• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • The Fraudulent Couple Said That They Are Buying Houses, Give 12 Lakhs, Will Finance Them As Soon As The Registry Is Given, When It Came Time To Give The Loan, It Gave A Bounced Check.

रिश्तेदार को लगाई 12 लाख की चपत:जालसाज दंपती ने मकान खरीदने के लिए मांगे थे रुपए, बाद में बैंक में चेक हो गया बाउंस

जबलपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी दंपती ने 12 लाख रुपए मकान खरीदने लिए थे, लौटाने की बात आई तो दे दिया बाउंस वाला चेक। - Dainik Bhaskar
आरोपी दंपती ने 12 लाख रुपए मकान खरीदने लिए थे, लौटाने की बात आई तो दे दिया बाउंस वाला चेक।
  • कोतवाली थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज
  • मुख्य आरोपी को भेड़ाघाट पुलिस पहले ही भेज चुकी है जेल

मकान खरीदने का बोल कर रिश्तेदार से 12 लाख रुपए दंपती ने हड़प लिया। पैसे लौटाने की बारी आई, तो चेक दे दिया। ये चेक बैंक में बाउंस हो गया। पीड़ित ने कोतवाली थाने में आरोपी दंपती के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया।

जानकारी के अनुसार उपरैनगंज निवासी मायाराम ने शिकायत दर्ज कराई, तीन नवंबर 2020 को रिश्तेदार अभिषेक सोनी और उसकी पत्नी विजय लक्ष्मी आई थीं। दोनों ने बताया कि वह सूजी मोहल्ले में मकान खरीद रहे हैं। 12 लाख रुपए की जरूरत है। मकान फाइनेंस कराकर दो महीने में लौटा देंगे। मायाराम ने बेटी की शादी के लिए जोड़ कर रखे 4.50 लाख रुपए दे दिए।

जालसाज रिश्तेदार बोले- पैसे नहीं मिले तो रकम डूब जाएगी
एक सप्ताह बाद दोनाें फिर आए। बोले- मकान की रजिस्ट्री कराना है। अभी फाइनेंस नहीं हो रहा है। 4.50 लाख रुपए मकान मालिक को दे चुके हैं। पैसों की व्यवस्था नहीं हुई, तो दी गई रकम भी डूब जाएगी। ये सुनकर मायाराम घबरा गई। उसने छोटी बहन अंजली चौकसे से 4 लाख रुपए और पड़ोसी बसंत सोनी से 3.50 लाख रुपए उधार लेकर अभिषेक को दे दिए।

पत्नी ने 12 लाख रुपए का चेक दिया
कुछ समय बाद मायाराम अभिषेक सोनी के घर शांतिनगर गई। वहां उसकी भाभी मिली। अभिषेक और उसकी पत्नी विजयलक्ष्मी के बारे में पूछी, तो बताया कि दोनों 10 दिन से कहीं गए हैं। अभिषेक का मोबाइल भी बंद आया। पांच फरवरी को वह फिर गई, तो विजय लक्ष्मी मिली। अभिषेक के बारे में बताया कि कहीं गए हैं। फिर अभिषेक को फोन लगाने का बोलकर रोड तक चली गई। लौटकर आई तो मायाराम को 12 लाख रुपए का चेक दिया।

चेक लगाया ताे बाउंस हाे गया
मायाराम ने एसबीआई सदर में चेक लगाया, तो वह बाउंस हो गया। वह घबरा गई। इसके बाद उसने बहन अंजली और पड़ोसी बसंती को बताया। फिर कोतवाली थाने में उसके खिलाफ प्रकरण दर्ज कराया। अभिषेक के बारे में पता चला कि उसके खिलाफ भेड़ाघाट थाने में भी धोखाधड़ी का मामला दर्ज है। वहां की पुलिस उसे गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।

खबरें और भी हैं...