• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Thousands Of People Have Reached Mandi In Jabalpur, Coronium Infection Bomb Can Explode Due To Maladministration Of Mandi Administration

जानलेवा लापरवाही का VIDEO देखें:जबलपुर मंडी में हजारों की संख्या में पहुंचे लोग, कोरोना कर्फ्यू और सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां; संक्रमण का डर

जबलपुरएक वर्ष पहले
जबलपुर कृषि उपज मंडी में लापरवाह की भीड़।

कोरोना संक्रमण की दर 2.17 पर पहुंच गई है, लेकिन कृषि उपज मंडी में जिस तरह की लापरवाही भरे वीडियो सामने आए हैं, उससे एक बार फिर संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ गया है। जबलपुर कृषि उपजमंडी में उमड़ी भीड़ कोविड गाइडलाइन को हवा में उड़ा दिया। मंडी में थोक व्यापारियों के साथ हजारों की संख्या में फुटकर खरीदी करने भी लोग पहुंच गए। ऊपर से लापरवाही ये कि टोकने वाला मंडी प्रशासन मूक दर्शक बना रहा।

सब्जी मंडी में इस लापरवाही से संबंधी वीडियो वायरल होने के बाद मंडी, जिला प्रशासन और पुलिस को अब अपनी चूक छिपाने का कोई बहाना नहीं मिल पा रहा है। तर्क दिया जा रहा है कि मंडी समिति के पास खुद के इंस्पेक्टर व सब इंस्पेक्टर हैं। मंडी के अंदर वह सोशल डिस्टेंसिंग की गाइडलाइन तोड़ने वालों का चालान कर सकती है। मंडी में बेवजह प्रवेश करने वाले को रोक सकती है। पर सवाल ये उठता है कि मंडी में पहुंचने वाले लोग किसी चौराहे-तिराहे से तो गुजरे ही होंगे। वहां तैनात पुलिस कर्मियों ने क्यों नहीं रोका? जब एक तरफ लोग लंबे लॉकडाउन के बाद कुछ राहत की उम्मीद पाले बैठे हैं तो वहीं कुछ लोगों को लापरवाही करने की छूट पर जिला प्रशासन क्या कर रहा था। एडीएम, एसडीएम या तहसीलदार का भी काम है कि वह औचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं को देखें, लेकिन वे भी अपनी जिम्मेदारी नहीं निभा सके।

दो दिन की बंदी के बाद मंडी में भीड़ रोकने का नहीं था कोई इंतजाम
जिले में शनिवार और रविवार को पूर्ण लॉकडाउन रहता है। ऐसे में मंडी समिति सहित प्रशासन को भी पता था कि सोमवार को मंडी में भीड़ हो सकती है। मंडी की टाइमिंग रात दो से सुबह 6 बजे तक रहती है लेकिन सबसे ज्यादा भीड़ सुबह के छह बजे होती है, जो दुकान सिमटने तक 7 बजे तक बनी रहती है। इसी समय में एक साथ शहर के लोग मंडी में पहुंच गए।

वीडियो वायरल होने के बाद हरकत में आया प्रशासन
वीडियो वायरल होने के बाद मंगलवार को प्रशासन हरकत में आया। दोपहर में जबलपुर नगर निगम कमिश्नर संदीप जीआर, एएसपी सिटी आईपीएस रोहित काशवानी, एएसपी गोपाल खांडेल, एसडीएम अधारताल ऋषभ जैन, तहसीलदार राजेश सिंह, सीएसपी गढ़ा तुषार सिंह, मंडी सचिव राजेश सैय्याम व टीआई विजय नगर पहुंची। दो घंटे घूमकर टीम ने नई व्यवस्था बनाई। जिससे फिर इस तरह की भीड़ न हो पाए। हालांकि इस भीड़ को लेकर कोई कार्रवाई किसी स्तर पर नहीं की गई।

रात में कलेक्टर कर्मवीर शर्मा व एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा भी पहुंचे निरीक्षण करने।
रात में कलेक्टर कर्मवीर शर्मा व एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा भी पहुंचे निरीक्षण करने।

कलेक्टर-एसपी ने भी किया कृषि उपज मंडी का निरीक्षण
कृषि उपज मंडी में लापरवाही की भीड़ उमड़ने की खबर के बाद कलेक्टर कर्मवीर शर्मा और एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा भी शाम को निरीक्षण करने पहुंचे। कलेक्टर ने मंडी में कोविड गाइडलाइन का सख्ती से पालन कराने का निर्देश दिए। थोक आलू-प्याज, सब्जी व फल व्यापारियों से चर्चा की। सब्जी लेकर आने वाले किसानाें व फुटकर व्यापारियों के अलावा आने वालों के खिलाफ एफआईआर के निर्देश दिए। भीड़ रोकने में विफल मंडी सचिव को नोटिस जारी करते हुए स्पष्टीकरण भी मांगा है।

अब ये व्यवस्था बनाई गई

  • दो घंटे तक अधिकारियों ने मंडी का भ्रमण किया
  • मंडी में एक ही जगह की बजाए दुकानों को अलग-अलग लगाने का निर्णय लिया गया
  • बुधवार की रात 10 बजे से दो बजे तक मंडी खुलेगी।
  • मंडी के थोक व्यापारियों को पास जारी किए जाएंगे।
  • मंडी में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए जगह निर्धारित कर इसका आवंटन पर्ची निकाल कर किया जाएगा।
  • मंडी में ऑटो और ठेला वालों को ही थोक में खरीदी करने के लिए प्रवेश मिलेगा।

(जैसा की एएसपी गोपाल खांडेल ने नई व्यवस्था के बारे में बताया है)

खबरें और भी हैं...