पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • The Girl Who Was In Live in relation For Three Years Was Beaten Up By Her Lover, Left Nari Niketan And Took Refuge In The Temple

एक बच्चे के पिता से प्यार कर बैठी युवती:प्रेमी ने जबलपुर में तीन साल तक लिव इन में रखा, बेटी हुई तो तीन साल साथ रखकर भागा; महिला घर पहुंची तो मारकर भगाया

जबलपुर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बेटी को लेकर एसपी कार्यालय न्याय की उम्मीद में पहुंची युवती। - Dainik Bhaskar
बेटी को लेकर एसपी कार्यालय न्याय की उम्मीद में पहुंची युवती।
  • ;

जबलपुर में बिन ब्याही मां अपनी बेटी के साथ दर-दर भटक रही है। महिला का आरोप है कि एक युवक ने उसे ने शादी के सपने दिखाए और लिव-इन-रिलेशनशिप में रखा। वह 7 महीने की गर्भवती हुई तो प्रेमी भाग गया। बेटी के पैदा होने के बाद आया। 3 साल तक उसे किराए के कमरे में साथ रखा। फिर छोड़कर भाग गया। मकान मालिक ने पीड़िता और उसकी बेटी को प्रेमी के घर पहुंचा दिया तो दोनों को मारपीट कर भगा दिया गया। कुछ दिनों तक नारी निकेतन में रहने के बाद वह एक मंदिर में बेटी के साथ रहने को मजबूर है।

एसपी कार्यालय पहुंची पीड़िता ने बताया कि 2017 में उसकी मुलाकात नीलेश नाम के युवक से हुई। इसके बाद दोनों की बातचीत होने लगी। नीलेश उसे महाराजपुर अधारताल स्थित एक किराए के घर में ले गया। शादी का झांसा देकर शारीरिक शोषण करने लगा। दोनों पति-पत्नी की तरह लिव इन में रहने लगे।

गर्भवती हालत में छोड़कर भाग गया आरोपी
इस बीच वह गर्भवती हो गई। उसे सात माह का गर्भ था, तभी नीलेश छोड़कर चला गया। उसने एक बेटी को जन्म दिया। बेटी के पैदा होने के 5 महीने बाद वह आया। तब उसने खुलासा किया कि वह पहले से शादीशुदा है और एक बच्चा भी है। युवती को भरोसा दिया कि इसके बावजूद वह उसे भी पत्नी का दर्जा देगा। ऐसा बोलकर वह उसके साथ तीन साल तक लिव-इन-रिलेशन में रहा। बीच में कई बार शादी करने के लिए कहने पर वह कोई न कोई बहाना बना कर टाल देता।

घर पहुंची पीड़िता और उसकी बेटी को मारपीट कर भगाया
कुछ महीने पहले ही वह फिर से उसे और बेटी को छोड़कर भाग गया। तब से वह किराए के मकान में रह रही थी। किराया न मिलने से मकान मालिक ने उसे निकाल दिया और नीलेश के घर गोसलपुर पहुंचा दिया। वहां नीलेश उससे मारपीट करने लगा। उसकी पत्नी, मां चमेली और तीनों भाई ने मारपीट कर घर से निकाल दिया। नीलेश कहता है कि अब उससे कोई रिश्ता नहीं रखना। बेटी काे भी अपनाने से इनकार करता है।

15 दिनों से पीड़िता बेटी को लेकर मंदिर में रहने को मजबूर
15 दिनों से पीड़िता बेटी काे लेकर बुढ़ागर के मंदिर में रह रही है। वहां के लोग खाना दे देते हैं। गोसलपुर थाने गई तो मदद की बजाय वह उसके चरित्र पर ही लांछन लगाते रहे। आरोपियों ने उसे जबरन नारी निकेतन में रखवाया था, लेकिन वहां बेटी को लेकर वह नहीं रह सकती है। वहां दिमागी रूप से कमजोर लोगों को भी रखा जाता है। पीड़िता ने मामले में धोखा देने वाले नीलेश के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। इस मामले में टीआई गोसलपुर ने सफाई पेश करते हुए कहा कि पीड़िता की शिकायत पर आरोपी को बुलाया गया था, पर पीड़िता ही कार्रवाई कराने से पीछे हट गई।

खबरें और भी हैं...