पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Sidhi (Madhya Pradesh) Bus Accident Victims Story | 51 Passengers Dead As Bus Falls Into Canal In Madhya Pradesh Sidhi

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

MP बस हादसे में बचे लोगों की कहानियां:किसी बहन से छूटा भाई का हाथ, कोई बेटी दरवाजे पर खड़ी थी इसलिए बच गई तो किसी ससुर ने बहू-पोते को खोया

सीधी2 महीने पहलेलेखक: संतोष सिंह

मध्यप्रदेश के सीधी जिले में मंगलवार को हुए बस हादसे में नहर से बुधवार को भी शव निकाले गए। इस दुर्घटना के बचे लोगों ने दैनिक भास्कर से अपना दर्द साझा किया। हम ऐसे चार लोगों की कहानी बता रहे हैं।

1. दरवाजे के पास खड़ी थी, इसलिए बच गई, लेकिन मां को नहीं बचा सकी: स्वर्णलता द्विवेदी
रामपुर नैकिन की स्वर्णलता द्विवेदी (24) ने बताया, ‘मेरा 12 बजे से सतना में नर्सिंग का पेपर होना था। मां विमाला के साथ सुबह 7 बजे बस में सवार हुई। मां कंडक्टर सीट के पीछे बैठी थी, जबकि भीड़ होने के कारण मैं दरवाजे के पास खड़ी थी। ओवरलोड होने के बाद भी ड्राइवर फुल स्पीड में बस चला रहा था। तभी जोरदार झटका लगा और बस सरदा पटना नहर में पलट गई। मैं दरवाजे से बाहर पानी में गिर गई। थोड़ा बहुत तैरना जानती थी। हाथ-पैर चलाने लगी तो कुछ लोगों ने रस्सी फेंककर मुझे किनारे लगा लिया, लेकिन मेरी आंखों के सामने मां डूब गई।’

2. शिवरानी ने मुझे बचाया, लेकिन बहू-पोता बह गए: सुरेश गुप्ता
रामपुर नैकिन के सुरेश गुप्ता ने बताया, ‘बहू पिंकी (24) और दो साल का पोता अथर्व अब इस दुनिया में नहीं रहे। पिंकी की दादी का कुछ दिन पहले निधन हो गया था। हम तीनों उनकी तेरहवीं में शामिल होने नागौद जा रहे थे। बस पलटी तो मैं नहर में करीब 500 मीटर तक बह गया। सांसें उखड़ रही थीं, तभी किनारे खड़ी शिवरानी ने हिम्मत बढ़ाई। उसने मुझे बचाने के लिए नहर में छलांग लगा दी और हाथ पकड़कर किनारे लगा दिया।’

पिंकी गुप्ता की दादी का कुछ दिन पहले निधन हो गया था। वे अपने दो साल के बेटे अर्थर्व और ससुर सुरेश गुप्ता के साथ दादी की तेरहवीं में जा रही थीं। -फाइल फोटो
पिंकी गुप्ता की दादी का कुछ दिन पहले निधन हो गया था। वे अपने दो साल के बेटे अर्थर्व और ससुर सुरेश गुप्ता के साथ दादी की तेरहवीं में जा रही थीं। -फाइल फोटो
हादसे के बाद सुरेश गुप्ता किसी तरह बस से बाहर निकलने में कामयाब हो गए। सुरेश बिजली विभाग से रिटायर्ड हैं। उनके बेटे अनिल की तीन साल पहले ही शादी हुई थी।
हादसे के बाद सुरेश गुप्ता किसी तरह बस से बाहर निकलने में कामयाब हो गए। सुरेश बिजली विभाग से रिटायर्ड हैं। उनके बेटे अनिल की तीन साल पहले ही शादी हुई थी।
हादसे ने अनिल गुप्ता से एक साथ उनकी बीवी और बच्चे को छीन लिया। उनके आंगन में अब अथर्व की खिलखिलाहट सुनाई नहीं देगी।
हादसे ने अनिल गुप्ता से एक साथ उनकी बीवी और बच्चे को छीन लिया। उनके आंगन में अब अथर्व की खिलखिलाहट सुनाई नहीं देगी।

3. अंकल का शव बस में मिला, वे मुझे परीक्षा दिलाने ले जा रहे थे: अर्चना जायसवाल
इटमा सिंगरौली की रहने वाली अर्चना जायसवाल (23) रामपुर नैकिन अस्पताल में भर्ती हैं। उन्होंने बताया, ‘मैं डॉ. हीरालाल जी शर्मा (60) के घर में किराए से रहती थी। वे रिटायर्ड टीचर थे। अंकल मुझे एएनएम (ऑक्सिलरी नर्स मिडवाइफरी) की परीक्षा दिलाने सतना ले जा रहे थे। मैं तो बच गई, लेकिन पता चला कि अंकल का शव बस के अंदर मिला।’

एएनएम की परीक्षा देने जा रही अर्चना जायसवाल के सामने ही उसके मकान मालिक की डूबकर दर्दनाक मौत हो गई।
एएनएम की परीक्षा देने जा रही अर्चना जायसवाल के सामने ही उसके मकान मालिक की डूबकर दर्दनाक मौत हो गई।

4. भाई हमेशा के लिए हाथ छुड़ाकर चला गया: विभा प्रजापति
सीधी के कुसमी दुआरी की विभा प्रजापति (21) के भाई दीपेश (20) की भी इस हादसे में मौत हो गई। विभा ने बताया, ‘बस पलटी तो मैंने दीपेश की कलाई जोर से पकड़ ली, लेकिन तेज बहाव में हाथ छूट गया। मैंने भाई को बचाने की बहुत कोशिश की, लेकिन कामयाब नहीं हो सकी।’

हादसे में अपने भाई दीपेश को खोने वाली विभा। विभा ने दीपेश की कलाई कसकर पकड़े थी, लेकिन बहाव इतना तेज था कि हाथ छूट गया।
हादसे में अपने भाई दीपेश को खोने वाली विभा। विभा ने दीपेश की कलाई कसकर पकड़े थी, लेकिन बहाव इतना तेज था कि हाथ छूट गया।
सीधी बस हादसे में दीपेश (20) का शव बुधवार सुबह नहर के तल से बरामद हुआ।
सीधी बस हादसे में दीपेश (20) का शव बुधवार सुबह नहर के तल से बरामद हुआ।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने काम को नया रूप देने के लिए ज्यादा रचनात्मक तरीके अपनाएंगे। इस समय शारीरिक रूप से भी स्वयं को बिल्कुल तंदुरुस्त महसूस करेंगे। अपने प्रियजनों की मुश्किल समय में उनकी मदद करना आपको सुखकर...

और पढ़ें