• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Jabalpur Police Will Go To Mumbai To Receive Notices To Director Ali Abbas, Writer Gaurav Solanki, FIR Was Registered On January 15

तांडव बेव सीरीज विवाद:निर्देशक अली अब्बास, राइटर गौरव सोलंकी को नोटिस रिसीव कराने जबलपुर पुलिस जाएगी मुम्बई, 15 जनवरी को दर्ज हुई थी FIR

जबलपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वेबसीरिज तांडव के निर्देशक, लेखकर व कलाकारों के खिलाफ जबलपुर में दर्ज एफआईआर में नोटिस रिसीव कराने पुलिस जाएगी मुम्बई। - Dainik Bhaskar
वेबसीरिज तांडव के निर्देशक, लेखकर व कलाकारों के खिलाफ जबलपुर में दर्ज एफआईआर में नोटिस रिसीव कराने पुलिस जाएगी मुम्बई।

वेब सीरीज तांडव के निर्देशक, राइटर और कलाकारों को नोटिस रिसीव कराने जबलपुर की पुलिस मुम्बई जाएगी। 15 जनवरी को ओमती थाने में हिंदू सेवा परिषद के महानगर अध्यक्ष धीरज ज्ञानचंदानी की ओर से एफआईआर दर्ज कराई गई थी।

ओमती पुलिस ने विवेचना के बाद वेब सीरीज के निर्देशक अली अब्बास जफर, राइटर गौरव सोलंकी और अन्य कलाकारों को लोगों की भावनाओं को आहत करने का आरोपी पाया था। कोविड के दूसरी लहर के चलते टीम मुम्बई नहीं पहुंच पाई। ओमती थाने की एक टीम जल्द मुम्बई जाएगी। वहां दोनों निर्देशक, राइटर और कलाकारों को नोटिस रिसीव कराएगी। दोनों कलाकारों को अपना पक्ष कोर्ट में रखना होगा।

15 जनवरी को जबलपुर के ओमती थाने में दर्ज हुई थी एफआईआर।
15 जनवरी को जबलपुर के ओमती थाने में दर्ज हुई थी एफआईआर।

ये है पूरा मामला-

15 जनवरी को हिंदू सेवा परिषद के महानगर अध्यक्ष धीरज ज्ञानचंदानी ने शिकायत दर्ज कराई थी कि ओटीटी प्लेटफार्म पर रिलीज तांडव वेबसीरिज के पहले भाग में 17वें मिनट में पात्रों ने अनुचित तरीके से कपड़े पहने हुए थे। ये हिंदू देवी-देवाताओं की भूमिका को दर्शाते हुए काफी निम्न स्तर के भाषा का प्रयोग कर रहे थे। इस सीन की वजह से हिंदू धर्म की भावनाएं आहत हुई हैं। यह कृत्य भावनाएं भड़काने वाली है। हिंदू देवी-देवताओं का अपमान करना एक बहुत बड़ी साजिश का हिस्सा है। ओमती पुलिस ने प्रकरण दर्ज करते हुए जांच में लिया था। अब सभी को नोटिस रिसीव कराएंगे।

सुप्रीम कोर्ट भी पहुंचा था ये विवाद

तांडव वेबसीरिज का प्रकरण सुप्रीम कोर्ट में भी गया था। सुप्रीम कोर्ट ने अपनी टिप्पणी में कहा था कि कला और अभिव्यक्ति की आज़ादी के नाम पर बहुसंख्यक लोगों की धार्मिक स्वतंत्रता के मूल अधिकारों का हनन नहीं किया जा सकता है। कोर्ट ने अपने फैसले में माना था कि 'तांडव' वेब सीरीज़ में तमाम डायलॉग और सीन आपत्तिजनक हैं। यह लोगों की भावनाओं को आहत करने वाले हैं।

नोटिस रिसीव के बाद आगे ये होगा

पुलिस द्वारा नोटिस रिसीव कराने के बाद फिल्म के निर्देशक, लेखक और कलाकारों को अपना पक्ष अधिवक्ता के माध्यम से जबलपुर कोर्ट में पेश करना होगा। या फि सुप्रीम कोर्ट से मिली राहत आदेश की प्रति टीम को उपलब्ध कराएंगे। इसके आधार पर ओमती पुलिस मामले में खात्मा या फिर विवेचना पूरी कर कोर्ट में चालान पेश करेगी। यहां बता दें कि नौ कड़ियों की राजनीतिक थ्रिलर वेब सीरीज ''तांडव'' में सैफ अली खान, डिंपल कपाड़िया और जीशान अय्यूब मुख्य भूमिका में थे।

‘तांडव‘ के मेकर्स पर जबलपुर में FIR:हिंदू सेवा परिषद ने डायरेक्टर अली अब्बास समेत अन्य कलाकारों के खिलाफ कराई रिपोर्ट दर्ज

खबरें और भी हैं...