पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • In Kohla Village Adopted By BJP MP, The Woman Committed Indecency With The Vaccination Team, Said That She Ate My Husband, Now What Lane Have You Come To?

टीके पर टिप्पणी, देखें VIDEO:जबलपुर के BJP सांसद के गोद लिए गांव में वैक्सीनेशन टीम से बदसलूकी; महिला बोली- मेरे पति को खा गए, अब क्याें आए हो...

जबलपुर2 महीने पहले
कोहला गांव में पहुंची टीम के साथ अभद्रता करती महिलाएं।

वैक्सीन जिंदगी सुरक्षित करती है, लेकिन ग्रामीणों में इसे लेकर भ्रम की मोटी परत चढ़ चुकी है। बात शहपुरा तहसील के कोहला गांव की है। ये गांव PM मोदी की अपील पर सांसद राकेश सिंह ने गोद लिया है। बुधवार को वैक्सीनेशन टीम गांव में पहुंची तो कुछ महिलाएं भड़क गईं। वैक्सीनेशन से मना कर दिया। इस परिवार के एक पुरुष सदस्य की पिछले दिनों मौत हो गई थी। परिवार के दिमाग में बैठ गया है कि ऐसा वैक्सीनेशन के चलते हुआ।

ग्रामीण क्षेत्रों में वैक्सीन लगवाने को लेकर जागरूकता की कमी है। गांववालों को जागरूक करने गांव-गांव मोटिवेशन टीम भेजी जा रही है। इसी क्रम में बुधवार को रैपिड रिस्पॉन्स टीम के नोडल अधिकारी डॉक्टर अमित जैन की अगुवाई में टीम कोहला गांव पहुंची थी। टीम एक परिवार में पहुंची। इस परिवार में एक पुरुष सदस्य ने पिछले दिनों वैक्सीन लगवाई थी। कुछ दिनों बाद उनकी किसी बीमारी से मौत हो गई। महिला ने कहा कि पति को खा गए, अब क्या लेने आए हो।

ग्रामीणों को वैक्सीन के डर व भ्रम से निकालने की कोशिश करती टीम।
ग्रामीणों को वैक्सीन के डर व भ्रम से निकालने की कोशिश करती टीम।

अब परिवार वालों को वैक्सीन को लेकर ही भ्रम हो गया है। परिवार में महिलाएं ही मौजूद थीं। टीम ने परिवार के लाेगों के नाम पूछे तो वे भड़क गईं। एक महिला बोली, 'इज्जत से चले जाओ, नहीं तो गांव से निकलना मुश्किल हो जाएगा।' काफी देर तक अभद्रता करती रही। डॉक्टर जैन के समझाने का भी कोई असर नहीं हुआ।

अभद्रता का वीडियो आया सामने

टीम और ग्रामीण महिला के बीच अभद्रता का वीडियो गुरुवार को सामने आया। इस वीडियो में डॉ. अमित जैन सांसद के गोद लिए कोहला में एक महिला से नाम पूछते हुए दिख रहे हैं। वह महिला भड़कते हुए जवाब दे रही है। डॉक्टर को खरी खोटी सुना रही है। डॉ. अमित जैन महिलाओं को वैक्सीन के लाभ बताने की कोशिश करते दिख रहे हैं, लेकिन महिलाएं सुनने को तैयार नहीं थी। काफी प्रयास के बाद भी जब महिलाएं नहीं मानी तो टीम को लौटना पड़ा। डॉ. अमित जैन के मुताबिक इस गांव में 33 लोगों को ही वैक्सीन की दूसरी डोज लग पाई है।

वैक्सीन लगवा चुकी महिलाओं की मदद से जागरूक कर रहे ग्रामीणों को।
वैक्सीन लगवा चुकी महिलाओं की मदद से जागरूक कर रहे ग्रामीणों को।

कोहला गांव में 35% वैक्सीनेशन

शहपुरा ब्लॉक के कोहला गांव में अभी तक 35% वैक्सीनेशन हो पाया है। गांव की आबादी लगभग 1100 है। बात पूरे ब्लाॅक की करें, तो यहां की कुल जनसंख्या लगभग 2 लाख 40 हजार है। इसमें दो लाख के लगभग आबादी 18 साल से ऊपर की है लेकिन वैक्सीन अभी तक 37 हजार 429 लोगों को ही लग पाई है। इस ब्लॉक में कोरोना के दूसरी लहर में 403 संक्रमित सामने आए थे।

ग्रामीणों का भ्रम तोड़ना जरूरी

ग्रामीणों को भ्रम से निकालना जरूरी है। तभी हम कोरोना को हरा पाएंगे। एक-दो केस ऐसे आने से हमारा मनोबल नहीं गिरने वाला। हम लगातार ग्रामीणों को जागरूक करने का अभियान चला रहे हैं।

डॉ. अमित जैन, नोडल अधिकारी, रैपिड रिस्पॉन्स टीम