पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

योजनाओं का लाभ:ट्रांसजेंडर्स को मिले स्थाई पहचान पत्र, दिया जाएगा शासकीय योजनाओं का लाभ

जबलपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हमेशा अपनी उस एक पहचान में कैद रहने वालों को जब दस्तावेजों के माध्यम से स्थाई पहचान-पत्र मिला तो उनके चेहरों को पढ़ने वाले यह समझ गए कि हमेशा तीसरा स्थान पाने वाले अब खुद को पहले और दूसरे स्थान वालों के साथ खड़ा पा रहे हैं।

बात हो रही है उन ट्रांसजेंडर्स की जिनके साथ सदियों से दोयम दर्जे का व्यवहार किया जाता रहा है लेकिन अब शासन के आदेश पर उन्हें पहचान दी जा रही है, जिससे वे भी समाज के अन्य वर्गों के साथ कदम से कदम मिलाकर चल सकेंगे। मध्य प्रदेश शासन द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार शहरी क्षेत्रों में निवास करने वाले ट्रांसजेंडर्स को पहचान पत्र एवं उभय लिंगी संबंधी प्रमाण-पत्र देने की प्रक्रिया नगर निगम प्रशासन द्वारा तेज कर दी गई है। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा एवं निगमायुक्त संदीप जीआर के निर्देश पर शहरी क्षेत्रों में निवासरत उभय लिंगी व्यक्तियों को चिन्हित कर उन्हें पहचान-पत्र एवं उभय लिंगी होने संबंधी प्रमाण-पत्र बनाकर वितरित किए जा रहे हैं।

इसके साथ ही अन्य शासकीय योजनाओं के लाभ भी हितग्राहियों को दिए जा रहे हैं। बुधवार को उपायुक्त अंजू सिंह ठाकुर ने बताया कि शहर में निवासरत समस्त ट्रांसजेंडर्स के पहचान-प्रमाण पत्र एवं उभय लिंगी सबंधी प्रमाण-पत्र नगर निगम द्वारा पंजीयन कर कलेक्टर द्वारा जारी किए गए हैं। नगर निगम सीमा में रहने वाले फिलहाल 5 ट्रांसजेंडर्स के प्रमाण-पत्र एवं पहचान प्रमाण-पत्र जारी किए गए हैं। बुधवार को जमतरा निवासी मंजू बाई एंव पिंकी बाई को पहचान प्रमाण-पत्र प्रदान किए गए। इस अवसर पर समग्र विस्तार अधिकारी सुश्री तरुणा निपसैया, सिटी मिशन मैनेजर श्रीमती मंजुला गोंटिया एवं ऋषि तिवारी, प्रदीप गोंटिया आदि उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...