पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मंत्रालय:सीएम ने माना वाटर लेवल परिवर्तन भूकंप का संभावित कारण, 4.2 तीव्रता तक आ चुका

बड़वानी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एक दिन पहले भोपाल स्थित मंत्रालय में सीएम शिवराजसिंह चौहान ने राज्य आपदा प्रबंधन की बैठक ली थी। इसमें खुलासा हुआ है कि वाटर लेवल परिवर्तन ही इस बार भूकंप आने का संभावित कारण है। बड़वानी में रिक्टर स्केल पर 4.2 तीव्रता से भूकंप आ चुका है। इसी माह दर्ज हुआ है। ये खतरनाक श्रेणी में नहीं आता। सीएम ने समीक्षा बैठक के दौरान बताया कि प्रदेश भूकंप के जोन 2 व 3 में आता है। जो खतरनाक श्रेणी नहीं है। 4 से 5 जोन खतरनाक श्रेणी में आते है। जहां पर भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 4.5 से अधिक रहती है। सीएम का कहना है की लोग घबराए नहीं धैर्य बनाकर रखे। सुरक्षा इंतजामों को लेकर प्रक्रिया चल रही है। उन्होंने बताया अक्टूबर और नवंबर में प्रदेश के सिवनी, बालाघाट, बड़वानी, अलीराजपुर, छिंदवाड़ा, मंडला जिलों व इनके आसपास भूकंप से झटके महसूस किए गए है।

जानें किस जिले में कितनी तीव्रता से आया भूकंप
बैठक में दी गई जानकारी में बताया गया है कि 22 नवंबर कोको सिवनी शहर में रिक्टर स्केल पर 4.3 तीव्रता का, कटंगी बालाघाट में2.4 तीव्रता का, कुरई सिवनी में 1.8 तीव्रता का, बरघाट केवलारी में2.7 तीव्रता का भूकंप आया। 7 नवंबर को बड़वानी व अलीराजपुर के समीप 4.2 तीव्रता का, सिवनी के पास ही 27अक्टूबर को 3.3 तीव्रता का भूकंप आया। 31 अक्टूबर को छिंदवाड़ा में 3.2 तीव्रता का व सिवनी के पास 3.5 तीव्रता का भूकंप आया।

इन गांवों में आ चुका भूकंप : जिले में पिछले एक साल में भामोरी, साकड़, बिलवा रोड, टांडा, राजीव नगर, सजवाय, सिलावद सहित राजपुर के आसपास के गांवों में भूकंप के झटके महसूस किए जा चुके है।

बांधों और नहर से बढ़ा भू-जलस्तर : पीएचई के अनुसार पांच साल पहले अक्टूबर 2015 में जिले का औसत भू-जलस्तर 33.78 मीटर था। जो अक्टूबर 2020 में बढ़कर 21.96 मीटर गहराई पर आ गया है।

एक्सपर्ट व्यू
(डॉ. जगदीश कौचे, भूगोल विशेषज्ञ, पीजी कॉलेज बड़वानी)

भूकंप 3 कारणों से आता है। पहला जमीन के भीतर वाष्प का बढ़ जाना, दूसरा ऊपरी चट्‌टानों में दबाव बढ़ जाना और तीसरा दबाव बढ़ने के कारण चट्‌टानों का आपस में टकराना या यहां-वहां खिसकना मुख्य कारण है। जब धरती के ऊपर पानी जमा होता है तो उसके कारण धरती के भीतर चट्‌टानों पर दबाव पड़ता है और वह खिसकने लगती है। वाष्प का दबाव बढ़ने के कारण भी चट्टानें खिसकती है या आपस में टकराती है। इसी को भूकंप कहते हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser