पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • "The Missing Bean" Film Will Be Shot From February 1, Shooting On More Than 27 Locations, 180 Local Artists Will Get A Chance

जबलपुर में सिनेमा:"द मिसिंग बीन" फिल्म की शूटिंग एक फरवरी से, 27 से अधिक लोकेशंस पर होगी शूटिंग, 180 लोकल कलाकारों को मिलेगा मौका

जबलपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कचनार सिटी में फिल्म शूटिंग यूनिट के साथ कलेक्टर कर्मवीर शर्मा। - Dainik Bhaskar
कचनार सिटी में फिल्म शूटिंग यूनिट के साथ कलेक्टर कर्मवीर शर्मा।
  • कचनार सिटी में भगवान शंकर की पूजा-अर्चना के साथ हुआ फिल्म निर्माण का आगाज, 40 दिनों तक होगी शूटिंग
  • ढाई घंटे की होगी फिल्म, देवताल में एक फरवरी को होगी शूटिंग की शुरुआत, कचनार सिटी शिव मंदिर में नृत्य गान फिल्माया जाएगा

हैदराबाद की फिल्म निर्माता कम्पनी आइडियल फि़ल्म मेकर द्वारा "द मिसिंग बीन" नाम से बनाई जा रही फिल्म की शूटिंग जबलपुर और आसपास की विभिन्न लोकेशन पर होगी। 2.30 घंटे के इस फिल्म के सीन को जबलपुर के 27 लोकेशंस पर फिल्माया जाएगा। एक फरवरी से 40 दिन तक फिल्म की होने वाली इस शूटिंग में 180 लोकल कलाकारों को भी अपना अभिनय दिखाने का मौका मिलेगा।
तेलगू-हिन्दी सहित पांच भाषाओं में बनेगी फिल्म
जानकारी के अनुसार ये फिल्म तेलगू के साथ तमिल, हिन्दी, मलयालम और कन्नड़ भाषा में प्रदर्शित होगी। आइडियल फिल्म निर्माता कंपनी के बैनर तले बनने वाली इस फिल्म में 88 कलाकार बाहर से बुलाए गए हैं। फिल्म में मुख्य भूमिका में हैदराबाद के एक्टर रक्षित और केरल की एक्ट्रेस अर्पणा जनार्दन होंगी। शहर के कचनार सिटी में कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने इस फिल्म की यूनिट के साथ हवन-पूजन किया। फिल्म के प्रोड्यूसर रघु और डायरेक्टर सबस्टीन नोह ओकोष्टा हैं।

कचनार सिटी में हवन का फिल्म का शुभारंभ किया गया।
कचनार सिटी में हवन का फिल्म का शुभारंभ किया गया।

40 दिन तक जिले में होगी शूटिंग
जिले में फिल्म को प्रमोट कर रहे जबलपुर टूरिज्म प्रमोशन काउंसिल के सीईओ हेमंत सिंह ने बताया कि एक फरवरी को देवताल से फिल्म की शूटिंग प्रारंभ होगी, जो 40 दिन तक चलेगी। इस फिल्म में एक गाना कचनार सिटी स्थित शिव मंदिर परिसर में भी समूह नृत्य का फिल्माया जाएगा। फिल्म के प्रोड्यूसर रघु ने जबलपुर के प्राकृतिक सौंदर्य को अद्भुत बताते हुए कहा कि "द मिसिंग बीन" के बाद जबलपुर में और भी फिल्में बनाने की उनकी योजना है। उन्होंने फिल्म की शूटिंग में प्रशासन से मिल रहे सहयोग के लिए कलेक्टर शर्मा का आभार जताया।
जबलपुर के इस लोकेशंस पर होगी शूटिंग
निदान वॉटर फॉल, टेमर फॉल, हुल्की गांव, पायल, ग्वारीघाट, सर्किट हाउस, गेस्ट हाउस, कटाव मंदिर, गिरी दर्शन, संग्रामपुर, भेड़ाघाट, चौसठ योगिनी, पंचवटी, पचमठा मंदिर, लम्हेटाघाट, शारदा मंदिर, ओशो आश्रम, रानी दुर्गावती किला, बैलेंसिंग रॉक, देवताल, भैंसाघाट, पुलिस स्टेशन, शासकीय अस्पताल, कलेक्ट्रेट आदि स्थलों पर फिल्मांकन होगा।
फिल्म निर्माण से यहां के पयर्टन स्थलों के बारे में जानेंगे लोग
कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने बताया कि जबलपुर में फिल्म निर्माण को प्रोत्साहित करना और लॉजिस्टिक सपोर्ट उपलब्ध कराना है। इससे ज्यादा फिल्मों की शूटिंग यहां होगी और जबलपुर के पर्यटन स्थलों के बारे में ज्यादा लोग जान सकेंगे। यहां के कलाकारों को भी अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिलेगा। फिल्म की शूटिंग से लोगों को रोजगार मिलने के साथ यहां की आर्थिक गतिविधियां भी बढ़ेंगी।

प्रोड्यूसर रघु से चर्चा करते हुए कलेक्टर कर्मवीर शर्मा।
प्रोड्यूसर रघु से चर्चा करते हुए कलेक्टर कर्मवीर शर्मा।

इससे पहले भी हो चुकी है जबलपुर में शूटिंग
फिल्म मोहेंजोदारो की शूटिंग भेड़ाघाट में हो चुकी है। इसमें अभिनेता ऋतिक रोशन का मगरमच्छ से लड़ाई को फिल्माया गया था। अशोका, बॉबी, मछली जल की रानी आदि की शूटिंग यहां हो चुकी है। पिछले दिनों फिल्म अक्कड़-बक्कड़ फिल्म की भी शूटिंग हो चुकी है। इसके अलावा पांच वेब सीरीज की शूटिंग यहां के 28 लोकेशंस पर हो चुकी है।
प्रदेश सरकार की फिल्म नीति से आया फर्क
अक्कड़-बक्कड़ वेब सीरीज के लाइन प्रोड्यूसर अभिनव जैन के मुताबिक पहले की तुलना में अब एमपी में फिल्मों की शूटिंग अधिक आसान हो गई है। अब सिंगल विंडो पर अनुमति मिल जाती है। साथ ही सरकारी स्थानों पर शूटिंग करने पर सरकार सब्सिडी भी दे रही है। इससे लागत भी कम आ रही है। फिल्म निर्माता 50% से ज्यादा शूटिंग एमपी में करता है और स्थानीय कलाकारों को मौका देता है तो सरकार कई तरह की सुविधाएं देने को तैयार है।

खबरें और भी हैं...