फायरिंग रेंज में मिली आरक्षक की लाश:छठवीं बटालियन में पदस्थ था, जेल भिजवाने वाली प्रेमिका बनी मौत की वजह, आत्महत्या से पहले चार बार हुई थी बात

जबलपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरक्षक की लाश को रांझी पुलिस ने पीएम के लिए भिजवाया। - Dainik Bhaskar
आरक्षक की लाश को रांझी पुलिस ने पीएम के लिए भिजवाया।
  • जहरीला पदार्थ खाने की बात आई सामने
  • प्रेमिका ने आरक्षक के खिलाफ दर्ज कराया था रेप का मामला

रांझी क्षेत्र में शनिवार रात नौ बजे 30 वर्षीय आरक्षक की लाश मिली है। आरक्षक छठवीं बटालियन में पदस्थ था। वह शुक्रवार शाम गणना से पहले गायब था। रविवार को उसके शव का पीएम हुआ। आरक्षक ने जहर खाकर आत्महत्या की है। मोबाइल काल डिटेल में उसकी आखिरी बात होशंगाबाद युवती से हुई थी। युवती ने शादी से मुकरने पर आरक्षक के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कराया था।

औरी होशंगाबाद निवासी सचिन कांकुरे (30) छठवीं बटालियन में आरक्षक था। वह बैरक में रह रहा था। शुक्रवार शाम गणना से पहले वह गायब था। शनिवार रात नौ बजे के करीब उसकी लाश एसएएफ के पुरानी फायरिंग रेंज के पास मैदान में मिली। शरीर पर चोट के निशान नहीं है। एफएसएल की जांच में मौके पर जहरीला पदार्थ मिला। शाॅर्ट पीएम में भी जहर खाकर आत्महत्या करने की पुष्टि हुई है।

मोबाइल घर पर भूल आया था
आरक्षक सचिन कांकुरे अपना मोबाइल घर पर ही भूल गया था। यहां आने पर उसने दूसरा मोबाइल खरीदा था। पुलिस की सूचना पर रविवार को पिता रामदास कांकुरे पीएम कराने पहुंचे थे। सचिन की मौत के मामले में उसकी एक प्रेमिका की संदिग्ध भूमिका सामने आई है। मोबाइल की सीडीआर से पता चला है कि जान गंवाने से पूर्व बटालियन आरक्षक ने रात नौ बजे तक होशंगाबाद निवासी प्रेमिका से मोबाइल पर घंटों बात की थी। इसके बाद आत्महत्या करने का निर्णय लिया।

प्रेमिका की बात नागवार गुजरी होगी

पुलिस ने आशंका जताई है, बातचीत के दौरान प्रेमिका की कोई बात नागवार गुजरी। इसके बाद उसने जहर खाया होगा। घटनास्थल पर जहर की खाली शीशी मिली है। आरक्षक को प्रेमिका ने दुष्कर्म का आरोप लगाकर होशंगाबाद में जेल भिजवा दिया था। छह जनवरी को कोर्ट ने जमानत दी थी।

ये था मामला
सचिन का होशंगाबाद में रहने वाली रिश्तेदार युवती से प्रेम हो गया था। सचिन ने युवती के साथ विवाह करने का झांसा दिया था। लेकिन उसके घर वालों ने उसका विवाह कहीं और तय कर दिया। युवती ने सचिन के खिलाफ देहात थाने में दुष्कर्म का मामला दर्ज करा दिया था। पुलिस ने सचिन को गिरफ्तार कर कोर्ट के आदेश पर जेल भेज दिया था। छह जनवरी को जेल से छूटने के बाद वह ड्यूटी पर छठवीं बटालियन रांझी पहुंचा था।

चार बार बात हुई
मोबाइल की सीडीआर से पता चला कि आरक्षक सचिन और होशंगाबाद निवासी युवती के बीच चार बार मोबाइल पर बातचीत हुई थी। दोनों ने घंटों बात की थी। इसके बाद सचिन ने जहर खाया है। दोनों के बीच मोबाइल पर क्या बात हुई। इसका पता लगाने रांझी पुलिस युवती का बयान दर्ज करने होशंगाबाद जाएगी।

खबरें और भी हैं...