जादू-टोना के संदेह में किसान की हत्या:आरोपी बोले- बीमार रहते थे परिजन, कुछ की मौत भी हो चुकी है, इसलिए मार डाला

कटनीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घटनास्थल पर मौजूद पुलिस। - Dainik Bhaskar
घटनास्थल पर मौजूद पुलिस।

शहर के डूडी गांव में दो दिन पहले मिली एक किसान की लाश के मामले का खुलासा पुलिस ने कर दिया है। किसान की हत्या करने में गांव के तीन युवक और दो नाबालिग शामिल हैं। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने हत्या किए जाने का कारण किसान का जादू-टोना करना बताया जा रहा है।

आरोपियों का कहना है कि किसान जादू-टोना करता था, जिससे उनके परिजन बीमार रहते थे, दवा कराने पर भी ठीक नहीं होते, कुछ के परिजनों की मौत भी हो चुकी है। जादू-टोना के संदेह में आरोपियों ने किसान की हत्या कर दी। उमरियापान थाना प्रभारी गणेश प्रसाद विश्वकर्मा ने बताया किसान पंडा और गुनिया का कार्य भी करता था।

उमरिया थाना अंतर्गत डूंडी गांव निवासी सुरेश पिता सुखलाल आदिवासी (42) 11 सितंबर की शाम करीब 6 बजे घर से खेत जाने के लिए निकला था। देररात तालाब की मेढ़ से गांव की ओर जाने वाली सड़क पर खून से लथपथ उसकी लाश ग्रामीणों ने देखी। जिसकी सूचना ग्रामीणें ने पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा था।

पूछताछ में हत्या करना कबूला

शरीर पर चोट के निशान होने पर प्रथम दृष्टया हत्या का मामला दर्ज कर प्रकरण को विवेचना में लिया गया। विवेचना के दौरान मिले साक्ष्य और संदेह के आधार पर पुलिस ने क्षेत्र के संदीप उर्फ बड्डू कोल, राजन उर्फ छुट्टू कोल, अज्जू उर्फ अजय कोल सहित दो नाबालिग से पूछताछ की। पूछताछ में हत्या किए जाने की जानकारी दी गई। हत्या का कारण जादू-टोना करने का संदेह बताया गया है।

खबरें और भी हैं...