जबलपुर में दिव्यांग पिता को जिंदा जलाया:बुजुर्ग ने बेटे को पैसे नहीं दिए, तो खटिया से बांधा, कुल्हाड़ी लेकर मां को भी मारने दौड़ा

जबलपुर6 महीने पहले

जबलपुर में बाप-बेटे के रिश्ते को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। यहां एक युवक ने दिव्यांग बुजुर्ग पिता को जिंदा जला दिया। आरोपी ने पिता को खटिया से बांधा, इसके बाद खाट (चारपाई) में आग लगा दी। बुजुर्ग की मौके पर ही मौत हो गई। इतना ही नहीं आरोपी कुल्हाड़ी लेकर मां को भी मारने दौड़ा, जिसके बाद उन्होंने भागकर जान बचाई। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

वारदात दर्शनी गांव में सोमवार-मंगलवार की दरमियानी रात हुई। सिहोरा थाना पुलिस ने बताया कि गांव में रहने वाले 65 वर्षीय रामजी पटेल दिव्यांग थे। उनके दो बेटे हैं। छोटा बेटा आदेश शराब का आदी है। वो रात में नशे में धुत होकर घर पहुंच और चारपाई पर सो रहे दिव्यांग पिता से रुपए मांगे।

रामजी पटेल ने पैसे देने से मना कर दिया। इस पर आदेश विवाद करने लगा। शोर सुनकर मां कोरी बाई भी आ गई। उन्होंने बीच-बचाव किया, तो कुल्हाड़ी लेकर मां को मारने दौड़ा। इससे कोरी बाई डरकर वहां से भाग गईं।

इसके बाद पिता को जिंदा जला दिया

इसके बाद आरोपी बेटे ने कपड़े की रस्सी से पिता को चारपाई से बांध दिया। इसके बाद उसमें आग लगा दी और वहां से भाग गया। रामजी को बचाने जब तक घर के दूसरे सदस्य पहुंचते, तब तक वह पूरी तरह जल चुके थे। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को मॉर्चुरी भिजवाया। यहां पीएम के बाद शव परिजनों को सौंपा गया। पुलिस ने दबिश देकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

आए दिन माता-पिता से करता है मारपीट

कोरी बाई ने बताया कि आदेश आए दिन शराब के लिए पति (रामजी पटेल) से रुपए मांगता था। नहीं देने पर वह पिता से मारपीट भी करता था। बेटे की शराब की लत के कारण उसकी पत्नी भी छोड़कर चली गई।

खबरें और भी हैं...