पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • 32 Lakh Rupees Were Cheated On The Pretext Of Making His Own Cousin Brother A Partner In Sand Business, Was Absconding For Three Years, 6 Thousand Rupees Was Declared Reward

ठगी में वांटेड BJP जनपद सदस्य गिरफ्तार:अपने ही ममेरे भाई को रेत कारोबार में पार्टनर बनाने का झांसा देकर ठग लिए थे 32 लाख रुपए, तीन साल से था फरार, 6 हजार रुपए घोषित था इनाम

जबलपुर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
तीन साल तक पुलिस के रिकॉर्ड में फरार धूमा से बीजेपी  जनपद सदस्य आरोपी राहुल शिवहरे। - Dainik Bhaskar
तीन साल तक पुलिस के रिकॉर्ड में फरार धूमा से बीजेपी जनपद सदस्य आरोपी राहुल शिवहरे।

ठगी में वांटेड बीजेपी जनपद सदस्य तीन साल बाद गिरफ्तार हुआ। आरोपी पर अपने ही ममेरे भाई से ठगी का आरोप था। उसने रेत कारोबार में पार्टनर बनाने का झांसा देकर 32 लाख रुपए ठग लिए थे। आरोपी तीन साल से फरार चल रहा था। उसकी गिरफ्तारी पर 6 हजार रुपए का इनाम घोषित था। बुधवार रात को आरोपी नाटकीय अंदाज में खुद ही थाने पहुंचा, तब पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया।

सिवनी के धूमा निवासी राहुल शिवहरे के खिलाफ आरोप है कि उसने जबलपुर के केंट क्षेत्र निवासी ममेरे भाई पिंटू चौकसे से 2018 में 32 लाख रुपए ठग लिए। आरोपी ने पिंटू को रेत कारोबारी में पार्टनर बनाने का झांसा दिया था। आरोपी राहुल ने केवलारी स्थित खदान में 45% का पार्टनर बनाने का झांसा दिया था। जबकि उसे 37% का ही हिस्सा दिया। कम हिस्से को लेकर उनके बीच विवाद हो गया। पिंटू ने अपना पैसा मांगा तो आरोपी मुकर गया। इस मामले में पिंटू चौकसे ने केंट थाने में आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज कराया।

पूर्व भाजयुमो अध्यक्ष अभिलाष पांडे के साथ आरोपी राहुल शिवहरे।
पूर्व भाजयुमो अध्यक्ष अभिलाष पांडे के साथ आरोपी राहुल शिवहरे।

तीन साल से था फरार, गिरफ्तारी पर 6 हजार रुपए का था इनाम

आरोपी राहुल शिवहरे पुलिस के रिकॉर्ड में तीन साल से फरार चल रहा था। उसके राजनीतिक रसूख के चलते कभी पुलिस गिरफ्तार ही नहीं करने गई। आरोपी की गिरफ्तारी पर एसपी ने 6 हजार रुपए का इनाम भी घोषित कर दिया। फिर भी उसकी गिरफ्तारी का कोई प्रयास नहीं किया गया। आरोपी सिवनी जिले के धूमा क्षेत्र से BJP का जनपद पंचायत सदस्य है। पुलिस कागजों में उसे तलाशने कई बार सिवनी भी गई, लेकिन दावा है कि वह कभी नहीं मिला। ये अलग बात है कि आरोपी पार्टी के हर छोटे-बड़े आयोजन में शामिल होता रहा।

पूर्व सांसद नीता पटेरिया के साथ आरोपी राहुल शिवहरे।
पूर्व सांसद नीता पटेरिया के साथ आरोपी राहुल शिवहरे।

नाटकीय अंदाज में थाने पहुंच कर किया सरेंडर

आरोपी राहुल शिवहरे ने बुधवार 7 जुलाई का दिन चुना। जब जिले में सीएम शिवराज सिंह चौहान, जिले के प्रभारी मंत्री गोपाल भार्गव और तकनीकी शिक्षा मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया मौजूद थीं। आरोपी लाव-लश्कर के साथ केंट थाने पहुंचा और खुद को सरेंडर कर दिया। इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार करना बताया। सरेंडर करने के पीछे भी उसकी मजबूरी थी। दरअसल आरोपी ने अग्रिम जमानत की कोशिश की थी। हाईकोर्ट से भी उसकी अर्जी खारिज हो गई। तब उसने सरेंडर किया।

बीजेपी के नेताओं के साथ आरोपी राहुल शिवहरे।
बीजेपी के नेताओं के साथ आरोपी राहुल शिवहरे।

कई लोगों से ठगी कर चुका आरोपी, बड़े नेताओं का करीबी

राहुल शिवहरे के खिलाफ केंट के अलावा गोरखपुर में भी ठगी का प्रकरण दर्ज है। उसके खिलाफ सिवनी में भी इसी तरह की कई शिकायतें हैं। पर आरोपी का बीजेपी के बड़े नेताओं का खास होने का हमेशा फायदा मिलता रहा है। आरोपी ने अपने सोशल पेज पर सिवनी की पूर्व सांसद नीता पटेरिया, भाजयुमो के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अभिलाष पांडे के साथ का फोटो अपलोड है। आरोपी के सरेंडर करने के बाद और पीड़ित सामने आ सकते हैं।

खबरें और भी हैं...