संस्कारधानी से गुजरेगी स्वदेश दर्शन पर्यटक ट्रेन:कोर्णाक, गंगासागर और कामाख्या मंदिर के कर सकेंगे दर्शन; 16,950 रूपए में 10 दिन की यात्रा

जबलपुर15 दिन पहले

प्रदेश के तीर्थयात्री अब ट्रेन के सूर्य मंदिर सहित गंगासागर और कामाख्या देवी मंदिर का दर्शन कर सकेंगे। यह ट्रेन जबलपुर से होकर गुजरेगी, लिहाजा प्रदेश सहित संस्कारधानी के आस-पास के जिले से जाने वाले तीर्थयात्रियों के लिए यह एक सौगात है।

तीर्थयात्रियों और पर्यटकों के लिए इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन लिमिटेड (आईआरसीटीसी) द्वारा स्वदेश दर्शन विशेष पर्यटन ट्रेन का संचालन किया जा रहा है। यह ट्रेन इंदौर स्टेशन से 10 नवंबर को रवाना होगी। उसके बाद रानी कमलापति स्टेशन होते हुए जबलपुर आएगी। यहां से उड़ीसा के पुरी, गंगासागर के साथ कामाख्या यात्रा के लिए रवाना होगी।

ट्रेन में रेलयात्रियों को 9 रातें और 10 दिनों की यात्रा कराई जाएगी। इस दौरान आईआरसीटीसी द्वारा यात्रियों को चाय, नाश्ता, दोपहर और रात का भोजन सहित नॉन एसी स्टैण्डर्ड होटल में रात्रि विश्राम और स्नान की सुविधा दी जाएगी। ट्रेन से उतरने के बाद तीर्थस्थलों तक पहुंचने के लिए आईआरसीटीसी टूरिस्ट बसों की सुविधा भी उपलब्ध कराएगी। साथ ही टिकिट शुल्क में ही यात्रियों को चार लाख रुपये का दुर्घटना बीमा भी शामिल रहेगा।

इस यात्रा में श्रद्धालुओं की हर सुविधाओं का ध्यान रखा जायेगा। टिकट की बुकिंग आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर भी की जा सकती है। सफर का खर्च प्रति व्यक्ति 16 हजार 950 रुपए तय किया गया हैं।