पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अव्यवस्था:स्कूल के कई स्थानों से टूटे हैं टीनशेड, गंदगी के बीच पढ़ाई करने को मजबूर हुए विद्यार्थी

बड़वाह9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शासकीय उत्कृष्ट उमावि का भवन जर्जर, शिकायत के बाद भी नहीं हो रहा निराकरण

नगर के बालक उत्कृष्ट विद्यालय पूरी तरह से खंडहर होकर गया है। यहां गंदगी के बीच विद्यार्थियों को पढ़ना पड़ रहा है। हल्की बारिश में भी यहां कमरों में पानी भर जाता है। हमेशा टीनशेड कभी गिरने का डर बच्चों को सताता रहता है। इस समस्या को लेकर विद्यार्थी सहित शिक्षक कई बार शिकायत कर चुके हैंं लेकिन इसके बाद भी कोई इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। शहर के कई प्रतिभाओं को पढ़ा चुके शासकीय उत्कृष्ट उमावि लोगों में दारु गोदाम स्कूल के नाम से प्रसिद्ध है। जैसी उसकी प्रसिद्धि हुई है वैसे ही उसकी वस्तुस्थिति भी देखी जा सकती है।

स्कूल में कई जगहों पर दीवारें जर्जर हो चुकी है। कई जगहों पर टीनशेड टूट चुके हैं। बारिश के दिनों में तो विद्यार्थियों को विषम परिस्थितियों का सामना कर अध्ययन करना पड़ता है। स्कूल के कई कमरों में पानी घुस जाता है। शहर के साथ ही आसपास के ग्रामीण अंचलों से आकर विद्यार्थियों को अपना अध्ययन करना पड़ रहा है। स्कूल का भवन जर्जर होने के साथ यहां दिन-रात पक्षी भी गंदगी करके जाते हैं। उसी गंदगी को खुद विद्यार्थियों को साफ करना पड़ता है। कई कमरों में गंदगी ज्यादा होने के कारण बदबू के बाद भी विद्यार्थियों को पढ़ना पड़ रहा है लेकिन शासन-प्रशासन ने इस ओर अब तक ध्यान नहीं दिया।

डिसमेंटल के लिए बोल चुके हैं कमिश्नर
जानकारी के अनुसार कुछ समय पूर्व कमिश्नर ने स्कूल का दौरा किया था। इसमें स्कूल की जर्जर व्यवस्था को देखकर इस भवन को डिस्मेंटल करने के लिए कहा था लेकिन उनके मौखिक आदेश के बाद इस ओर कभी ध्यान नहीं दिया गया।

सांप निकलकर आ जाते हैं पैरों में
शिक्षकों ने बताया स्कूल में सभी समस्याओं के साथ ही आए दिन सांप भी निकलते रहते हैं। अभी तक किसी को डसा नहीं है लेकिन इसके कारण किसी दिन भी बड़ी परेशानी खड़ी हो सकती है। अन्य जहरीले जीव-जंतुओं का डर भी बना रहता है। बड़ा हादसा हो सकता है।

नए भवन में भी टपकता है पानी
उत्कृष्ट विद्यालय में कक्षा 9वीं से 12वीं तक करीब 625 विद्यार्थी अध्यनरत हैं। पुराने भवन में जगह की कमी व अव्यवस्था को देखते हुए विद्यार्थियों के लिए 2010 में 73 लाख 14 लाख हजार रुपए की लागत से नए भवन का निर्माण कराया था लेकिन बारिश के दिनों में नए भवन में भी पानी टपकने लगा है।

स्कूल प्रबंधन ने समय-समय पर व्यवस्था बढ़ाने के लिए वरिष्ठ कार्यालय को डिमांड भेजी जाती रही है लेकिन अब तक कोई परिवर्तन नहीं हुआ है। वरिष्ठों को अवगत कराया जाएगा।-सुरेशचंद्र जोशी, प्राचार्य शासकीय उत्कृष्ट उमावि बड़वाह।

स्कूल का हमारे द्वारा निरीक्षण किया जाएगा। इसके बाद उत्कृष्ट विद्यालय को लेकर जो भी बेहतर हो सकता है। उसकी व्यवस्था की जाएगी।-अनुकूल जैन, एसडीएम बड़वाह।

खबरें और भी हैं...