• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Left Her Three month old Milkman Daughter To Her Husband, Met 18 year old Brother in law In The Fort

पति की प्रताड़ना से तंग युवती देवर संग भागी:तीन महीने की दुधमुंही बेटी को पति के पास छोड़ा, 18 साल के देवर के साथ दुर्ग में मिली

जबलपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
माढ़ोताल पुलिस दुर्ग से ढूंढ लाई महिला और उसके देवर को। - Dainik Bhaskar
माढ़ोताल पुलिस दुर्ग से ढूंढ लाई महिला और उसके देवर को।
  • माढ़ोताल क्षेत्र की घटना, महिला को मायके वाले ले गए छत्तीसगढ़
  • पति शादी के बाद से ही मारपीट करने लगा, इस कारण हो गई थी परेशान

पति की प्रताड़ना से तंग 19 वर्षीय पत्नी अपने 18 साल के देवर संग घर छोड़कर चली गई। तीन महीने की दुधमुंही बेटी को पति के पास ही छोड़ गई। माढ़ोताल पुलिस ने दोनों को दुर्ग (छत्तीसगढ़) से पकड़ा किया, तो युवती ने पति के साथ जाने से मना कर दिया। अब वह मायके में मां के पास रहेगी।

प्रभातनगर निवासी 19 वर्षीय युवती की शादी डेढ़ साल पहले हुई थी। युवती का मायका दुर्ग (छत्तीसगढ़) में है। तीन महीने पहले उसने बेटी को जन्म दिया। युवती के मुताबिक शादी के बाद से ही पति उसके साथ मारपीट करने लगा था। छोटी-छोटी बातों को लेकर उसके साथ विवाद करता था। बेटी के पैदा होने के बाद अत्याचार बढ़ गया।

आठ मार्च को देवर संग घर छोड़ दिया
माढ़ोताल टीआई रीना पांडे के अनुसार युवती 18 साल के देवर को पसंद करने लगी थी। आठ मार्च को वह देवर के साथ अपने मायके चली गई। बेटी को पति के पास ही छोड़ गई थी। आठ मार्च को ही पति ने थाने में पहुंच कर पत्नी व भाई की गुमशुदगी दर्ज कराई थी। पुलिस ने दोनों को शनिवार को दुर्ग में पकड़ा।

पति के साथ जाने से किया मना
रविवार को माढ़ोताल पुलिस दोनों काे लेकर लौटी। पीछे युवती की मां और पिता भी आ गए। यहां थाने में युवती ने पति पर प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए साथ जाने से मना कर दिया। इसके बाद उसे स्वधार शेल्टर होम भिजवाने की व्यवस्था बनाई गई। जबलपुर पहुंची उसकी मां उसे अपने साथ दुर्ग ले जाने को तैयार हो गई। युवती बेटी के साथ मायके में रहेगी।

उधर, भोपाल से युवती को पकड़ा
माढ़ोताल पुलिस ने 11 मार्च को मां-पिता की डांट से नाराज होकर घर से चली गई 19 वर्षीय युवती को भोपाल से पकड़ा है। टीआई रीना पांडे के मुताबिक युवती की मां मंगेला निवासी हीराबाई बसोर ने 12 मार्च को गुमशुदगी दर्ज कराई थी। साइबर सेल की मदद से पता चला कि युवती भोपाल में है। एक टीम भोपाल पहुंची तो वह स्टेशन के पास एक रेस्टोरेंट में बैठी मिली। पुलिस ने उसे दस्तयाबी के बाद रविवार को उसे उसके मां-पिता के सुपुर्द कर दिया।

खबरें और भी हैं...