• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Jabalpur Hospital Fire Accident Video Update; 8 Patient Killed, 2 Injured In New Life Multispeciality Hospital

जबलपुर में निजी अस्पताल में आग, 8 की मौत:एंट्रेंस पर शॉर्ट सर्किट से लगी आग, बाहर निकलने का बस यही एक रास्ता था

जबलपुर6 महीने पहले
जबलपुर में सोमवार दोपहर जिस निजी अस्पताल में आग लगी। उसमें बाहर निकलने का सिर्फ एक ही रास्ता था।

मध्य प्रदेश के जबलपुर में सोमवार दोपहर 2:45 बजे एक निजी अस्पताल में आग लग गई। हादसे में 8 लोगों की मौत हो गई। इनमें 3 स्टाफ भी हैं। 8 की हालत गंभीर है।

प्रशासन ने बताया कि तीन मंजिला न्यू लाइफ मल्टी स्पेशलिटी अस्पताल के एंट्रेंस पर जनरेटर में शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगी। हादसे के वक्त अस्पताल में 35 लोग थे, इसलिए आशंका जताई जा रही थी कि मृतकों की संख्या बढ़ भी सकती है। अस्पताल प्रबंधन का कोई बयान अभी तक नहीं आया है। हादसे की जांच जबलपुर डिवीजनल कमिश्नर बी चंद्रशेखर की अध्यक्षता में गठित चार सदस्यीय समिति करेगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हादसे पर दुख जताया है। मध्य प्रदेश के CM शिवराज सिंह ने मृतकों के परिजन को 5-5 लाख रुपए और घायलों को 50-50 हजार रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया है।

आठों मृतकों की पहचान, 2 एक ही परिवार के थे

1. वीर सिंह (30 वर्ष), निवासी आधारताल, जबलपुर (स्टाफ सदस्य)
2. स्वाति वर्मा (24), निवासी- नारायणपुर, सतना (स्टाफ सदस्य)
3. महिमा जाटव (23), निवासी- नरसिंहपुर (स्टाफ सदस्य)
4. दुर्गेश सिंह (42), निवासी- आगासौद, जबलपुर
5. तन्मय विश्वकर्मा (19), खटीक मोहल्ला (जबलपुर)
6. अनुसूइया यादव (55), निवासी- चित्रकूट, मानिकपुर (यूपी)
7. सोनू यादव (26), चित्रकूट, मानिकपुर (यूपी)
8. संगीता बाई (30), निवासी उदयपुर, बरेला (मंडला)

चश्मदीद बोलीं- धमाका हुआ और आग फैल गई

एक चश्मदीद महिला का कहना है कि लाइट गई, तो जनरेटर चालू किया। तभी चिंगारी निकली और धमाका हुआ, इसके बाद आग फैल गई। जनरेटर अस्पताल के मुख्य दरवाजे के करीब ही रखा था और आने-जाने का एकमात्र रास्ता भी यही था।

दूसरे फ्लोर पर ज्यादा मौतें, यहीं ज्यादा लोग फंसे थे

बिल्डिंग के दूसरे फ्लोर पर ज्यादा लोगों की मौत हुई है, क्योंकि ज्यादातर लोग वहीं फंसे थे। आग लगने के बाद मरीजों को बचाने के दौरान कुछ लोग अंदर गए, जो बाहर नहीं निकल सके। लपटें इतनी तेज थीं कि कमरे में फंसे लोगों को बाहर निकालना बेहद मुश्किल हो गया। कुछ लोगों को खिड़की और दरवाजे तोड़कर बाहर निकाला गया।

जनरेटर में हुआ शॉर्ट सर्किट और आग फैलती चली गई
अस्पताल तीन मंजिला है, जिसमें बेड की संख्या 30 है। अस्पताल संचालकों के नाम डॉक्टर सुदेश पटेल, संतोष सोनी, निशांत गुप्ता और संजय पटेल हैं। इनकी तरफ से अभी तक हादसे पर कुछ भी नहीं कहा गया है। SP सिद्धार्थ बहुगुणा ने बताया कि दोपहर के वक्त लाइट चली गई थी। इसी दौरान जनरेटर चालू हुआ और इससे हुए शॉर्ट सर्किट की वजह से आग फैल गई।

जबलपुर अस्पताल अग्निकांड पर बड़ा खुलासा:बिना फायर NOC के चल रहा था हॉस्पिटल; नगर निगम और CMHO की बड़ी चूक सामने आई

देखिए हादसे के फोटोज...

न्यू लाइफ मल्टी स्पेशलिटी में जब एंट्रेंस पर आग लगी तो लोग बाहर निकल नहीं पाए। आग बहुत तेजी से फैल गई।
न्यू लाइफ मल्टी स्पेशलिटी में जब एंट्रेंस पर आग लगी तो लोग बाहर निकल नहीं पाए। आग बहुत तेजी से फैल गई।
हादसे की जानकारी मिलते ही दमकलकर्मी अस्पताल पहुंचे। एक घंटे के बाद आग पर काबू पाया जा सका।
हादसे की जानकारी मिलते ही दमकलकर्मी अस्पताल पहुंचे। एक घंटे के बाद आग पर काबू पाया जा सका।
एक घंटे के भीतर 3 मंजिला अस्पताल पूरी तरह जल गया।
एक घंटे के भीतर 3 मंजिला अस्पताल पूरी तरह जल गया।
अस्पताल में भर्ती मरीजों और हादसे में झुलसे लोगों को दूसरे अस्पतालों में शिफ्ट कर दिया गया है।
अस्पताल में भर्ती मरीजों और हादसे में झुलसे लोगों को दूसरे अस्पतालों में शिफ्ट कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें...

खबरें और भी हैं...