पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • Anjad
  • Manjula Patidar Will Be The President, Then Took Charge, The Petition For The Claim For The Post Of President Was Rejected, Ward 3 Councilor And NP Vice president Had Protested

हाईकोर्ट का निर्णय:मंजुला पाटीदार ही होंगी अध्यक्ष, फिर ग्रहण किया पदभार, अध्यक्ष पद की दावेदारी को लेकर लगाई याचिका खारिज, वार्ड-3 पार्षद व नप उपाध्यक्ष ने जताया था विरोध

अंजड़4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नगर परिषद में मंजूला पाटीदार ने दूसरी बार पदभार ग्रहण किया। - Dainik Bhaskar
नगर परिषद में मंजूला पाटीदार ने दूसरी बार पदभार ग्रहण किया।

अंजड़ नगर परिषद में अध्यक्ष संतोष पाटनी के निधन के बाद राज्य शासन ने पार्षद मंजुला पाटीदार को अध्यक्ष पद पर नियुक्त किया था। इसका विरोध परिषद की महिला पार्षद व उपाध्यक्ष ने जताया और हाईकोर्ट इंदौर खंडपीठ में याचिका दायर की और शासन द्वारा की गई नियुक्ति को गलत बताया था। याचिका लगाने के बाद स्टे मिला था। सोमवार शाम को हाईकोर्ट ने राज्य शासन की नियुक्ति काे सही मानकर दायर याचिका को खारिज कर दिया है। पाटीदार ने मंगलवार को फिर से अध्यक्ष का पदभार ग्रहण किया।

जानकारी के अनुसार नगर परिषद अध्यक्ष संतोष पाटनी का 27 अप्रैल को निधन होने से अध्यक्ष का पद खाली हो गया था। 27 जून को राज्य शासन ने वार्ड-4 की पार्षद मंजुला पाटीदार को राज्य शासन के निर्देश पर नगरीय विकास एवं आवास विभाग के उपसचिव ने नगर पालिका अधिनियम की धारा 37 (2) के तहत अध्यक्ष पद पर नियुक्त किया था। इसके बाद 13 जुलाई को नप की वार्ड-3 की पार्षद पुष्पा परमार व उपाध्यक्ष रणछोड़ जिराती ने सीट पर सामान्य की जगह पिछड़ा वर्ग की महिला की नियुक्ति गलत बताकर हाईकोर्ट इंदौर खंडपीठ में याचिका दायर की थी और स्टे मिला था। इसकी सुनवाई 1 माह बाद होने वाली थी जो दो माह के लिए टल गई थी।

सोमवार को हाईकोर्ट ने शासन द्वारा मंजुला पाटीदार की शासन द्वारा की गई नियुक्ति को सही मानते हुए पार्षद परमार व उपाध्यक्ष जिराती की याचिका को निरस्त कर दिया है। कोर्ट ने कहा अध्यक्ष पर किसी भी वर्ग की महिला को अध्यक्ष पद पर नियुक्त किया जा सकता है। मंगलवार दो महीने बाद मंजुला पाटीदार ने फिर से अध्यक्ष पद का पदभार ग्रहण किया।

कोर्ट ने सुनाया फैसला

अध्यक्ष पद की दावेदारी को लेकर दो पार्षदों ने हाईकोर्ट में याचिका लगाई थी। जो खारिज हो गई है। अध्यक्ष पद पर किसी वर्ग की महिला को अध्यक्ष बनाया जा सकता है। शासन द्वारा की नियुक्ति सही है। -पुष्यमित्र भार्गव, शासकीय अधिवक्ता हाईकोर्ट इंदौर।

फैसले का करते हैं सम्मान

कोर्ट ने जो फैसला सुनाया है, उसका हम सम्मान करते हैं। जो हमें स्वीकार है। -रणछोड़ जिराती, उपाध्यक्ष नप।

खबरें और भी हैं...