हैप्पी जर्नी / हैप्पी जर्नी से गूँजा पूरा स्टेशन जनशताब्दी-गोंडवाना रवाना

The entire station echoed with Happy Journey to Janshatabdi-Gondwana
X
The entire station echoed with Happy Journey to Janshatabdi-Gondwana

  • लॉकडाउन में फँसे लोगों ने कैद से मुक्ति जैसी राहत महसूस की

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 06:03 AM IST

जबलपुर. कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए  ट्रेनों का रेग्युलर संचालन बंद होने के 71वें दिन  जैसे ही सुबह जनशताब्दी एक्सप्रेस एवं दोपहर में गोंडवाना स्पेशल रवाना होने को हुईं वैसे ही हैप्पी जर्नी की आवाज तेज होती गई। खुशनुमा माहौल में सोमवार को दो ट्रेनें रवाना हुईं तो अधिकांश यात्रियों को लगा कि उन्हें लॉकडाउन की कैद से मुक्ति मिल गई है और वे अब राहत महसूस कर रहे हैं। दोनों ट्रेनों में कुल 1506 यात्री रवाना हुए। 
दिल्ली एवं भोपाल मार्ग खुलने के बाद अब दूसरे रेल रूट भी खोलने की माँग यात्रियों द्वारा की जाने लगी है। भोपाल के लिए जनशताब्दी  प्रारंभ होने के एक दिन पहले से ही यात्रियोंे का स्टेशन पहुँचना शुरू हो गया था। जनशताब्दी एक्सप्रेस सुबह 5.40 पर रवाना हुई। 
जाँच के बाद प्रवेश: रेलवे
ट्रेन पकड़ने से पहले प्लेटफाॅर्म पर उन्हीं यात्रियों को प्रवेश दिया गया जो कि खुद ही यात्रा कर रहे हैं। रेलवे का कहना है कि यात्रियों की थर्मल स्कैनिंग की गई और  मास्क व हैंड सेनिटाइजर चैक किया गया। इन यात्रियों का आरोग्य एप भी चैक किया गया। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन कराया गया। 

ढाई माह बाद ससुराल रवाना 
जबलपुर में अपने मायके होली पर आईं कल्याणी देवी दो बच्चोंे के साथ लॉकडाउन के कारण फँसी रह गईं । उनके पति रेलवे बोर्ड में काम करते हैं। कल्याणी और उनके दोनों बच्चे घर वापसी पर खुश थे। 
नानी के घर आईं थीं
दिल्ली में रहने वालीं दो युवतियाँ निमिषा शर्मा एवं अनायका शर्मा जो कि आईटीआई में पढ़ रही हैं अपनी नानी के घर जबलपुर आईं थीं अब घर वापसी पर बेहद प्रसन्न नजर आईं। उनका कहना था कि वे इतने दिनों नानी के घर के कमरों में कैद रहकर  परेशान हो गईं थीं। बंदूक का लाइसेंस रिन्यू कराने आए थे फँस गए 
जोधपुर से 12 बोर की बंदूक का लाइसेंस रिन्यू कराने आए जितेन्द्र सिंह 19 मार्च को जबलपुर आये थे और फिर यहीं फँस कर रह गए। उन्हें जाने का अब मौका मिला तो दिल्ली जाएँगे फिर वहाँ से जोधपुर जाएँगे। 

70% सीटें फुल रहीं
दिल्ली के लिए दोपहर 3 बजकर 5 मिनिट पर प्लेटफाॅर्म 6 से गोंडवाना स्पेशल ट्रेन रवाना हुई तो ट्रेन की करीब 70 प्रतिशत सीटें फुल थीं वहीं दमोह, कटनी एवं सागर से भी डेढ़ सौ यात्री ट्रेन में सवार हुए। गोंडवाना में कुल 1041 यात्री रवाना हुए। इसमें एसी वन में 8 यात्री, एपी टू में 68 यात्री और एसी थ्री में 194 तथा स्लीपर कोच में 569 यात्री रवाना हुए। 

टीसी लॉबी इन हैंड एप लांच
भारतीय रेलवे में पहली बार जबलपुर  में टीसी को पेपरलेस वर्क के लिए सीसी लॉबी इन हैंड एप लांच किया गया है। सीनियर डीसीएम बसंत शर्मा ने जबलपुर में पहली बार इस एप का शुभारंभ मुख्य टिकिट निरीक्षक कार्यालय में किया। इस एप से टीसी को अब रजिस्टर में हिसाब-किताब लिखने से मुक्ति मिल जाएगी। उन्हें रजिस्टर में अपना विवरण भी नहीं भरना पड़ेगा। 

ससुराल में बिताए ढाई माह 
इधर अलीगढ़ का चमन प्रकाश जो कि जबलपुर में अपनी ससुराल आया था लॉकडाउन के चलते उसे यहीं रहना पड़ा था अब बेहद खुश नजर आया। उसका कहना था कि सपने में नहीं सोचा था कि उसे ससुराल में कमरे में कैद होकर रहना पड़ेगा। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना