थाने में संदेही को गोली मारने का मामला:रिमांड खत्म, हत्या के आरोपी थानेदार-आरक्षक भेजे गए जेल

सतना9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी निलंबित सब इंस्पेक्टर विक्रम पाठक तथा आरक्षक आशीष सिंह को अदालत ने जेल भेज दिया है। - Dainik Bhaskar
आरोपी निलंबित सब इंस्पेक्टर विक्रम पाठक तथा आरक्षक आशीष सिंह को अदालत ने जेल भेज दिया है।

सिंहपुर थाने के अंदर हुए हत्याकांड के मामले में फरार रहे थानेदार और आरक्षक को सलाखों के पीछे भेज दिया गया। आरोपियों को VIP ट्रीटमेंट देने वाली सतना पुलिस ने आरोपी पुलिसकर्मियों की रिमांड नही बढ़वाई। लिहाजा, निलंबित सब इंस्पेक्टर और आरक्षक को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक सिंहपुर थाना के अंदर चोरी के संदेही राजपति कुशवाहा की गोली मारकर हत्या कर देने के आरोपी निलंबित सब इंस्पेक्टर विक्रम पाठक तथा आरक्षक आशीष सिंह को अदालत ने जेल भेज दिया है। दोनों को 19 मार्च तक की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। दोनों ने शुक्रवार को रामपुर बाघेलान थाना में तय प्लान के अनुसार सरेंडर किया था जिसके बाद उन्हें थाना नागौद लाया गया था। शुक्रवार को SIT ने इस चर्चित मामले में दोनों आरोपियों की सिर्फ एक दिन की रिमांड ली थी। रिमांड के दौरान उन्हें नागौद थाना में VIP ट्रीटमेंट दिए जाने की खबरें सुर्खियों में छाई थीं।

सतना के सिंहपुर थाने में चोरी के संदेही को मार दी थी सिर पर गोली, 5 माह से फरार थे थाना प्रभारी और सिपाही, हटाए गए थे एसपी

पुलिस सूत्रों ने बताया कि SIT इंचार्ज SDOP सिरमौर दोनो आरोपियों को सिंहपुर थाने भी ले गए थे। माना जा रहा था कि पुलिस घटना के सम्बंध में उनसे पूछताछ करेगी और री क्रिएशन कराएगी लेकिन पुलिस को इनसे क्या मालूमात हासिल हुईं इस पर हर किसी ने चुप्पी साध रखी है। संभावना यह भी थी कि SIT रिमांड अवधि बढ़ाने की मांग भी कर सकती है लेकिन ऐसा नहीं हुआ। शनिवार को पुलिस ने खास गोपनीयता बरतते हुए दोनो को नागौद कोर्ट में पेश कर दिया। अदालत ने हत्या के आरोपी निलंबित सब इंस्पेक्टर विक्रम पाठक और आरक्षक आशीष सिंह को 19 मार्च तक के लिए नागौद उपजेल भेज दिया।

खबरें और भी हैं...