• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Former BJP Councilor's Nephew Said In The Video That He Was Harassing For Two Years, Was Upset Due To Assault

जबलपुर में सुसाइड से पहले का VIDEO:बोला- सारे सबूत मिट जाएं तो भी मेरे मोबाइल पर हैं, बेटी को भी भेजा है

जबलपुर2 महीने पहले
सुसाइड से पहले सौरव साहू ने वीडियो बनाया और फिर फंदे से झूल गया।

जबलपुर में मारपीट के बाद सुसाइड करने वाले दवा व्यापारी सौरभ साहू का वीडियो सामने आया है। यह सुसाइड से पहले का बनाया गया वीडियो है। व्यापारी रुंधे गले से आत्महत्या की वजह बता रहा है कि मेरे सुसाइड नोट गुम हो जाने के बाद या सारे सबूत मिट जाने के बाद सबूत और वीडियो मेरे मोबाइल पर हैं। मैं यह सबूत बेटी की मोबाइल को भेज रहा हूं।

मस्ताना चौक रांझी निवासी सौरव (40) का सुसाइड पूर्व ये वीडियो छोटे भाई गौरव ने रांझी पुलिस को सौंपा है। इस वीडियो में सौरव बता रहा है कि चाचा ऋषि साहू, डेंटिस्ट तरनजीत गुजराल, काके गूमर, तेजिंदर सिंह लांबा, सनी लांबा, उदीप रील उसे दो सालों से प्रताड़ित कर रहे हैं। वे उस पर दुकान खाली कराने का दबाव बना रहे थे। 12 अक्टूबर की रात में सभी ने उसकी दुकान में घुसकर मारपीट की। उसकी बहुत बेइज्जती की गई। मैं तनाव बर्दाश्त नहीं कर पा रहा हूं।

विधायक अशोक रोहाणी के साथ काली पगड़ी में दिख रहा काके गुमर व लाल पगड़ी में उदीप रील।
विधायक अशोक रोहाणी के साथ काली पगड़ी में दिख रहा काके गुमर व लाल पगड़ी में उदीप रील।

सुसाइड नोट नष्ट कर दें तो बेटी के मोबाइल पर भेजा हूं

सौरव ने सुसाइड पूर्व इस वीडियो में बोल रहा है कि मेरा सुसाइड नोट गुम हो जाने के बाद या सारे सबूत मिट जाने के बाद सारे सबूत और वीडियो मेरे मोबाइल पर है। इसे मैं अपनी बेटी को भेज रहा हूं। ऋषि साहू और डॉ. तरनजीत गुजराल ने दुकान खाली कराने अपने गुंडे भेज कर मारपीट कराई। दो साल से मुझे बहुत प्रताड़ित किया मानसिक व शारीरिक रूप से। सामने दुकान खुलवा कर और कई तरह से दबाव बनाया। जब मैं नहीं झुका तो इन्होंने मारपीट का रास्ता अख्तियार किया। जिससे प्रताड़ित होकर मैं सुसाइड कर रहा हूं। मेरी बेटी के मोबाइल से सबूत ले सकते हैं। डॉ. तेजिंदर गुजराल का लाइसेंस निरस्त होना चाहिए। और सभी को जेल होना चाहिए।

नीली लाइन के नीचे खड़ा सनी लाम्बा है, जो विधायक अशोक रोहाणी के साथ दिख रहा है।
नीली लाइन के नीचे खड़ा सनी लाम्बा है, जो विधायक अशोक रोहाणी के साथ दिख रहा है।

आरोप- विधायक अशोक रोहाणी के खास हैं आरोपी

सौरव के भाई गौरव साहू का आरोप है कि सभी आरोपी स्थानीय बीजेपी विधायक अशोक रोहाणी के करीबी हैं। इस कारण पुलिस भी कार्रवाई करने से हिचक रही है। सनी लाम्बा, उदीप रील व काके गुमर विधायक के खास हैं। ऐसे में पुलिस उन पर सीधे हाथ डालने से बच रही है। सौरव शादीशुदा था। उसकी 12 वर्षीय बेटी परी साहू और पत्नी गायत्री का रो-रो कर बुरा हाल है।

BJP के पूर्व पार्षद के भतीजे ने किया सुसाइड:जबलपुर में मेडिकल संचालक फंदे पर झूला; सुसाइड नोट में लिखा- डेंटल डॉक्टर समेत 7 लोग करते थे परेशान

मारपीट का फुटेज भी पुलिस काे मिला

टीआई रांझी विजय सिंह परस्ते के मुताबिक दुकान ऋषि साहू की है। सौरव और तरनजीत गुजराल किराएदार हैं। ऋषि दुकान खाली कराने के लिए सौरव पर दबाव डाल रहे थे। तरनजीत गुजराल उस दुकान में कुछ खोलना चाहता था। इसी को लेकर विवाद की बात सामने आई है। दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में मारपीट का दृश्य कैद है। उसकी डीवीआर जब्त कर जांच में लिया गया है। वहीं मृतक सौरव साहू का मोबाइल, सुसाइड नोट की भी जांच की जा रही है। पीएम रिपोर्ट अभी नहीं मिल पाया है। इसके बाद आगे की कार्रवाई होगी।

सौरव साहू की जीवित अवस्था की फोटो।
सौरव साहू की जीवित अवस्था की फोटो।

यह थी घटना

रांझी टीआई विजय सिंह परस्ते के मुताबिक रांझी में मस्ताना चौक निवासी एवं बीजेपी की पूर्व पार्षद रह चुकी सदारानी साहू का भतीजा सौरव साहू (40) ने 12 अक्टूबर की रात में पंखे में रस्सी का फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया था। उसके पास से सुसाइड नोट जब्त हुआ है। इसमें चाचा ऋषि साहू, डॉक्टर तेजिंदर सिंह गुजराल सहित अन्य द्वारा प्रताड़ित और मारपीट किए जाने का जिक्र किया गया है। इस संबंध में एक वीडियो और दुकान में लगा सीसीटीवी फुटेज भी मिला है।

खबरें और भी हैं...