पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Ram Nath Kovind Became The First President Of The Country, Aarti Of Mother Narmada And Her Majesty Were Immersed In Devotion On Narmada Ashtaq.

मां नर्मदा की भव्य महाआरती:पहले राष्ट्रपति बने रामनाथ कोविंद, मां नर्मदा की आरती और नर्मदा अष्टक पर भक्ति भाव में डूबे नजर आए

जबलपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मां नर्मदा की महाआरती करते राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और लाल कुर्तें में सीजेआई शरद अरविंद बोबड़े। - Dainik Bhaskar
मां नर्मदा की महाआरती करते राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और लाल कुर्तें में सीजेआई शरद अरविंद बोबड़े।
  • संस्कृति मंत्रालय के तत्वावधान में आयोजन, राज्यपाल आनंदीबेन, सीएम शिवराज के साथ सीजेआई शरद अरविंद बोबड़े और केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल भी हुए शामिल
  • बसंत पंचमी 2012 में गंगा आरती की तर्ज पर शुरू हुई थी मां नर्मदा की महाआरती

मां नर्मदा के ग्वारीघाट तट पर पिछले नौ वर्षों से हो रही महाआरती के इतिहास में छह मार्च की तारीख स्वर्णाक्षरों में दर्ज हो गई। देश के 14वें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद मां नर्मदा की महाआरती करने वाले पहले राष्ट्रपति बन गए। शाम पौने सात बजे महामहिम ग्वारीघाट तट पर पहुंचे, तो रोशनी से नहाए तट की अनुपम सौंदर्यता भक्ति भाव को चरमोत्कर्ष पर पहुंचा रही थी। नर्मदा अष्टक और नर्मदा आरती में खड़े होकर महामहिम मां नर्मदा की भक्ति में लीन नजर आए।

जानकारी के अनुसार संस्कृति मंत्रालय और पर्यटन विभाग के तत्वावधान में महाआरती का आयोजन किया गया। इसका लाइव टेलिकास्ट सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफाॅर्म पर विश्वभर में किया गया। वैसे तो ग्वारीघाट तट पर बसंत पंचमी 2012 से अनवरत महाआरती का आयोजन किया जा रहा है, लेकिन छह मार्च शनिवार का दिन आयोजन को नई भव्यता देने वाला साबित हुआ।

नर्मदा की महात्म्यता से अभिभूत नजर आए महामहिम

राष्ट्रपति कोविंद ने स्वास्तिवाचन, हर-हर नर्मदे और नर्मदाष्टकम् के श्लोकों की गूंज के बीच पूरे विधि-विधान से पुरोहितों की मौजूदगी में मां नर्मदा की पूजा-अर्चना की। उमाघाट पर जब सात अर्चकों ने नर्मदा महाआरती को भव्यता दी, तो धर्म, अध्यात्म, आस्था और श्रृद्धा से उमाघाट का पूरा वातावरण भक्तिमय हो गया। धर्म और आध्यात्मिकता से सराबोर राष्ट्रपति कोविंद नर्मदा की महात्म्यता से अभिभूत नजर आए। नर्मदा महाआरती में रोज श्रद्धा और भक्ति का संगम उमड़ता है, लेकिन आज का आयोजन सबसे अनूठा और खास बन गया।

महाआरती में राज्यपाल से लेकर सीजेआई व सीएम भी हुए शामिल
प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, सीजेआई शरद अरविंद बोबड़े व सीएम शिवराज सिंह चौहान भी नर्मदा आरती में शामिल हुए। इस मौके पर सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस अशोक भूषण, केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्यमंत्री प्रहलाद सिंह पटेल, उनकी पत्नी पुष्पलता पटेल, केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते, सांसद राकेश सिंह, राज्य सभा सांसद विवेक कृष्ण तन्खा भी महाआरती में शामिल हुए।

रोशनी में ग्वारीघाट का तट किसी स्वर्ग सरीखा दिख रहा था।
रोशनी में ग्वारीघाट का तट किसी स्वर्ग सरीखा दिख रहा था।

26 लाख लोग ले चुके हैं स्वच्छता का संकल्प
ग्वारीघाट को राज्य सरकार पहले ही पवित्र क्षेत्र घोषित कर चुकी है। नर्मदा महाआरती समिति के प्रमुख ओंकार दुबे के मुताबिक अब तक 26 लाख लोगों को मां नर्मदा की महाआरती के साथ ही स्वच्छता का संकल्प दिलाया जा चुका है। यहां प्रतिदिन शाम को मां नर्मदा की महाआरती होती है, जिसमें बड़ी संख्या में शहरवासी शामिल होते हैं।

ग्वारीघाट में मां नर्मदा की महाआरती को लेकर घाट पर आकर्षक रंगोली बनाई गई।
ग्वारीघाट में मां नर्मदा की महाआरती को लेकर घाट पर आकर्षक रंगोली बनाई गई।

महाआरती में अब तक ये यजमान हो चुके हैं शामिल
वैसे तो, देश में गंगा महाआरती का आयोजन कई शहरों और प्रमुख घाटों पर होता है। इसमें देश की कई मानी हुई हस्तियां शामिल होती रहती हैं, लेकिन मां नर्मदा की महाआरती की ख्याति भी लोगों को बरबस ही ग्वारीघाट में खींच लाती है। अब तक इस घाट पर होने वाले महाआरती में सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश शरद अरविंद बोबड़े, गृहमंत्री अमित शाह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पूर्व संघ चालक केएस सुदर्शन समेत कई हस्तियां शामिल हो चुकी हैं।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और सीएम शिवराज सिंह महाआरती करते हुए।
राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और सीएम शिवराज सिंह महाआरती करते हुए।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद मां नर्मदा की महाआरती करते हुए।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद मां नर्मदा की महाआरती करते हुए।
नर्मदा अष्टक के दौरान खड़े होकर भक्तिभाव में लीन राष्ट्रपति कोविंद समेत अन्य।
नर्मदा अष्टक के दौरान खड़े होकर भक्तिभाव में लीन राष्ट्रपति कोविंद समेत अन्य।