पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Midnight Firing In Damohnaka Located In Jabalpur, Vicious Crook Waris Mishra And His Accomplice Gambhir, Dispute Over Gambling Amount

जबलपुर में गोपी गैंग ने 2 को मारी गोली:पुलिस से 100 मीटर की दूरी पर आधी रात फायरिंग, शातिर बदमाश वारिस मिश्रा और उसका साथी गंभीर; जुए की रकम को लेकर विवाद

जबलपुर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मोबाइल की रोशनी में कारतूस के खोखे तलाशती पुलिस। - Dainik Bhaskar
मोबाइल की रोशनी में कारतूस के खोखे तलाशती पुलिस।

जबलपुर में मंगलवार 6 जुलाई की आधी रात दमोहनाका स्थित निजी अस्ताल के सामने बदमाशों के दो गुटों में विवाद हो गया। एक गैंग ने दूसरे गैंग पर ताबड़तोड़ कई राउंड फायरिंग कर दी। घटना में शातिर बदमाश वारिस मिश्रा, उसका साथी सत्येंद्र ठाकुर घायल हो गए। दोनों को पास के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। बदमाशों ने जब ये दुस्साहस किया तो कंट्रोल रूम में एसपी सीएम के आगमन की तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। पूरे शहर की घेराबंदी कराई गई, लेकिन आराेपी हाथ नहीं आए। इस विवाद की जद में भी जुए की रकम का मामला सामने आया है।

गोहलपुर पुलिस के मुताबिक बधैया मोहल्ला गोहलपुर निवासी वारिस मिश्रा (30) साथी सत्येंद्र साहू के साथ दमोहनाका स्थित मेट्रो हॉस्पिटल गेट के सामने चाय पीने पहुंचे थे। रात पौने 12 बजे दोनों दो पहिया वाहन के पास खड़े होकर चाय पी रहे थे। तभी वहां बाइक से रेकी करता हुआ बजरंग नगर निवासी नितिन पटेल निकला और कुछ दूरी पर खड़ा हो गया। उसने मोबाइल पर किसी से बात की।

फायरिंग में घायल वारिस और सत्येंद्र का सड़क पर गिरा खून।
फायरिंग में घायल वारिस और सत्येंद्र का सड़क पर गिरा खून।

एक बाइक से गोपी और उसके गुर्गे पहुंचे
नितिन के मोबाइल पर बात करने के चंद समय बाद ही एक बाइक से आईटीआई माढ़ोताल निवासी गोपी नामदेव, शारदा विहार माढ़ोताल निवासी हनी यादव, शंकर नगर माढ़ोताल निवासी मनीष अहिरवार भी पहुंचे। तीनों ने अपनी बाइक वारिस मिश्रा के पास लगाई। गोपी और वारिस मिश्रा में पहले कुछ कहासुनी हुई और फिर गोपी और उसके गुर्गों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी।

वारिस के पैर व हाथ में तो सत्येंद्र के हाथ में गोली लगी है। फायर करने के बाद गोपी गैंग असलहा लहराते हुए मौके से फरार हो गया। दोनों घायलों को तुरंत मेट्रो अस्पताल में भर्ती कराया गया। वारिस मिश्रा के बयान के आधार पर गोहलपुर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ हत्या के प्रयास का प्रकरण दर्ज कर लिया है।
100 मीटर खड़ी पुलिस के बावजूद बदमाशों ने दिखाया दुस्साहस
मेट्रो अस्पताल से 100 मीटर दूरी पर ही गोहलपुर पुलिस खड़ी थी। बावजूद बदमाशों ने दुस्साहस दिखाया। फायरिंग की आवाज सुनकर पुलिस जब तक पहुंची, आरोपी असलहा लहराते हुए फरार हो गए। यहां बता दें कि मेट्रो अस्पताल के सामने की चाय की दुकान पूरी रात खुली रहती है। यहां देर रात असमाजिक तत्वों का जमावड़ा लगा रहता है। गोलीबारी की सूचना कंट्रोल रूम में पहुंची तो वहां सीएम के आगमन को लेकर एसपी बैठक ले रहे थे। उन्होंने सेट से ही पूरे शहर में बदमाशों की घेराबंदी के निर्देश दिए। पर आरोपी हाथ नहीं आए। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए क्राइम ब्रांच सहित कई थानों की पुलिस को लगाया गया है।

फायरिंग के सबूत तलाशती पुलिस।
फायरिंग के सबूत तलाशती पुलिस।

2018 में वारिस ने गोपी पर चाकू से किया था जानलेवा वार
पुलिस की प्रारंभिक छानबीन में सामने आया है कि घायल वारिस मिश्रा ने 2018 में दीनदयाल चौक पर गोपी नामदेव को चाकू मारा था। इस मामले में वारिस पर हत्या के प्रयास का प्रकरण दर्ज हुआ था। वारिस की गिरफ्तारी के बाद जिला बदर की कार्रवाई भी हुई थी। वारिस के खिलाफ गोहलपुर, हनुमानताल, कोतवाली व माढ़ोताल में एक दर्जन से अधिक मामले दर्ज हैं। इसी तरह गोपी नामदेव के खिलाफ भी माढ़ोताल मामले दर्ज हैं।
पहले थी रंजिश, फिर दोनों गैंग हाथ मिलाकर जुआ खेलाने लगे थे
गोपी व वारिस मिश्रा के बीच की रंजिश को कांग्रेस के एक कद्दावर नेता के भाई ने दूर कराई। फिर उसी के संरक्षण में दोनों एक साथ मिलकर माढ़ोताल क्षेत्र में जुआ खेलाने लगे। कठौंदा सहित कई जगह बदल-बदल कर जुआ खेलाते थे। उनके बीच इसी जुए के पैसों के बंटवारे को लेकर फिर विवाद गहरा गया। इसे लेकर कुछ दिनों से दोनों के बीच तनातनी चल रही थी। आखिर में गोपी ने उस पर जानलेवा फायर कर घायल कर दिया।

थाने के बगल में धांय-धांय:जबलपुर में जुए के पैसों के लेन-देन को लेकर गढ़ा थाने से 100 मीटर दूरी पर बदमाश ने एक युवक पर किए फायर, चार गोली पीठ में धंसी
जुए के पैसों को लेकर चार दिन में फायरिंग की दूसरी वारदात
जिले में जुए के पैसों को लेकर चार दिन में दूसरी वारदात सामने आई है। इससे पहले 3 जुलाई को गढ़ा थाने से चंद कदम दूर त्रिपुरी चौक पर घमापुर का शातिर जुआरी विक्की पाव ने जितेंद्र सिंह लोधी पर पिस्टल से फायर किया था। जितेंद्र की पीठ में चार गोली धंसी थी। विक्की व जितेंद्र भी भेड़ाघाट में मिलकर जुआ खेला रहे थे। पर बाद में जितेंद्र अलग हो गया। उसे विक्की से पांच लाख रुपए लेने थे, जो वह नहीं दे रहा था। इसी पैसे को लेकर जितेंद्र अपने चार साथियों के साथ विक्की पाव से बात करने पहुंचा था। गढ़ा पुलिस विक्की पाव को गिरफ्तार कर चुकी है।

खबरें और भी हैं...