पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • Barwani
  • Colleges Will Start With 50 Percent Capacity From Today, Class Rooms Will Be Sanitized, Only Those Students Will Get Admission In The College, Who Have Got The Vaccine.

उच्च शिक्षा विभाग के आदेश:आज से 50 फीसदी की क्षमता के साथ शुरू होंगे कॉलेज, क्लास रूम कराए सैनिटाइज, कॉलेज में उन्हीं विद्यार्थियों को प्रवेश मिलेगा, जिन्होंने लगवाई वैक्सीन

बड़वानी5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
क्लास रूम को सैनिटाइज करते हुए। - Dainik Bhaskar
क्लास रूम को सैनिटाइज करते हुए।

कोरोनाकाल की वजह से अब तक कॉलेजों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को ऑनलाइन पढ़ाई कराई जा रही थी लेकिन बुधवार को ऑफलाइन कक्षाएं शुरू होगी। इसके लिए तैयारियां की गई है। एसबीएन पीजी कॉलेज के सभी क्लास रूम सैनिटाइज कराने के साथ ही सोशल डिस्टेंस का पालन कराने के लिए टेबल-कुर्सियां दूर-दूर लगाई गई है। कॉलेज में उन्हीं विद्यार्थियों को प्रवेश मिलेगा। जिन्होंने कोरोना वैक्सीन लगवा लिया है।

एसबीएन पीजी कॉलेज प्रशासनिक अधिकारी डॉ. प्रमोद पंडित ने बताया उच्च शिक्षा विभाग ने कॉलेज खोलने के आदेश जारी किए हैं। इसके तहत ही बुधवार से कॉलेज खोले जाएंगे। मंगलवार को इसकी तैयारी की गई। उन्होंने बताया ऑनलाइन के साथ ऑफलाइन कक्षाओं का संचालन किया जाएगा। अभी केवल नए प्रवेशित (पीजी और यूजी के विद्यार्थी) विद्यार्थियों के लिए कॉलेज खोला जा रहा है। इसके बाद अक्टूबर तक अन्य विद्यार्थियों की भी ऑफलाइन कक्षाओं का संचालन शुरू किया जाएगा। पीजी कॉलेज में 28 से ज्यादा यूजी के विद्यार्थी है। वहीं 12 से ज्यादा पीजी के विद्यार्थी है। जिनकी कक्षाएं ऑफलाइन शुरू की जा रही है।

इन शर्तों के साथ मिलेगा प्रवेश

  • विद्यार्थी व उनके पालक का सहमति पत्र जरूरी
  • वैक्सीनेशन का कम से कम एक डोज जरूरी है।
  • बिना मास्क के क्लास रूम में नहीं मिलेगा प्रवेश।
  • क्लास रूम में एक बैंच पर अकेले ही बैठने होगा।

विद्यार्थी के क्लास रूम तक पहुंचने की ये व्यवस्था

प्राचार्य डॉ. एनएल गुप्ता ने बताया कॉलेज के मुख्य गेट पर ही विद्यार्थी की आईडी चेक की जाएगी। उसकी थर्मल स्क्रीनिंग के साथ ही हाथों को सैनिटाइज कराया जाएगा। क्लास रूम में प्रवेश करने के पहले उसका वैक्सीनेशन कराने का प्रमाणपत्र जांचा जाएगा। इसके बाद ही क्लास रुम में प्रवेश दिया जाएगा।

ऑनलाइन-ऑफलाइन के लिए अलग-अलग प्रोफेसर

कॉलेज शुरू होने के बाद से विद्यार्थियों को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह की कक्षाओं में पढ़ने का मौका मिलेगा। इसके लिए कॉलेज प्रबंधन ने अलग-अलग प्रोफेसरों को ऑनलाइन और ऑफलाइन कक्षाओं का संचालन करने की जिम्मेदारी सौंपी है।

जानिए... कॉलेज का ऐसे होगा संचालन

शिक्षण कार्य : स्टाफ की उपस्थित सौ फीसदी व विद्यार्थी 50 फीसदी आ सकेंगे। कक्षाओं का ऑनलाइन संचालन पहले की तरह जारी रहेगा। विद्यार्थियों की संख्या ज्यादा होने पर कोरोना की गाइड लाइन का पालन कर अलग-अलग समूह के बैच बनाए जाए।

पुस्तकालय : विद्यार्थियों के लिए पुस्तकालय की सुविधा मिलेगी। यहां केवल पंजीकृत विद्यार्थियों को प्रवेश मिलेगा। पुस्तकालय में प्रवेश के लिए थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। बैग को काउंटर पर जमा करना होगा। कक्षा में 50 फीसदी ही विद्यार्थी जा सकेंगे।

छात्रावास : पहले चरण में स्नातक अंतिम वर्ष, स्नातकोत्तर तृतीय सेमेस्टर के विद्यार्थियों के लिए छात्रावास खोले जाएंगे। डायनिंग हॉल में सोशल डिस्टेंस का पालन करना होगा। जरुरी वस्तुओं को छात्रावास में उपलब्ध कराया जाए। स्टाफ के अलावा अन्य को प्रवेश निषेध रहेगा।

मेस : छात्रावास में भोजन परोसने वाले स्टाफ को मास्क जरुरी। स्वच्छता का भी ध्यान रखा जाए। इसकी निगरानी वरिष्ठ अधिकारी करेंगे। भोजन में पौष्टिकता का भी ध्यान रखा जाए। मेस व्यवस्था लागू हो, ताकि विद्यार्थियों को बाहर से भोजन न मंगाना पड़े।

सुरक्षा: विद्यार्थियों का नियमित स्वास्थ्य परीक्षण किया जाना चाहिए। कंटेनमेंट जोन से संबंधित विद्यार्थी व स्टाफ का कॉलेज में प्रवेश निषेध रहेगा। कोरोना संक्रमित होने पर विद्यार्थी को क्वारंटाइन होने के लिए छात्रावास या अस्पताल में की जानी चाहिए।

तैयारी पूरी, सुरक्षा के खास इंतजाम

कॉलेज खोलने के आदेश आ चुके हैं और बुधवार से कॉलेज खोला जाएगा। यहां पर कोरोना गाइड लाइन का पालन किया जाएगा। इसकी मॉनीटरिंग करने के लिए अलग से टीम गठित की गई है। -डॉ. एनएल गुप्ता, पीजी कॉलेज, प्राचार्य, बड़वानी

खबरें और भी हैं...