब्दुल रज्जाक आपराधिक रिकाॅर्ड

खबरें और भी हैं...