सांसद डामोर की पत्नी को ग्रामीणों ने दिया कड़ा जवाब...:पूछा- सांसदजी गांव आए या नहीं आए; जनता बोली, नहीं आए... नहीं आए

झाबुआ3 महीने पहले

झाबुआ-रतलाम सांसद गुमान सिंह डामोर की अपने ही क्षेत्र में किरकिरी हो गई। वे चुनाव प्रचार के लिए पालेड़ी गांव पहुंचे तो यहां एक ग्रामीण ने उनसे पूछ लिया-अब आपको गांव की याद आई। सांसद की पत्नी सूरज डामोर ने माइक छीनकर उनसे ही सवाल कर दिया कि 'आपने ऐसे कितने गांव देखे जहां सांसद ना गए हों। झाबुआ, अलीराजपुर, रतलाम में कितने गांव हैं, हर गांव में सांसद घर-घर नहीं जा सकते। पालेड़ी गांव तो आए हैं, आए कि नहीं आए?' इस पर ग्रामीणों ने एक सुर में कहा, नहीं आए। इस पर सूरज डामोर ने माइक वापस कर दिया।

अपने गांव के लोगों का विरोध झेलना पड़ा

पालेड़ी गांव सांसद गुमान सिंह डामोर के गृह ग्राम उमरकोट से लगा हुआ है, इसी क्षेत्र से सांसद के भाई गजराज सिंह जनपद पंचायत रामा से वार्ड सदस्य का चुनाव लड़ रहे हैं। उन्हीं के प्रचार के लिए सांसद अपनी पत्नी के साथ पालेड़ी गांव पहुंचे थे। सभा शुरू होने से पहले ही सांसद को लोग विरोध का सामना करना पड़ गया। गांव के लोगों ने कहा कि 1 महीने में नहीं तो कम से कम 6 महीने में ही आ जाया करें। इस सांसद ने सफाई देते हुए कहा कि वे गांव के पटेल के बच्चों की शादी में आए थे, मन्नत उतारने भी आए थे। दूसरी योजनाओं के सिलसिले में ही पहुंचे थे, लेकिन गांव वालों ने नकार दिया।